प्रोड्यूसर शैलेन्द्र सिंह की एक और डिजिटल शॉर्ट फिल्म ‘ड्रिंक्स ड्रामा और धोखा’

1 min


प्रोड्यूसर शैलेन्द्र सिंह इन दिनों  यूट्यूब पर खासे सक्रिय  हैं। उन्होंने वहां अपना एक चैनल भी खोला  है। अभी तक शैलेन्द्र  अपने चैनल पर करीब छह डिजिटल शॉर्ट फिल्में रिलीज कर चुके है जिनमें करन्ट इशू के साथ स्ट्रांग मैसेजिज भी थे। उनकी नई शॉर्ट फिल्म का नाम है ड्रिंक्स ड्रामा और धोखा’। उसमें भी एक नया मैसेज रिलीज किया है। फिल्म में चेतावनी दी गई हैं आजकल यूथ डिस्को या पब में रात रात भर सक्रिय रहते हैं। उन्हें इस बात को लेकर सावधान रहना होगा कि कोई अजनबी उनके करीब आने की कोशिश तो नहीं कर रहा है या उनके साथ ड्रिंक शेयर करने की कोशिश तो नहीं कर रहा है। अगर ऐसा हो रहा है तो आप  न तो उसके साथ घुलने मिलने की कोशिश करें और न ही ड्रिंक शेयर करें क्योंकि वो आपके साथ मित्रता दिखाते हुये आपके ड्रिंक में बेहोशी की दवा मिला सकता है और बाद में आपके शरीर से आपके महत्वपूर्ण अंग  जैसे किडनी, लीवर निकाल सकता है। ‘ड्रिंक्स ड्रामा और धोखा’ शॉर्ट फिल्म यही चेतावनी देती है।

Vaishnavi dhanraj, Shailendra singh

शैलेन्द सिंह का कहना है कि उन्हें हमेशा यूथ से रिलेटिड या करन्ट इशू बेस सब्जेक्ट्स ही अच्छे लगते हैं और उन्होंने अपने चैनल पर अभी तक अपनी छह सात शॉर्ट फिल्मों के विषय यही रखे हैं।

शैलेन्द्र सिंह अभी तक बड़े बजट की करीब पिच्चहतर फिल्में बना चुके हैं।  उनका कहना है कि आज आप उन बड़ी फिल्मों का रेशों देख लीजीये जो नब्बे प्रतिशत लॉस का रेशो है, मैं पागल हूं कि जो आ बैल मुझे मार वाली स्थिति पैदा करूं। मेरे लिये फिल्म, मैसेज और मनोरजंन का माध्यम रहा है। वो आंनद मैं यहां ले रहा हूं। उदाहरण बतौर मेरी एक शॉर्ट फिल्म ‘सेक्सो हॉलिक’ जो आधे घंटे की थी जिसमें लीड रोल शमा सिकंदर ने प्ले किया था। जो चोदह मिलियन तक गई । लेकिन ‘टैक्स सेक्स’ उसमें सेक्स और कॉमेडी थी,तथा पलंग तौड़ पान जैसे डायलॉग्स थे। वो अट्ठारह मिलियन पार कर गई। सिर्फ मुंबई जैसे शहर में अड़तालिस प्रतिशत यूथ सेक्स से दूर हैं वो इसलिये क्योंकि वे फेसबुक,व्हाट्स अप और ट्वीटर पर लगे रहते हैं। वो फिल्म उन्हें सेक्स की तरफ मॉड़ने की कोशिश कर रही थी।

Shailendra Singh, Baktiyar Irani

शैलेन्द्र सिंह का कहना है कि अगर डिजिटल की बात की जाये तो ये मेरे लिये अभी तक ऑग्रेनिक है ।मुझे इसका कोई आइडिया नहीं था और न ही मुझे इसमें कोई इन्ट्रस्ट था। मैं तो सिर्फ मस्ती कर रहा था। मेरा मकसद सिर्फ इतना था कि इन फिल्मों के जरिये नये लोगों को चांस दूं। लेकिन इसके बाद मुझे जब इन फिल्मों के  भारी मात्रा में व्यूज मिलने शुरू हुये तो मैं चकित रह गया। मुझे यू ट्यूब से कॉल आई कि अभी तक आप एक लाख वियूज क्रास कर चुके है और अब तो आपकी यहां से कमाई भी शुरू हो चुकी है । हम आपको आठ दस हजार डॉलर का चैक भेज रहे हैं ।

शैलेन्द्र सिंह का कहना है कि मुझे फिल्मों में तीस साल हो चुके हैं, काफी कुछ कमा लिया, काफी कुछ अचीव कर लिया है इसलिये आगे मैं कुछ और नया करना चाहता हूं और इन फिल्मों में मुझे काफी कुछ नया करने को मिल रहा हैं वो भी बेहद कम बजट में। दूसरे अगर आप इन फिल्मों के आर्टिस्टों की बात करेगें तो कुछ फिल्मों में बेशक  जाने पहचाने चेहरे थे लेकिन जयादातर में नये लोगों को ही चांस दिया गया है। अब मौजूदा फिल्म की ही बात कर ले। फिल्म में अगर बख़्तावर जैसा कलाकार है तो वैष्णवी जैसी नई कलाकार भी है जिसने लीड रोल निभाया है। फिल्म देखने के बाद सभी उसके काम की खुलकर तारीफ कर रहे हैं।


Like it? Share with your friends!

Mayapuri

अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिये