‘मॉम’ रवीना नहीं श्रीदेवी 

1 min


नाम में क्या है? – ठीक है, पर बॉलीवुड में यह बहुत मायने रखता हैं! हाल ही में निर्देशक अशतर सैयद ने अपनी आगामी फिल्म मातृ फिल्म का नाम मातृ-द मदर रखने का फैसला लिया। चूँकि बोनी कपूर निर्मित ‘मॉम’ का निकट में प्रदर्शित होना। जैसा कि हम सभी जानते हैं, फिल्मों के नामों के लिए बॉलीवुड में हमेशा से आक्रामक रूप से लड़ाई होती हैं, लेकिन यहां पर मातृ के निर्देशक ने शीर्षक में शांतिपूर्ण परिवर्तन किया है। बेशक, शीर्षक के अलावा, दो फिल्मों के बीच बहुत कम समानता है. जब की ‘मातृ- द मदर’ ऐसी महिलाओं की कहानी को दिखाएगी, जो वॉयलेंस और रेप की शिकार हैं और उन्हें न्याय चाहिए। और श्रीदेवी एक चुनोतीपूर्ण मां के किरदार में दिखेगी जहाँ माँ बेटी के रिश्ते की अनबन की कहानी दिखेगी. दोनों फिल्मों की कहानी एक मां के इर्द-गिर्द घूमती है और ये बताएगी कि कैसे होता है एक मां का सफर अपनी बेटी के लिए।

अशतर सैयद का कहना हैं “हम अपनी फिल्म के लिए शीर्षक ‘द मदर’ का इस्तेमाल करने की योजना बना रहे थे, लेकिन यह शीर्षक पहले से ही लिया गया था और उपलब्ध नहीं था।  इसके अलावा, हमें पता था कि श्री बोनी कपूर भी ‘मॉम’ नामक एक फिल्म बना रहे थे। इसलिए हमने महसूस किया कि ‘मातृ-द मदर’ हमारी फिल्म के लिए सर्वश्रेष्ठ हैं। हम शीर्षक से खुश हैं”

आपको बता दें कि इससे पहले श्रीदेवी और रवीना फिल्म ‘लाडला’ (1994) में साथ नजर आयी थी। इस फिल्म में उनके अभिनय को बहुत सराहना भी मिली थी। रवीना टंडन की फिल्म ‘मातृ – द मदर’ का निर्देशन अशतर सैयद ने किया है। फ़िल्म 21 अप्रैल को रिलीज़ के लिए तैयार है।


Like it? Share with your friends!

Mayapuri

अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिये