जब फिल्म ‘भुज:प्राइड ऑफ इंडिया’ की शूटिंग के दौरान भारतीय सेना के जवानों से मिले संजय दत्त

1 min


अपनी उत्कृष्ट अभिनय प्रतिभा और सदाबहार व्यक्तित्व के चलते हमेषा लोगों के बीच अपनी उपस्थिति दर्ज कराते रहने वाले अभिनेता संजय दत्त इन दिनों अभिषेक दुधैया निर्देषित फिल्म “भुजः द प्राइड ऑफ इंडिया” को लेकर सूर्खियों में हैं,जिसमें उन्होने रणछोड़ दास पगी का अहम किरदार निभाया है। इस किरदार की ही वजह से फिल्म का ट्रेलर आते ही हलचल मच गयी। ट्रेलर से अहसास होता है कि अभिनेता संजय दत्त ने न केवल दर्शकों के बीच अपार देशभक्ति की भावना जगाई है, बल्कि प्रत्येक संवाद को एक भावनात्मक गहराई भी दी है!

1971 के भारत पाक युद्ध के दौरान रणछोड़दास पगी की अहमियत बहुत ज्यादा थी। उनकी वीरता के ही चलते उन्हे जो सम्मान मिला है, वह बिरलों को ही नसीब होता है। भारत पाक सीमा पर लिंबाड़ा गांव से आगे सेना की पोस्ट है,वहां पर सेना ने रणछोड़ दास का स्टेच्यू लगा रखा है। गुजरात से त्रिपुरा तक काफी लंबी सीमा है। जिसे सुरक्षित रखने की जिम्मेदारी निभाने वाले कई जर्नल,कई मेजर हो गए। रक्षामंत्री व प्रधानमंत्री हो गए।मगर इस पूरी सीमा मैं कहीं भी किसी का नाम या स्टेच्यू कुछ नही है। पूरी सीमा पर सिर्फ रणछोड़ दास का ही स्टैच्यू लगा है।

सूत्रों की माने तो फिल्म ‘भुज: द प्राइड आफ इंडिया’ में रणछोड़ दास के किरदार को निभाना आसान नही था। इस फिल्म की शूटिंग के दौरान अभिनेता संजय दत्त को युद्ध का पहला अनुभव था। फिल्म की  षूटिंग राजस्थान के सूरतगढ़ आर्मी रेंज में हो रही थी, उसी दौरान अभिनेता संजय दत्त ने सेना की एक बटालियन से मुलाकात की। सम्माननीय सेना के जवानों ने संजय दत्त के साथ अपने युद्ध के अनुभवों के बारे में बात करने के साथ ही लंबी बातचीत की। संजय दत्त के अनुसार उनके लिए यह एक प्रेरणादायक बातचीत थी।

फिल्म ‘भुजः द प्राइड ऑफ इंडिया’ का निर्माण भूषण कुमार, मंगत पाठक, गिन्नी खानूजा, वजीर सिंह और बनी संघवी द्वारा किया गया है। फिल्म का लेखन अभिषेक दुधैया, रमन कुमार, रितेश शाह और पूजा भावोरिया ने किया है,जबकि फिल्म के निर्देशक अभिषेक दुधैया हंै। यह फिल्म 13 अगस्त 2021 को हाॅट स्टार डिजनी पर स्ट्रीम होगी।

SHARE

Mayapuri