विवेक ओबेरॉय और सुनील शेट्टी अभिनीत वेब सिरीज़ ‘धारावी बैंक’ के सेट पर वेतन नहीं मिलने पर वर्कर्स ने रोका काम

1 min


मुंबई, फेडरेशन ऑफ वेस्टर्न इंडिया सिने एम्प्लॉइज (एफडब्ल्यूआईसीई) के महासचिव अशोक दुबे ने बुधवार को कहा कि लगभग एक महीने के बकाया भुगतान के बाद 300 दैनिक वेतन भोगी कर्मचारियों ने ओटीटी शो ‘धारावी बैंक’ का सेट बनाने का काम रोक दिया है। दुबे ने बताया कि फिल्मों से जुड़े कामगार यहां उपनगरीय गोरेगांव में फिल्म सिटी में विवेक ओबेरॉय और सुनील शेट्टी अभिनीत जी स्टूडियो समर्थित वेब सिरीज ‘धारावी बैंक’ के सेट का निर्माण कर रहे थे। मंगलवार दोपहर को काम रुक गया।

दुबे ने दावा किया कि प्रोडक्शन हाउस द्वारा 50 लाख रुपये से अधिक की बकाया मजदूरी का भुगतान किया जाना बाकी है। शो एमएक्स प्लेयर पर स्ट्रीम होगा। ‘कला निर्देशक और प्रोडक्शन हाउस, जी स्टूडियोज के बीच इस मुद्दे के कारण लगभग 300 कर्मचारी पीड़ित हैं। श्रमिकों का आरोप है कि उन्हे ढंग का खाना तक नहीं दिया जाता है। यही नहीं सेट तैयार करने वाले श्रमिकों को अब लगभग एक महीने से भुगतान नहीं किया गया है और आखिरकार कल उन्होने काम करना बंद कर दिया।

जब इस बारे में प्रोडक्शन हाउस से बात की, तो उनके प्रतिनिधि ने मुझे बताया कि उन्हें बिल (कला निर्देशक से) कल ही मिला है, इसलिए वे तुरंत श्रमिकों को पैसे ट्रांसफर नहीं कर पाएंगे। लंबित भुगतान का अनुमान 50 लाख रुपये से अधिक है, ऐसा भी अशोक दूबे ने कहा। उन्होंने कहा ये श्रमिक फिल्म स्टूडियो सेटिंग एंड अलाइड मजदूर यूनियन का हिस्सा हैं। दुबे के अनुसार, पहले श्रमिकों का भुगतान यूनियन को आता था, जो बाद में उन्हें स्थानांतरित कर दिया जाता था।

लेकिन ट्रेड यूनियन के दिशा-निदेर्शों के अनुसार, श्रमिकों को अब सीधे भुगतान करना पड़ता है, जो कभी-कभी समस्या का कारण बनता है। प्रोडक्शन हाऊस के पास श्रमिकों का विवरण, खाता संख्या नहीं है… मजदूर भी बदलते रहते हैं। यह एक बड़ा सेट है, इसलिए यह खुलकर सामने आया अन्यथा श्रमिकों को नियमित रूप से इन समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है। दुबे ने कहा कि जी स्टूडियोज ने आश्वासन दिया है कि भुगतान किया जाएगा, हालांकि कुछ देरी के साथ। उधर जी स्टूडियोज के प्रवक्ता के अनुसार, ”भुगतान में देरी का कोई सवाल ही नहीं है।

SHARE

Mayapuri