म्युजिक वर्ल्ड रेथ बैंड की सिंगर स्वाति शर्मा बनी प्लेबैक सिंगर

1 min


बॉलीवुड की हर चीज बदल चुकी है । फिल्में बदल चुकी है, उनकी कहानियां बदल चुकी है, एक्टर बदल चुके हैं,और म्यूजिक भी पूरी तरह से बदल चुका है । इन्हीं के साथ प्राइवेट एलबमों का स्वरूप भी पूरी तरह से बदल चका है । अब एलबम में छे या सात गाने नहीं होते । बल्कि एक गाना होता है । इन्हें सिंगल एलबम कहा जाता है । ऐसे ही सिंगल एलबम को लेकर यंग सिंगर स्वाति ‘शर्मा से मुलाकात हुई ।

vishal_0188

स्वाति ‘शर्मा मूलतः बिहार के मुज्जफरपुर की हैं । उसके घर में उसके पिता दादी को संगीत का ‘शौक रहा है । लेकिन संगीत का पेशा बनाया स्वाति ने ।बकौल स्वाति बचपन में मैने अदनान सामी का एलबम‘ तेरा चेहरा’ सुना तो वो उस एलबम के गानों की नकल करने लगी । कामर्स और म्युजिक में ग्रेजुएशन करने के बाद स्वाति प्राचीन कला के तहत चंडीगढ से क्लासिक्ल वोकल कोर्स किया । उसके बाद स्वाति ने करीब सात साल तक पंकज महाराज के गायिकी के सभी गुर सीखे ।

vishal_0233

मुबंई आने के बाद स्वाति की फेसबुक पर मुलाकात हुई डायरेक्टर राजीव रूईया से । राजीव ने स्वाति की आवाज से प्रभावित हो उसे एक म्यूजिक डायरेक्टर के पास भेज दिया उसने स्वाति से स्क्रेच गवाया । इसके बाद स्वाति ने राजीव की फिल्म‘ फाइनल इश्क’ के सभी गाने गाये ।

 

vishal_0235

इसके बाद राजीव की ही फिल्म ‘फ्लेम’ में में भी स्वाति ने एक गाना गाया । बाद में उसने मराठी फिल्म ‘कचरा’ का एक गीत गाया । सबसे अहम् रहा स्वाति का सिंल एलबम ‘क्यूं खो गये’  है । इन दिनों इस सिंगल एलबम का गाना यू ट्यूब पर खूब पंसद किया जा रहा है । इस एलबम का म्युजिक दिया है रेथ बैंड’ ने । इस एलबम को लेकर स्वाति का कहना है । कि ये पूरी तरह से रेथ बैंड का एलबम हैं उन्होंने पहले गाने में ही मेरी आवाज का बहुत ही सुंदर इस्तेमाल किया है ।आगे मैं इसी बैंड के साथ ‘शोज करने जा रही हूं । दूसरे मैं ऐसी खुशकिस्मत सिंगर हूं जिसकी ‘शुरूआत ही बतौर प्लेबैक सिंगर हुई ।आगे कई फिल्मों के लिये मेरी बातचीत चल रही हैं । यानि बॉलीवुड के यंग प्लेबैक सिंगर्स में एक और यंग सिंगर ‘शमिल हो चुकी है ।

 


Like it? Share with your friends!

Mayapuri

अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिये