मैं स्क्रिप्ट लिखते समय मिस्टर बच्चन को दिमाग में रखता हूं: गौरांग दोषी

1 min


निर्माता गौरांग दोषी एक विजन वाले इंसान हैं। उन्होंने लगभग हर बार बॉक्स ऑफिस पर खुद को साबित किया है। उनकी फिल्में- आंखें और बवंडर इसकी मिसाल हैं। अब ऐसी खबरें आ रही हैं कि वह एक नई स्क्रिप्ट पर काम कर रहे हैं और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर परवाज के लिए तैयार हैं।

हमें यह जानकर हैरानी हुई कि गौरांग दोषी हर बार स्क्रिप्ट लिखते समय अमिताभ बच्चन को अपने जेहन (दिमाग) में रखते हैं। इंडस्ट्री में अपने शुरुआती दिनों को याद करते हुए दोषी बिग बी के प्रति बहुत सम्मान का भाव रखते हैं। बिग बी ने गौरांग की पहली फिल्म के लिए उनकी काफी मदद की थी। यहां तक कि उन्होंने फिल्म के टेलीविजन प्रसारण के लिए डील दिलाने में उनकी सहायता की थी।

इस बारे में बताते हुए गौरांग दोषी कहते हैं ” ‘आंखे’ मेरे साथ वापस आ रही है और यह बताने में मुझे बहुत संतुष्टि मिलती है कि मैं अमिताभ बच्चन के साथ इसकी सीक्वेल करूंगा। इस स्टेज पर पहुंचने के लिए मैंने लंबा इंतजार किया है, लेकिन मैं खुश हूं कि ‘आंखे’ के साथ अपने मैंने अपने करियर की शुरुआत की।” आंखे में फिर से मिस्टर बच्चन के होने से मैं बहुत खुश हूं क्योंकि वे मेरे आदर्श और मेंटर हैं।”

गौरांग दोषी ने आँखें, दीवार: लेट्स ब्रिंग ऑवर हीरोज होम और बवंडर जैसी शानदार फिल्में बनाई हैं। अपने जुनूनी काम की वजह से उन्होंने चार बार लिम्का बुक रिकॉर्ड जीतने में भी कामयाबी हासिल की है। पिता स्वर्गीय श्री विनोद दोषी से कम उम्र में ही फिल्म निर्माण की कला गौरांग को विरासत में मिली। श्री विनोद दोषी ने दर्शकों को वीआर पिक्चर्स के बैनर तले सच्चा झूठा, नास्तिक, दिल, बेटा सहित कई हिट फिल्में दीं। अब अपने नए अवतार गौरांग दोषी प्रोडक्शंस के तहत गौरांग का लक्ष्य लीक से हटकर कटेंट को आगे बढ़ाना है।

और पढ़े: इन 10 फिल्मों के पोस्टर्स में दिखी किसिंग करने की क्रिएटिविटी


Like it? Share with your friends!

Mayapuri

अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिये