ब्राइट के योगेष लखानी अपने धर्म गुरू से मिले

1 min


हाल में ब्राइट एडर्वटाइजिंग कंपनी के मालिक योगेश लखानी अपने धर्म गुरू  हंसरत्न विजय  जी महाराज से मिले और उनका आशीर्वाद लिया । जैन धर्म के तपस्वी विजय महाराज एक नवबंर को चार सो अस्सी दिनों का उपवास पूरा करेगें । इससे पहले वे एक सो अस्सी दिनों का उपवास पूरा कर चुके हैं जो अपने आप में एक चमत्कार हैं क्योंकि मैडिकली कोई भी शख्स पेंतालिस दिनों तक ही भूखा रह सकता है । लेकिन जब डाक्टर्स के एक दल ने उनका चैकअप करते हुए उनकी सोनोग्राफी की तो सचमुच उनके पेट में एक अन्न का दाना तक नहीं था । लिहाजा ये उनके लिये बहुत ही आश्चर्य की बात थी । इसे उन्होंने मिरिक्कल कहा । पिछले साल विजय महाराज ने एक सो अस्सी दिनों का उपवास पूरा किया था पारणा यानि उनके उपवास पूरा कराना के लिये करीब इक्किस करोड़ की बोली लगी थी ।

hansaratna vijayji maharaj & yogesh lakhani1

गुणरत्न संवत्सर तप चार सो अस्सी दिन में पूरा करना पड़ता है । इस उपवास में सोलह महीने लगते है । जैनिज्म में ये सबसे कठिन तप है । जैनिज्म के इतिहास में अभी तक पांच साधू ही ये तक कर पाये हैं जिनमें भगवान महावीर भी शामिल हैं । महावीर ने ये तप आज से ढाई हजार साल पहले किया था । इसलिये इतने अरसे बाद विजय महाराज ने ये करिश्मा कर दिखाया है । क्योंकि हंसरत्न जी ये तपस्या एक नवंबर को पूरा करने वाले हैं ।उनके अनुयायीयों का कहना हैं कि विजय महाराज ने ये तप कोई रिकार्ड बनाने के लिये नहीं बल्कि विश्व में सुख शांती के अव्हान को लेकर किया है ।

 


Like it? Share with your friends!

Mayapuri

अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिये