‘फिर मैंने सलमान सर को अंकल नहीं बुलाया’- ज़हीर इक़बाल

1 min


zaheer-iqbal

लिपिका वर्मा

ज़हीर इक़बाल ’एस के एफ’ एवं सिने वन प्रोडक्शन के तले फिल्म “नोटबुक“ जो बनकर रिलीज़ के लिए तैयार है उसके प्रोमोशंस में जी जान से अपनी फीमेल लीड प्रनुतन के साथ जुटे हुए हैं।

 ज़हीर इक़बाल कैमरा के लिए नए नहीं है। इन्होंने फिल्म ‘जय हो’ में बतौर असिस्टेंट निर्देशक काम किया है। इनकी कहानी बांद्रा के ’गैलेक्सी अपार्टमेंट्स’ से ही शुरू होती है। ज़हीर के पिताजी सलमान खान के बहुत अच्छे दोस्त हैं। और यह लोग भी गैलेक्सी के नजदीक ही रहा करते थे।

पेश है ज़हीर इक़बाल के साथ  लिपिका वर्मा की बातचीत के कुछ अंश –

बचपन की बातें हम से शेयर करे?

– जी हाँ मेरे पिताजी के दोस्त है सलमान खान जी। अक्सर अपने पालतू कुत्तों को वॉक पर ले जाते समय हमारे घर से गुजरते हुए वह मेरे पापा से मिलने आया करते थे। हालांकि मैं उनसे कभी कभी मिला करता था। किन्तु हम वही बांद्रा बॉयज के गनग वाले हुआ करते। एक बारी सलमान भी मुझे अपनी किसी फिल्म की शूटिंग पर ले गए थे। मुझे कुछ याद नहीं है क्योंकि तब मैं बहुत छोटा था। सीरॉक होटल के करीब अक्सर हम लोग बाइक की सवारी किया करते।“

 कुछ रुक कर ज़हीर ने कहा, ’मुझे आज भी याद है, एक बारी मैंने अपने पापा से पूछा कि सलमान खान को क्या कह कर बुलाऊँ। पापा ने सीधा सा जवाब दिया ’चाचू’ कह कर बुला सकते हो उन्हें। पर एक दफा जब मैंने सलमान ’अंकल’ कह कर उन्हें सम्बोधित किया तो वह अचंभित  हो कर बोले, ’ऐ –अंकल!!’ बस उस दिन से मैंने उन्हें अंकल नहीं बुलाया बल्कि मैंने उन्हें किसी  भी नाम से सम्बोधित नहीं किया। बस जब भी उन्हें मिलता, तो उनकी नजरों से नजरे मिला कर ही अपनी बातचीत शुरू कर लिया करता।

salman-months-past-supervised-zaheer-iqbal

अपने गुरु सलमान के साथ कैसा अनुभव रहा शुरू से?

– जी हाँ, मैं उन्हें अपना गुरु ही मानता  हूँ। उनके साथ 6 वर्षों का जो तजुर्बा रहा मैंने उस दौरान बहुत कुछ सीखा भी। बहुत ही बढ़िया अनुभव रहा, मुझे यह नहीं समझ आता है कि मैं न केवल सलमान  का अपितु उन सारे लोगों का किस तरह शुक्रिया अदा  करूँ, जिन्होंने मेरी जिंदगी को इस मुकाम तक पहुँचाया है। उन सभी लोगों की वजह से जो सपना मैंने बचपन से संजोय रखा था वह पूरा होने को है।

 ’एस के एफ’ बैनर तले काम करने का मौका कैसे मिला?

– आपको बता दूँ यह भी एक इत्तेफ़ाक़ ही था। दरअसल में मेरी बहन की शादी थी। और उस फंक्शन में हमने स्टेज पर नाच इत्यादि का आयोजन भी किया था। हम सभी दोस्त कोई लाइटिंग के धंधे में कार्यरत है तो कोई एडिटर भी है। सो हमने जो वीडियो बनाया है, वह बहुत ही व्यवसायिक ढंग से बनाया  है। और उस पर सोने में सुहागा जैसा मौका मिला मुझे. मेरे भाई जिन्हें डांस करना था वह पहुंचे नहीं सो मुझे स्टेज पर उतार  दिया गया। और तो और सलमान भाई का जयपुर कोर्ट केस की तारीख आगे खिसक गयी, यह भी एक चमत्कार से कम नहीं है। पहले सलमान भाई ने शादी में नहीं आना था। पर क्योंकि जयपुर कोर्ट केस की तारीख आगे बढ़ गयी तो उनका हमारे फंक्शन में गुप्त रूप से पहुंचना तय किया। यह कुछ मेरे लिए जादुई एहसास से कम नहीं था। वह केवल 10 मिनट के लिए पहुंचे थे शादी के फंक्शन पर, किन्तु यह प्रोग्राम देखने के लिए घंटों तक बैठ गए। अगले दिन उन्होंने वीडियो देखा और मुझे घर आने का सन्देशा भेजा। मैं कुछ दिनों बाद शादी से फारिग  हो कर ग्लैक्सी पहुँच गया। बस उन्होंने मेरी शर्ट उतरवाई और कहा, “ठीक है, तू बॉडी तो बना ही लेगा“। चल अपना बोरिया बिस्तर ले कर आ जा। बस वहां से हम पनवेल फार्म हाउस पहुंचे। उधर सोहैल भाई के सुपुर्द कर मुझे असिस्टेंट निर्देशक फिल्म। ‘जय हो’ के लिए कार्यरत कर लिया गया। 6 साल का यह सुहावना सफर फिल्म ‘नोटबुक’ पर आकर केंद्रित हुआ। यह मेरा सौभाग्य है।

फिल्म ‘नोटबुक’ देखी  है क्या सलमान खान ने ? क्या रिएक्शन रहा उनका ?

– जी उन्होंने पनवेल फार्म हाउस में फिल्म देखी है। लेकिन उस वक़्त मैं वहां पर मौजूद नहीं था। मैं अपने एक दोस्त से उनकी प्रतिक्रिया जानने के लिए आतुर था। उन्होंने केवल मुझे यह कहा कि सलमान  फ्रेम तो फ्रेम पूरी फिल्म देख रहे हैं। मेरी अभी तक इस बारे में उनसे कोई बातचीत नहीं हुई है।

pranutan-bahl-and-zaheer-iqbal-

सलीम साहब ने फिल्म ‘नोटबुक’ देखी ? क्या प्रतिक्रिया रही उनकी ?

– सलीम साहब ने अभी तक मेरी फिल्म ’नोटबुक’ नहीं देखी है।

 क्या अपने ‘एस के एफ’ के बैनर तले थ्री फिल्म डील साइन की है?

– जी हाँ मैंने ‘एस के एफ’ प्रोडक्शन  के साथ  थ्री फिल्म डील साइन की है। लेकिन सलमान जी ने मुझ पर कोई पाबंदी नहीं लगायी है। मेरी डेब्यू फिल्म ‘नोट बुक’ साइन  करने के बाद भी जब कभी  मुझे ऑडिशन के लिए बुलाया जाता तो भाई हमेशा कहते जा कर दे। इससे मुझे और भी बहुत सीखने को मिला। मेरा एक फिल्म में चयन भी हो गया था किन्तु डेट्स नहीं है ऐसा कह कर मैंने वह फिल्म साइन नहीं की।

 फिल्म ‘नोटबुक’ -पेशकश सलमान खान एवं सलमान खान प्रोडक्शन एवं सिने वन प्रोडक्शन  तले बन रही फिल्म है जिसके निर्देशक नितिन कक्कड़ है।

➡ मायापुरी की लेटेस्ट ख़बरों को इंग्लिश में पढ़ने के लिए  www.bollyy.com पर क्लिक करें.
➡ अगर आप विडियो देखना ज्यादा पसंद करते हैं तो आप हमारे यूट्यूब चैनल Mayapuri Cut पर जा सकते हैं.
➡ आप हमसे जुड़ने के लिए हमारे पेज FacebookTwitter और Instagram पर जा सकते हैं.


Like it? Share with your friends!

Mayapuri

अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिये