माधुरी दीक्षित के साथ लिपिका वर्मा की एक पेशकश

1 min


Actress Affair with Married Man

माधुरी दीक्षित एक ऐसी अदाकारा है जिन्होंने १९/२०वर्ष से ही फिल्मों में काम करना शुरु कर दिया  था।  शादी होने के बाद उनके दो सुपुत्र हुवे और ज्यू ही वह थोड़े बड़े हुवे उन्होंने फ़िल्मी दुनिया में वापस पदार्पण कर दिया। एक अच्छी अदाकारा, डांसर,बेहतरीन जज, प्रोडूसर तो है ही माधुरी अब उन्होंने बतौर सिंगर ,” कैंडल” सिंगल एल्बम भी पेश किया है। यह एल्बम ख़ास कर मजदूरों को आशा की किरण दिखलाने  हेतु उन्होंने पान्डेमिक के समय लांच करना ही  सही  समझा –

माधुरी दीक्षित के साथ  लिपिका वर्मा की एक पेशकश 

 माधुरी की बकेट लिस्ट बढ़ती ही जा रहे है?

हंस कर बोली,” देखिये हर बारी नीचे से बकेट लिस्ट बढ़ती ही जाती मुझे तो लगता है हम सब की बकेट  लिस्ट कभी न पूरी होने वाली ही एक ऐसी बकेट लिस्ट होती है। है।दरअसल में , जब हम कुछ भी नया काम करते है और उस काम की सरहाना भी होती है तब हमें बहुत ख़ुशी होती है।अतः और कुछ करने की चाहा  में हम चले चलते है। 

आपको सिंगिंग का शौक कब से था ?

दरअसल में,मै स्कूल में बहले ही वो सिंगिंग हो,डांसिंग हो या फिर ड्रामा हो हमेशा हर एक प्रतियोगिता में भाग ले मुझे सभी  स्टेज पर ही पाते। मेरी मातजी, ट्रैन्ड  वोकल सिंगर रही।  घर पर ही मुझे क्लासिकल सिंगिंग का एक्सपोज़र ,डांस इत्यादि का एक्सपोज़र भी खूब मिला है। बच्चपन से ही रचनात्मक चीज़ की और आकर्षित रहे हूँ और  यही  सबकुछ करती भी रही हूँ।

कुछ रुक कर माधुरी जी बोली,” मैंने १९/२० वर्ष में ही काम करना शुरु कर दिया था। और बहुत बिजी भी रही  काम करते हुवे.शादी भी जल्दी हो गयी। फिर दो सुपुत्र को जन्म दिया।  बस जैसे ही वह दोनों बड़े हुवे मैंने फिर से फिल्मों की और रुख किया  . हाँ यह जरूर रहा क्यूंकि, इतना सब कुछ हुवा लाइफ में सो सिंगिंग ने बैक सीट  ले ली थी।

madhuri dixit

सो अब सिंगिंग में डेब्यू कर क्या ला रहे है अपने दर्शको के लिए?

मैंने अपना सॉन्ग ,’कैंडल” न केवल गया है पर इस सिंगल एल्बम को इस लिए बनाया है ,ताकि आज की स्तिथि में जो दुनिया भर के लोग इस महामारी से  अनुभव कर रहे है ,उस स्तिथि में उन्हें एक आशा मिले मेरी एल्बम ,” कैंडल ” से। मुझे इस एल्बम को रिलीज़ करने कायही  सबसे अच्छा समय लगा । वह डॉक्टर्स,नर्सेज,पुलिस कर्मी और स्वच्छता की देख रेख कर सभी जो  हमारे जीवन को संभाले हुवे है ,उन्हें हमारे साथ का एहसास दिला रही हूँ ,” कैंडल” सांग इस बात का एहसास दिला रहा है-हम सभी साथ -साथ एक साथ रह कर, यह मुश्किल घडी को जीत में बदल सकते है। कैंडल में मेरे जीवन से जुडी मेरे स्ट्रगल,सेलेब्रेशन्स  एवं आत्मा की खोज इत्यादि का एहसास कर मैंने यह एल्बम सभी वर्कर्स दो डेडिकेट की है। 

 आपके लिए सेलेब्रेशन्स का क्या मायने है?

मेरे लिए सेलब्रेशन्स वही सब जो मैने हार्ड वर्क किया है और हर बारी जो कुछ भी किया लोगों को पसंद भी आया है।  मै हर बारी एहि सोचती हूँ की अपने काम को और बेहतर से बेहतर  अंजाम दूँ।मेरे हिसाब से २% प्रतिभा होती है तो ९८% हार्ड वर्क होता है। मैंने हमेशा म्हणत तेह दिल से की है सो मुझे उसका फल भी मिला है। अपने काम के प्रति सच्चाई  होना अत्यंत आवश्यक है। हम कभी नहीं सोच सकते की हमने सब कुछ हासिल कर लिया है। सीखने का कभी भी अंत नहीं है। सीखते जाओ और उसे अच्छा करने की कोशिश में लगे रहना  जरुरी  है।बस एहि सब मैंने किया है  और आगे भी मेहनत ही करती रहूंगी .  

अपने स्ट्रगल से जुड़े  कुछ  अनुभव हमसे शेयर करना चाहेंगी आप?

ऐसा कोई ख़ास स्ट्रगल नहीं है जो ,मै आपके साथ  शेयर कर सकती हूँ। स्ट्रगल हर किसी  के जीवन में हमेशा ही रहता है ।जीवन में हम सभी उतार -जड़ाव से गुजरते है। में हर बारी समयानुसार और हालत के अनुसार सब कुछ सुलझाना चाहती हूँ। जैस अभी यह एल्बम “कैंडल “को करने में थोड़ी बहुत तिक्कत  आयी क्यूंकि हमे कुछ चीज़ घर से करनी पड़ी। लेकिन मैंने हार नहीं मानी। मेरी टीम का भी बहुत बड़ा हाथ है इस कैंडल एल्बम को ऐसे समय में आप सभी के समक्ष  लाना.ख़ास कर सभी वर्कर्स के लिए यह कैंडल उन्हें रास्ता दिखलीती है. उन्हें ताकत देती  है कि  वह समय से लडे और सफल होते हुवे आगे बढे।

आपके दो सुपुत्र क्या आप के नक़्शे कदम पर चलना चाहते है?

मेरे दोनों सुपुत्र अरिन और रयान में हम दोनों माता -पिता के गन है। अब पता नहीं उनको आगे चलकर कौन सा प्रोफेशन  पसंद आता है, यह समय ही बतलायेगा । मेरा बड़ा सुपुत्र तबला और  पियानो भी बजाता  है। वो म्यूजिक पर भी काम कर रहा है। छोटा वाला भी तबला एवं पियानो बजाता  है.दरअसल में, अभी उनको सब कुछ करना होता है। कभी कभी कुछ करते हुवे जब बोर हो जाते है  तो दूसरा कुछ करने की मंशा रखते है। हम उन्हें पूर्णतः सपोर्ट करते है। आगे चल कर जो कुछ भी करना चाहे हम उनके लिए सदैव खड़े रहेंगे.  

श्रीराम [ पति] को अपने साथ कब स्क्रीन पर डांस करवाऊंगी?

आज में सब कुछ उनकी वजह से ही कर पा रहे हूँ वह मुझे हमेशा – तुम्हे जो कुछ करना है  करो.वो एक बहुत ही शश्क्त प्रोडूसर तो है ही सब कुछ सलीके से करते है। में भी हमेशा उनके साथ खड़ी  रहती हूँ और आगे भी चल कर खड़ी रहूंगी.अब स्क्रीन  पर आने के बारे में मुझे नहीं पता -उनसे पूछना होगा. 


Like it? Share with your friends!

Mayapuri

अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिये