‘किरदार में ताज़गी लाने के लिए कड़ी मेहनत जरूरी’- अनिल कपूर

0 8

Advertisement

टीम अगर निर्देशक अनीस बज़मी की हो, तो वहां कॉमेडी के रंग बिखरेंगे ही। इस बार अनीस अपनी टीम के साथ पागलपंती लेकर आ रहे हैं जिसमें अनिल कपूर अहम रोल में हैं। अनिल ने पहले भी अनीस के साथ काम किया है इसलिये उन्हें पहले से ही बेखूबी मालूम होता है कि उनके निर्देशक को क्या चाहिये। अनीस की फिल्म करते समय अनिल के दिमाग में बस यही रहता है कि उन्हें कॉमेडी की फुल डोज़ देनी होगी, ताकि दर्शक ठहाके लगाने के लिये मजबूर होता रहे। अनिल कपूर मानते हैं कि कोई फिल्म बहुत शानदार बन सके, इसके लिये उसकी टीम का अच्छा होना बहुत जरूरी है, नहीं तो कमजोर सहयोगी कलाकार की वजह से हास्य भी दुःस्वप्न में बदल सकता है। ‘बीवी नंबर 1‘, ‘वेलकम‘, ‘नो एंट्री‘ और हाल ही में ‘टोटल धमाल‘ जैसी हास्य प्रधान फिल्मों में नजर आये आने वाले अनिल कपूर ने कहा ‘‘कॉमेडी करने वाले अभिनेता को यह याद रखना चाहिये कि वह अच्छे सह कलाकार, अच्छे निर्देशक और अच्छे लेखक के साथ काम करे।

अनिल कपूर

अनिल मानते हैं कि अनीस बज्मी को हास्य की अच्छी समझ है और यह अनुभव उन्होंने कई हास्य फिल्में बनाने के बाद पाया है इसलिये दर्शकों को भी यह उम्मीद रहती है कि अनीस की टीम उन्हें एंटरटेन करती रहेगी। अनिल कहते हैं कि निर्देशक को अच्छा हास्य बोध होना जरूरी है और लेखक के लिए बेहतर हास्य पटकथा लिखना जरूरी है। पटकथा चुनते समय आपको यह भी देखना चाहिये कि आपका किरदार नया लगे, उसमें कोई दोहराव न हो। चूंकि अनीस अपनी फिल्मों की पटकथा भी लिखते रहे हैं इसलिये उन्हें पता रहता है कि उनके किरदार को किस तरह निर्देशित किया जाये । अनिल कहते हैं कि किरदार में ताजगी लाने के लिए आपको कड़ी मेहनत करना चाहिये । जब आपके आसपास बेहतरीन कलाकार होंगे तो यह जुगलबंदी, हास्य और समय के साथ इनका तालमेल बहुत ही बढ़िया नतीजा देगा । इनमें से किसी के भी कमजोर होने पर, या कमजोर सहयोगी कलाकार की वजह से हास्य अपना अर्थ खो देगा।

अनिल कपूर

अनिल कपूर का कहना है कि हास्य प्रधान फिल्म के लिये कलाकारों का चयन भी बड़ी चुनौती होता है। कई बार एक भूमिका के लिए चुना गया चेहरा फिल्म में हास्य और अन्य कलाकारों के साथ तालमेल बना लेता है लेकिन वह अगली फिल्म में ऐसा नहीं कर पाता। उन्होंने कहा कि हमारे निर्देशक अनीस वैसे तो बेहद गंभीर शख्स हैं लेकिन उनके अंदर बहुत चुलबुलापन है। कई लोग ऐसे होते हैं, लेकिन अंदर छिपे चुलबुलेपन का हास्य में तब्दील होना महत्वपूर्ण है।

➡ मायापुरी की लेटेस्ट ख़बरों को इंग्लिश में पढ़ने के लिए www.bollyy.com पर क्लिक करें.
➡ अगर आप विडियो देखना ज्यादा पसंद करते हैं तो आप हमारे यूट्यूब चैनल Mayapuri Cut पर जा सकते हैं.
➡ आप हमसे जुड़ने के लिए हमारे पेज FacebookTwitter और Instagram पर जा सकते हैं.

 

Advertisement

Advertisement

Leave a Reply