Advertisement

Advertisement

देवानंद की दीवानगी

0 49

Advertisement

देव आनंद का जादू दर्शकों पर किस हद तक था और अब भी है यह बताने की जरूरत नहीं है. लोग उनके और उनके फिल्मों के लिए दीवाने होते थे. ऐसी ही एक दीवानगी का किस्सा सुनाते हुए अनु कपूर ने बताया था कि जॉनी मेरा नाम के रिलीज होने से 1 दिन पहले से ही जमशेदपुर में सिनेमाघरों में लाइन लगी हुई थी और टिकट लेने की भाग दौड़ में गोलियां चल गई थी जिसमें दो युवकों की जान भी चली गई थी. जब देवानंद को यह बात पता चली तो वो बहुत रोए थे.
देवानंद स्टाइल आइकॉन माने जाते थे.और वो शायद पहले और एकमात्र ऐसे अभिनेता है जिनको कोर्ट ने काला कपड़ा पहनने से मना कर दिया था क्योंकि लड़कियाँ उनको काले कपड़े में देखकर आपे से बाहर हो जाती थी.

 

 देव आनंद को लेकर ऐसी दीवानगी वाली कहानियां भरी पड़ी है. देवानंद ने गले में स्कार्फ बांधकर कितनी लड़कियों को पागल बनाया है ये गिन पाना असंभव है. गले में स्कार्फ बांधने को देवानंद का ही स्टाइल माना जाता है.
देवानंद ने अपने फिल्मी कैरियर में बहुत से अलग-अलग विषय की फिल्मों में काम किया है. उनकी ‘गाइड’ बॉलीवुड की  पहली फिल्म थी जिसमें लिव इन रिलेशनशिप को दिखाया गया था और ये उस वक्त के हिसाब से बहुत ही प्रोग्रेसिव फिल्म थी. देवानंद आज हमारे साथ तो नहीं है पर उनकी अदाकारी, उनका चार्म, उनकी आवाज, उनका स्टाइल हमेशा हमारे साथ रहेगा.

➡ मायापुरी की लेटेस्ट ख़बरों को इंग्लिश में पढ़ने के लिए www.bollyy.com पर क्लिक करें.
➡ अगर आप विडियो देखना ज्यादा पसंद करते हैं तो आप हमारे यूट्यूब चैनल Mayapuri Cut पर जा सकते हैं.
➡ आप हमसे जुड़ने के लिए हमारे पेज FacebookTwitter और Instagram पर जा सकते हैं.

Advertisement

Advertisement

Leave a Reply