Browsing Category

एडिटर्स पिक

पर्दे पर राजनैतिक बवंडर को दर्शाती फिल्में

देश भर में, चुनाव के बाद राजनीति का उठता बवंडर हैरान करने वाला बनता जा रहा है। ताजी चर्चा में है बॉलीवुड की नगरी मुंबई (महाराष्ट्र) के राजनैतिक गलियारे की उठा-पटक। इससे पहले हरियाणा, कर्नाटक, गोवा, असम.. में विधानसभा चुनाव के बाद सरकार…
Read More...

कोई फिल्मकार ‘पराली’ जलाये जाने के विषय पर फिल्म क्यों नहीं बनाता?

दिल्ली और आसपास के कई शहरों में सांस लेना मुश्किल हो गया है। हवा की अशुद्धता का पैमाना भयानक रूप ले चुका है। दिल्ली सरकार गाड़ियों को चलाने के लिये ‘ऑड-इवेन’ फॉर्मूला लगा चुकी है, विज्ञापन कर रही है। लेकिन, हवा का संतुलन सुधरने का नाम नहीं…
Read More...

रिमिक्स-गीत हो या कहानी क्या उन पर रोक लगनी चाहिए?

इस हफ्ते रिलीज होने वाली दो फिल्मों (बाला और उजड़ा चमन) के कथानक को लेकर बवाल खड़ा हुआ है कि उनमें एक ‘रिमेक’ है और दूसरी उसी कथानक की ‘रिमिक्स’! दोनो का स्त्रोत दक्षिण भारत में बनी एक कन्नड़-फिल्म है। वैसे ही गीतों को लेकर विशाल ददलानी ने इस…
Read More...

गांधीजी पर चर्चा…

प्रधानमंत्री के आवासीय हॉल में फिल्म इंडस्ट्री का एक ‘जत्था’ पीएम से मिलकर बॉलीवुड में वापस लौटा है। 50 से अधिक फिल्मवालों का समूह प्रधानमंत्री के साथ वार्ता में शरीक था। जितने लोग उतनी कहानियां! बेशक किसी एक की कहानी ऐसी नहीं है जिसमें कहा…
Read More...

फिर चमकेगी पर्दे पर राम की अयोध्या !!!

एक बार फिर ‘रामायण’ और ‘अयोध्या’ फिल्मवालों के लिए कहानी की विषयवस्तु है। करीब 206 साल पुराने मुकदमें (अयोध्या में मंदिर-मस्जिद विवाद) की सुनवाई पूरी हो चुकी है और फैसले की घड़ी सामने है। जाहिर है इस हॉट सबजेक्ट से फिल्मवाले कब तक दूर…
Read More...

फीकी पड़ती जा रही है दिवाली की चमक, क्यों ?

होली, ईद, क्रिसमस की तरह ही ‘दिवाली’ का महत्व भी भारत के त्योहारों में सर्वोपरि है। इस त्योहार का महत्व जगमगाती रोशनी और ‘धन’ यानी लक्ष्मी-पूजन से जुड़ा होने के कारण बॉलीवुड में अपना  और अधिक महत्व बना लेता है। पर्दे पर चमकती रोशनी और घर में…
Read More...

फिल्मों का स्वास्थ्य खराब करने में टिकटाॅक ऐप का डोज़ भी है

इन दिनों जिस फिल्म वाले से बात करिये, एक बात सामान्य सुनने में आती है - ‘कुछ ठीक नहीं चल रहा है! बाॅलीवुड की अंदरूनी हालत खराब है।’ दूसरे शब्दों में कहें तो बाॅलीवुड इन दिनों बीमार चल रहा है। सभी पुराने फिल्मकार अभिनेता और तकनिशियन घर मंे…
Read More...

क्या फाल्के सम्मान देकर ‘बच्चन’ को बड़ा कर रही है सरकार?

कुछ समय पहले की ही बात है कि ‘कौन बनेगा करोड़पति’ के सवाल-जवाब में एक प्रतियोगी ने अमिताभ से कहा था कि वह चाहता है कि बिग बी को ‘दादा साहब फाल्के’ और ‘भारत रत्न’ का सम्मान सरकार से मिले। उस समय अमिताभ के चेहरे पर मायूसी भरी खीझ के भाव छलके…
Read More...

क्यों नहीं बात की जाती फिल्मों की भाषा पर?

गृहमंत्री अमित शाह ने जब से ‘हिन्दी को लेकर राष्ट्र भाषा’ वाला बयान दिया है, एक बार फिर से भाषा पर विवाद छिड़ गया है। दक्षिण के दूसरे नेताओं के साथ अभिनेता कमल हासन का विवादित बयान हमें और भी चौंकाता है कि ‘कोई शाह, सुल्तान या सम्राट’...ऐसा…
Read More...

बॉलीवुड में चढ़ा है प्यार का खुमार…खुल्लम खुल्ला !

हिन्दी फिल्में पूरे देश और पूरे समाज को प्रभावित करती हैं। ऐसे में, कपड़ा हो या प्यार-छूत की बिमारी की तरह तुरन्त प्रभावी होती हैं। इन दिनों बॉलीवुड में, फिल्म व टेलीविजन इंडस्ट्री में, खुल्लम खुल्ला प्यार करने का खुमार जोर-शोर से दिखाई दे…
Read More...