कोरोना महामारी पर बनी पहली भारतीय फिल्म ‘जीने की उम्मीद तुमसे ही’ थिएटर में हो रही है रिलीज़

1 min


भारतीय राजनीति पर काफी समय से फिल्में बन रही हैं जो बॉक्स ऑफिस पर धमाल भी मचाती रही है। इस दिशा में हिंदी सिनेमा सबसे ज्यादा सक्रिय है।  रेट्रो रोमांटिक फिल्मों से लेकर कंटेंट-ड्रिवन और वास्तविक जीवन की घटनाओं पर आधारित फिल्में खूब बनने लगी है जिनमें राजनीतिक गतिविधियों तथा राजनीतिक घटनाओं से लेकर बायोपिक्स प्रमुख  है। सुलेना मजुमदार अरोरा

बॉलीवुड एक्टर ब्रजेश राय की फ़िल्म ‘जीने की उम्मीद तुमसे ही’ भी ऐसी ही एक फ़िल्म है

बॉलीवुड एक्टर ब्रजेश राय की फ़िल्म ‘जीने की उम्मीद तुमसे ही’ भी ऐसी ही एक फ़िल्म है जिसे लिखा और निर्देशित किया है ब्रजेश राय और ब्रिजेन्द्र ने। कहानी देश के विभिन्न प्रमुख मुद्दों पर आधारित है  जैसे कोरोना महामारी तथा भारतीय ग्रामीण और शहरी पटल पर चल रही बेरोजगारी, गरीबी और भ्रष्टाचार की राजनीति के इर्द-गिर्द की घटनाएं। फ़िल्म में विजय (ब्रजेश राय) समाज के बुरे तत्वों से लड़ते हैं और गरीब तथा जरूरतमंदों के जीवन को बेहतर बनाने की कोशिश करते हैं। यह भारत की पहली हिंदी फिल्म है जो कोरोना महामारी पर आधारित है।

खूबसूरत अभिनेत्री सांची राय ने ब्रजेश राय के साथ नायिका की भूमिका निभाई है। अन्य अभिनेताओं में सोनिया बंसल, आशा सिंह, पंकज चौधरी, रजनीश तिवारी, इरफान कुरैशी, मकसूद अहमद, सुनील दत्त पांडे, पानवती शर्मा, पार्वती देवी, दुर्गेश सक्सेना, राहुल कुमार, विजय कुमार हैं। संगीत दिया है सोनी ब्रदर्स ने। अभिनेता ब्रजेश राय ने कहा, “मैं वास्तव में खुश हूं कि मेरी फिल्म इस सप्ताह रिलीज होने जा रही है। मेरी इस पहली फिल्म का ट्रेलर और गीत ऑलरेडी रिलीज़ हो चुकी है और लोगों से अच्छी प्रतिक्रिया मिल रही है। यह एक सामाजिक ड्रामा है, जिसमें मैंने दर्शकों का मनोरंजन करने के लिए अपनी सर्वस्व प्रयास दिया है। इसलिए मैं भारत के सभी लोगों से अनुरोध करता हूं कि कृपया अपने  नजदीकी थिएटर में जाकर, ‘जीने की उम्मीद तुमसे ही’ जरूर देखें।”

‘जीने की उम्मीद तुमसे ही’, बृजेश राय द्वारा, ‘राय क्रिएटिव प्रोडक्शन’ के बैनर तले निर्मित है।

SHARE

Mayapuri