Brahmastra: फेक ख़बरों का बाजार गर्म है, 'ब्रह्मास्त्र' की कलेक्शन रिपोर्ट झूठी है या बायकॉट कहने वालों का वीडियो झूठा है?

| 12-09-2022 1:11 PM 44
Is the collection report of Brahmastra or the video of those who say boycott is false?

Brahmastra: सोशल मीडिया पर फेंक खबरों का बाजार गर्म है.एक वर्ग है जो फिल्म 'ब्रह्मास्त्र' Brahmastra का सपोर्टर है और जिनके साथ निर्माता ने पूरी ताकत झोंका हुआ है यह बताने के लिए कि फिल्म सुपर हिट है.एकदिन की बॉक्स ऑफिस कलेक्शन रिपोर्ट ने RRR तथा पुष्पा को भी पछाड़ दिया है.  दूसरी तरफ फिल्म का विरोध करनेवालों का वो समूह है जिसने 'ब्रह्मास्त्र' का बायकॉट तीन महीने पहले से घोषित कर रखा है. ये लोग सोशल मीडिया पर सिनेमा घरों के अंदर का वीडियो अपलोड कर रहे हैं जिसमे दिखाया जा रहा है कि अंदर ज्यादातर सीटें खाली पड़ी हैं और स्क्रीन पर फिल्म चल रही है. क्या सच है क्या झूठ, दर्शक कंफ्यूजियाया हुआ है... किसको सच माने? फेंक खबरों का बाजार इस तरह गर्म है कि जो लोग फिल्म देखकर थियेटर से बाहर निकल रहे हैं वे भी सच नहीं बता पा रहे हैं. कोई कहता है अच्छी है कोई कहता है वाहियात. इसी तरह फिल्म के समीक्षक भी रिव्यू मिक्स दे रहे  हैं. मतलब कुल मिलाकर इस फिल्म की उम्र अब दर्शकों के अपने विवेक पर है.

brahmastra-ranbir-kapoor-alia-bhatt-starrer-overtakes-kgf-chapter-2-rrr-pushpa-in-opening-screen-count-in-west-bengal-read-on-0001.jpg

आइये, पहले सपोर्टर्स की सुनते हैं.फिल्म रिलीज से पहले फिल्म की पहले दिन की टिकट बिक्री 75 करोड़ और साउथ की भाषाओं (यह फिल्म हिंदी के साथ तेलुगु, तमिल, मलयालम, कन्नड़ में भी रिलीज हुई है) का 36 करोड़ बताया गया. दूसरे दिन टिकट बिक्री बढ़कर 160 करोड़ हुई. तीसरे दिन भी टिकट बिक्री बढ़ता ही देखा गया. यानी- रिलीज के पहले वीकेंड में फिल्म ने दक्षिण की सबसे कामयाब 'RRR' और 'पुष्पा' की कमाई को भी पछाड़ने का रिकॉर्ड बनाया है. रणबीर सिंह और गर्भवती आलिया भट्ट ने अपनी खुशी को ट्विटर पर शेयर किया है. निर्देशक अयान मुखर्जी भी अपनी 8 साल की कीगई मेहनत से बनी ब्रह्मास्त्र का बयान करने से नही रुक रहे हैं. और, प्रोडक्शन हाउस में 'ब्रह्मास्त्र 1-शिवा' की सीक्वल बनाने की चर्चा  चल पड़ी है. बतादें कि यह फिल्म तीन पार्ट में पूरी कहानी कम्प्लीट करती है. कलेक्शन की रिपोर्ट भी अलग अलग सूत्रों से अलग अलग है. एक रिपोर्ट की सुनें तो फिल्म का 2 दिन का बिजनेस 160 करोड़ ग्रॉस है.इसमें शुक्रवार 75 करोड़ और शनिवार 85 करोड़ बताया गया है.एक रिपोर्ट 2 दिन का कलेक्शन 37 और 42 यानी-79 करोड़ बताई गई है.वर्ल्ड वाइड लगभग 9000 थियेटरों में एक रिपोर्ट के अनुसार आंकड़ा है $ 26.5 मिलियन (211 करोड़), इसमे इंडिया का शेयर है $18 मिलियन.नार्थ अमेरिका से  $4.5 और  बाकी जगहों से $4 मिलियन है. एक रिपोर्ट 2 दिन का व्यवसाय 31.5 - 32 करोड़ कहती है.

ranbir-kapoor-alia-bhatt-brahmastra-hows-the-hype-005.jpg

अब इस फिल्म के विरोध में खड़े लोगों ने तो फिल्म की सारी पॉजिटिविटी को निगेटिव बायब्रेशन की हवा में बहा दिया है. 'बायकॉट ब्रह्मास्त्र' Brahmastra के जुमलेबाजों ने फिल्म की कामयाबी को धोखा कहा है.कई लोग सोशल मीडिया पर थियेटर के अंदर का विडिओ अपलोड करते लिख रहे हैं कि कोई टिकट बिक्री नही हुई है, सब झूठा प्रचार किया जा रहा है. टाकीज के अंदर अधिकतर सीटें खाली पड़ी हैं और फिल्म चल रही है. इनके समर्थन में 'बायकॉट' का नारा कमेंट बॉक्स में भर पड़ा है.हालांकि जैसा हमारे देश मे होता रहता है इस वीडियो की सत्यता पर भी सवाल उठाया जा रहा है. कहा जा रहा है कि वीडियो में खाली सीटें पहले की है.जो भी है इसबार फिल्मों के कलेक्शन की भ्रामक रिपोर्ट का सच बाहर आता दिख रहा है. ऐसा पहले भी बहुत बार होता रहा है कि फिल्म रिलीज के शुरुवाती दो हफ्तों में ट्रेड पत्रिकाओं में धमाके की कामयाबी वाली कलेक्शन रिपोर्ट छपती रहती थी, पार्टियां तक हुआ करती थी और लोग उसी को सच मानकर स्टार, डायरेक्टर और निर्माता की जय जयकार किया करते थे. लेकिन अब समय बदल गया है.कोरोना के बाद ट्रेड पत्रिकाएं बन्द हो चुकी हैं और सोशल मीडिया हावी हो चुका है. अब सोशल मीडिया का झूठ अपना प्रभाव दिखा रहा है.'ब्रह्मास्त्र' को लेकर सोशल मीडिया के दोनों खेमें आपस मे भीड़ गए हैं. एक फिल्म को फ्लॉप कह रहा है दूसरा सुपर हिट बता रहा है.

the-kashmir-files-

वैसे, यथार्थ तो सिनेमा हॉल से ही पता चलता है.पर अब सिनेमा हाल वो सिनेमा हॉल नहीं रहे जहां सबके अलग अलग मालिक हुआ करते थे.आजकल मल्टीप्लेक्स थियेटरों का दौर है.पूरे देश के मल्टीप्लेक्स सिर्फ 15 से 20 लोगों के हाथ मे हैं. ये लोग आपस मे हाथ मिला लेते हैं और तय करते हैं कि किसको चलाना है या किसको भगाना है.सिनेमा घरों पर पूँजीवाद हावी हो रहा है.अंदरूनी खबर है कि 'ब्रह्मास्त्र' Brahmastra को चलाने के लिए दो मल्टीप्लेक्स समूह PVR और INOX ने हाथ मिला लिया है. अब आप चिल्लाते रहिए रिपोर्ट के आंकड़ों को लेकर. 'कश्मीर फाइल्स' जैसी फिल्में कम बनती हैं जिनको शुरुवात में अवॉयड किये जाने के वावजूद उसको दिखाना मल्टीप्लेक्स की मजबूरी बन गया था. 410 करोड़ में बनी करन जौहर कम्पनी की फिल्म 'ब्रह्मास्त्र' के पीछे कई सवाल खड़े हो गए हैं और... यही सवाल दर्शक के मन मे उत्सुकता खड़ी कर रही है की वे फिल्म देखने के लिए जाएं. यही चर्चा 'ब्रह्मास्त्र' के लिए ब्रह्मास्त्र बन जाए तो हैरानी नही! शायद प्रोपोगंडा ही भविष्य में फिल्मों का व्यापार निर्धारित करेगा!