National Cinema Day ने साबित किया है थियेटर पर 'Boycott' का असर नही, 'महंगे टिकट' हैं फिल्मों के दुश्मन!

| 24-09-2022 5:52 PM 62
National Cinema Day has proved that 'Boycott' has no effect on theatres, 'expensive tickets' are enemies of films!

मल्टीप्लेक्स थियेटर असोसिएशन की विज्ञप्ति के अनुसार 'नेशनल सिनेमा डे' एकदम कामयाब रहा है. सिनेमा घरों पर दर्शकों की भीड़, फिल्मों की एक दिन की कमाई और दर्शकों का उत्साह देखने लायक था. इस एक दिन के मेले ने साबित किया है कि लोगों में सिनेमा के प्रति प्यार आज भी वैसा ही है. सोशल मीडिया पर बॉलीवुड फिल्मों के वहिष्कार (बायकॉट) की हवा निकल गयी है और जो बात सबको समझ मे आरही है, वो ये है कि सिनेमा टाकिजों के बढ़े हुए दाम ही फिल्मों के ना चलने का कारण है.

बताने वाली बात है कि देश  भर के  सिनेमा घरों में 23 सितंबर को राष्ट्रीय सिनेमा दिवस मनाए जाने का आयोजन किया गया था. मल्टीप्लेक्स सिनेमा असोसिएशन की अपील पर यह आयोजन सम्पन्न हुआ.इसदिन देश की आज़ादी के 75 वें वर्ष के सम्मान स्वरूप सभी सिनेमा घरों  में टिकट का दाम सिर्फ 75 रुपये रखा गया था.देश भर में लगभग 4000 स्क्रीन्स पर इस दिन फ़िल्म का एक ही दाम रखा गया था. इस स्पेशल डे के भागीदार सिनेमा घरों में मल्टीप्लेक्स थियेटरों की पूरी चेन जुड़ी थी. ये थियेटर्स थे-  पीवीआर, आईनॉक्स, कार्निवल, सिने पोलिस, सिटी प्राइड, मिराज, डिलाइट, मुक्ता ए 2, वेव एम 3 के, मूवीटाइम आदि आदि.इन थियेटरों में फिल्म जो भी थी, टिकट का दाम एक ही था सिर्फ 75 रुपए. खास बात है कि बायकॉट की हवा  फुस्स करते हुए  और वर्किंग डे के वावजूद इस एक दिन में 65 लाख लोगों ने फिल्म देखा है.

National Cinema Day

आंखों देखी तस्वीर के अनुसार पिछले कई सालों में सिनेमा के प्रति लोगों में ऐसा उत्साह दिखाई नही दिया था. कोरोना बन्दी की महामारी के बाद लगने लगा था लोग थियेटरों का रास्ता भूल गए है. लेकिन इस एक दिन के थीएटर त्योहार ने सब मिथक तोड़ दिया है. सुबह से ही सिनेमा घरों पर लाइन थी. सिनमा टिकट की कतार इनदिनों पुरानी बात हो चुकी है.सुना है कई सिनेमा घरों ने रेट कम होने से एक्स्ट्रा शो भी  चलाए हैं. नई रिलीज फिल्मों 'चुप', 'सीता रामम' आदि का एक दिन का कलेक्शन जो सोचा गया था, उससे पांच गुना ज्यादा हुआ है. यानी-बायकॉट के इस माहौल में पूरे हफ्ते भर की कमाई नई रिलीज फिल्मों ने एक दिन में किया है.सबसे ज्यादा कमाई करने वाली फिल्म 'ब्रह्मास्त्र' बतायी  जा रही है.सिर्फ सिनेमा डे के दिन इस फिल्म की कमाई 10 करोड़ करने की खबर है.

'मायापुरी' में पिछले दिनों ही हमने एक लेख के मार्फ़त बताया था कि अगर सिनेमा टिकट के दाम 50 रुपए कर दिए जाएं और थियेटर  में मिलने वाले समोसे और पोपकोर्न का  दाम कम कर दिया जाए तो हर फिल्म  हाउसफुल होगी. सिनेमा-डे के दिन 75 रुपए टिकट का दाम करने पर टाकिजों का फुल जाना इस बात का सबूत है. अब यह बात सबको समझ लेना चाहिए कि बायकॉट का असर सिनेमा प्रेमियों को टाकीज आने से नहीं रोक रहा है, रोक रहा है थियेटरों का बढा हुआ दाम!