एण्डटीवी के ‘बाल शिव’ ने पूरे किये 100 एपिसोड

| 13-04-2022 5:30 AM 7

एण्डटीवी के ‘बाल शिव‘ के लिये यह जश्न का समय है, क्योंकि इस शो ने 100 एपिसोड पूरे कर लिये हैं! ‘बाल शिव‘, महादेव की अनदेखी गाथा, में एक माँ और पुत्र - महासती अनुसुइया और बाल शिव के बीच का खूबसूरत और मधुर रिश्ता दिखाया गया है। बेहद कम समय में यह शो दर्शकों का पसंदीदा बन गया है। इसके मुख्य कलाकारों बाल शिव- आन तिवारी, महासती अनुसुइया- मौली गांगुली, महादेव- सिद्धार्थ अरोड़ा, देवी पार्वती- शिव्या पठानिया और ताड़कासुर- कपिल निर्मल, ने इस शो में अपने सफर के बारे में बात की और 100 एपिसोड पूरे करने की उपलब्धि पर अपनी खुशी का इजहार किया।बाल शिव, यानि आन तिवारी ने कहा, ‘‘हर-हर महादेव! मैं ‘बाल शिव’ और अपने किरदार को दर्शकों से मिले भारी समर्थन के लिये आभारी हूँ। मैं महादेव का बड़ा भक्त हूँ और उनके बाल रूप की भूमिका निभाना मेरे लिये सपने के सच होने जैसा है। यह किरदार दर्शकों को इतना पसंद आया है कि कई लोग मुझे आन की जगह बाल शिव कहकर पुकारते हैं और मुझे यह अच्छा लगता है।’’महासती अनुसुइया, यानि मौली गांगुली ने कहा, ‘‘100 एपिसोड पूरे हो गये! समय वाकई बड़ी तेजी से बीतता है। आन, सिद्धार्थ, शिव्या और अन्य कलाकारों, खासकर बच्चों के साथ शूटिंग काफी मजेदार रही। हम सभी का रिश्ता काफी करीबी वाला है और हम एक बड़ा और खुशहाल परिवार बन चुके हैं। यह हमारे लिये सचमुच एक बड़ा पल है और हम सभी बहुत उत्साहिचत हैं। अनुसुइया का किरदार काफी मजबूत है और मेरे द्वारा निभाये गये पिछले किरदारों से बहुत अलग है। मेरे किरदार और इस शो को इतना समर्थन देने के लिये मैं दर्शकों का धन्यवाद करती हूँ। और अब हमार शो ने 100 एपिसोड पूरे करने की उपलब्धि हासिल कर ली है। महासती अनुसुइया करूणा और त्याग की देवी हैं। मेरा मानना है कि इस किरदार ने कई तरीकों में मेरा व्यक्तित्व विकास भी किया है। मैं कामना करती हूं कि भगवान शिव हम पर अपना आशीर्वाद बनाए रखें और भविष्य में ऐसी उपलब्धियों का जश्नर मनाने के और भी अवसर प्रदान करें।’’महादेव, यानि सिद्धार्थ अरोड़ा ने कहा, ‘‘महादेव के आशीर्वाद और टीम के सहयोग से हमने यह उपलब्धि हासिल की है! हर-हर महादेव! लेकिन प्रशंसकों के प्यार और समर्थन के बिना यह संभव नहीं होता। मैं अपने पर भरोसा करने और महादेव की भूमिका देने के लिये निर्माताओं और चैनल का आभारी हूँ। मैं उस शहर से आता हूँ, जिसे ‘‘शिव की नगरी’’ कहा जाता है और इसलिये यह किरदार निभाना मेरे लिये किसी सपने के सच होने जैसा है। मेरा शुरू से मानना है कि भगवान शिव की भूमिका कोई ले नहीं सकता, यह उनके आशीर्वाद से मिलती है! और मेरा सौभाग्य है कि मुझे भगवान शिव का किरदार निभाने के लिये चुना गया। मैं जो भी करूं, लेकिन स्क्रीन पर महादेव की भूमिका मेरे लिये सबसे महान रहेगी। मैं ‘बाल शिव’ जैसे शो का हिस्सा बनकर सम्मानित महसूस करता हूँ, जो शिव और उनकी माता के बीच के शाश्वत सम्बंध को बड़ी ही खूबसूरती से प्रस्तुत करता है।’’देवी पार्वती, यानि शिव्या पठानिया ने कहा, ‘‘मुझे विश्वास नहीं हो रहा है कि हमारे शो ने 100 एपिसोड पूरे कर लिये हैं। लगता है कि ‘बाल शिव’ के साथ मेरी यात्रा अभी शुरू हुई है और मैं इसका पूरा श्रेय अपने साथी कलाकारों, निर्देशकों, लेखकों और पर्दे के पीछे मौजूद तकनीशियन दल के सदस्यों को देती हूं। उन्होंने हर काम को आसान बना दिया। एक एक्टर के तौर पर मुझे इस शो ने नई चीजें करने के कई मौके दिये हैं। और मैंने कई तरह की भावनाओं का अनुभव किया है। मैं इस श्शो में देवी पार्वती की भूमिका में हूँ, लेकिन मुझे माँ काली की भूमिका निभाने और अपनी सहजता से बाहर आने का मौका भी मिला। मुझे बहुत खुशी है कि हम यहाँ तक पहुँचे हैं और दर्शकों ने हमें बहुत पसंद किया है। यह उपलब्धि हमें अपने दर्शकों का मनोरंजन करते रहने के लिये प्रेरित करती है।’’ताड़कासुर, यानि कपिल निर्मल ने कहा, ‘‘यह मेरा पहला पौराणिक शो है और मैं अपने साथी कलाकरों और तकनीशिायनों के साथ इसके 100 एपिसोड पूरे होने की उपलब्धि का जश्न मनाते हुए बहुत खुश हूँ  ताड़कासुर की भूमिका नकारात्मक है, लेकिन मुझे इसे निभाने पर सकारात्मक प्रतिक्रिया मिली है। इससे पता चलता है कि यह शो और इसके किरदार दर्शकों के दिलों में कितनी खास जगह रखते हैं। मैं चैनल और इस शो के पीछे मौजूद पूरी टीम को बधाई देना चाहता हूँ, जो इस शो को बनाने के लिये दिन-रात काम करते हैं।’’खते रहिये ‘बाल शिव’, हर सोमवार से शुक्रवाररात 800 बजे सिर्फ एण्डटीवी पर!