प्रियंका चोपड़ा, दीपिका पादुकोण और माधुरी दीक्षित के बारें में ये क्या बोल गए एक्टर आदिनाथ कोठारे! फिल्म 83 के वर्ल्ड टीवी प्रीमियर के पहले जाहिर की ये खास बातें !

| 17-03-2022 5:30 AM 3

बॉलीवुड और मराठी टैलेंटेड एक्टर आदिनाथ कोठरे, जो बहुत कम ही समय में अभिनय के क्षेत्र में एक सफल मुकाम हासिल कर चुके हैं। मराठी इंडस्ट्री तो इनके टैलेंट का दम भरती हैं ही, अब बॉलीवुड भी इस सितारें को सलाम करता हैं। जी हां, नेशनल अवार्ड विनिंग ये एक ऐसे एक्टर हैं जो बॉलीवुड की तीन बड़ी–बड़ी एक्ट्रेसेस की होम प्रोडक्शन की फिल्मों में काम कर चुके हैं। दीपिका पादुकोण की 83, प्रियंका चोपड़ा की पानी और माधुरी दीक्षित की पंचक फिल्मों में काम करने का सौभाग्य ले चुके हैं।फिल्म 83 में दिलीप वेंगसरकर की भूमिका निभा चुके आदिनाथ इसके वर्ल्ड टीवी प्रीमियर पर काफी खुश हैं जो 20 मार्च को स्टार गोल्ड पर रात 8 बजे दिखाई जाएगी। पहली बार दीपिका की सह होम प्रोडक्शन 83 में काम करके आदिनाथ कहते हैं कि ‘दीपिका पादुकोण उन शक्सियत में से एक हैं जब वो सेट पर आती थी मानो ऊर्जा आ गई हो। उनके आने से सेट का पूरा माहौल तरोताजा हो जाता था। जिस तरीके की एनर्जी वो अपने प्रोजेक्ट में लेकर आती हैं वो वाकई हटकर हैं’।वही बॉलीवुड की देसी गर्ल प्रियंका चोपड़ा की होम प्रोडक्शन फिल्म पानी में काम कर चुके आदिनाथ कहते हैं ' प्रियंका चोपड़ा सबसे प्रेरक व्यक्तित्व हैं जिनसे मैं मिला हूं।  मैं वाकई उनका बहुत बड़ा प्रशंसक हूं।  जिस तरह से उन्होंने अपने जीवन में सफलता हासिल की है, जिस तरह से उन्होंने अपने करियर को विस्तारित किया और जिस तरह का काम वह कर रही है... वह काबिले तारीफ है। वह एल ए में रहती हैं और हॉलीवुड प्रोजेक्ट कर रही है लेकिन फिर भी उनका ध्यान यहां मुंबई में भी है।  'पाणी' के दौरान, वह एक निर्माता के रूप में पूरी तरह से काम कर रही थीं।  वह स्क्रिप्ट पर अपने सुझाव देती थीं, फिल्म के संपादन पर, वह शामिल रहती थीं और परियोजना में निहित थीं और यह वास्तव में सराहनीय था।  मेरा मतलब है कि कोई व्यक्ति इतना अधिक कार्य कैसे कर सकता है और वह अपनी हर सफलता की हकदार है।'माधुरी दीक्षित के साथ भी ऐसा ही है…,जिन्होंने फिल्म को शूटिंग शुरू कर दी हैं। ”आदिनाथ ने विस्तार से बताया,“ एक विशाल व्यक्तित्व होने के नाते, वह अभी भी इतनी विनम्र और जमीन से जुड़ी है। उन्हें फिल्मों की और विषय का अपार ज्ञान हैं और उनसे बात करना भी बहुत आसान हो जाता था। मैं ऐसे महान लोगों के साथ काम करके धन्य हूं।'