'कलंक' करने के बाद मुझे अपना यह रूप अच्छा लगने लगा है-आलिया भट्ट

author-image
By Lipika Varma
New Update
'कलंक' करने के बाद मुझे अपना यह रूप अच्छा लगने लगा है-आलिया भट्ट

-लिपिका  वर्मा

आलिया भट्ट ने सभी का मन अपनी हर फिल्म में अलग अलग रूप निभा कर जीत तो लिया है। फिर चाहे वह उनकी पहली फिल्म,‘ स्टूडेंट ऑफ द ईयर ‘‘राजी‘‘ फिल्म हो। लेकिन इस फिल्म में वह रूप का किरदार निभा रही है। और इस किरदार से वो भारतीय रूप कुछ ज्यादा तवज्जो दे अपने फैंस को मंत्र मुगध करने 17 अप्रैल, को अपनी फिल्म,‘‘ कलंक के साथ आ रही है। हाल ही में रिलीज के लिए तैयार फिल्म में उनका रूप खूब खूबसूरत लग रहा है और उनके चेहरे पर और भी निखार ला रहा है।

पेश है आलिया भट्ट के साथ लिपिका वर्मा की बातचीत के कुछ अंश

आलिया भट्ट रूप के रूप का क्या राज है? भारतीय नारी का रूप अपना लिया है।, क्या कहना चाहेंगी आप?

भारतीय नारी का रूप....रूप इसलिए अपना लिया है क्योंकि कलंक करने के बाद मुझे अपना यह रूप अच्छा लगने लगा है। मेरे मन को भारतीय रूप बहुत खूबसूरत लगने लगा है। यही मेरी खूबसूरती का राज भी है। यह जैसे ,‘‘ओल्ड वल्र्ड चार्म ‘‘ है और थोड़ा सा ट्रैडिशनल परंपरागत, बनना भी अच्छा लगता है। आजकल ऐसे कपड़े पहन के मुझे बहुत मजा भी आता है।

और अपना कौन सा लुक फिल्म,‘‘ कलंक‘‘ में आप को ज्यादा पसंद आया हो?

 इस फिल्म में बहुत ज्यादा ,‘सफेद‘ कपड़े पहन  रही हूँ। और जब भी मैंने सफेद कपडे पहने है मुझे इस रंग से और ज्यादा प्यार हो गया है। और आजकल कही भी आप मुझे देखते होंगे- ज्यादातर ,‘ सफेद ‘ रंग में ही देखते है।

publive-image

नयी फैमिली कपूर खानदान ,से जुड़ रही हो फेस पर ब्लश बता रहा है क्या कहना है ?

मैं शादी नहीं कर रही हूँ अभी? सगाई भी नहीं हुई है। मुझे आज भी अपनी व्यक्तिगत लाइफ के बारे में कुछ ज्यादा नहीं कहना है, दरअसल हमेशा से ही मैंने अपने व्यावसायिक और व्यक्तिगत जीवन को अलग ही रखा है। लगभग 6 वर्ष हो गए है मुझे फिल्म इंडस्ट्री में काम करते हुए। हाँ जो मेरा रिएक्शन हालमें एक अवार्ड फंक्शन में देखा है, आलिया -रणबीर किस तो उस रिएक्शन के बारे में यही कहना चाहूंगी, मुझे लगा कि जिन लोगों ने मुझे एक सकारात्मक वातावरण दिया है सो उसे जतलाना जरुरी है। रणबीर उन में से एक इंसान है ,जो मुझे बहुत ही सकारात्मक तौर से प्रभावित करते है। सो उन्हें धन्यवाद बोलने का यह तरीका अच्छा होगा सो मैंने ऐसे रियेक्ट किया। यह मैंने कभी जिन्दगी में नहीं किया है ,यह मैनें पहली बार किया है।

नीतू कपूर भी आपके बारे में टविट्र पर तारीफ  करती है। आपकी कौन सी खूबी दिखी उनको जो रणबीर की पिछली गर्लफ्रेंडंस मे नहीं दिखी?

हंस के बोली,‘ मै अपने बारे में क्या बोलूँ.उन्हें क्या गुण मेरे पसंद आते है? यह तो आपको उनसे ही पूछना होगा। जी हाँ! उन्होंने कई चीजों मेरे साथ शेयर की है। किन्तु वह बहुत ही पर्सनल है, जिसमें पब्लिक प्लेटफाॅर्म पर कतई शेयर नहीं करना चाहूंगी।

publive-image

फिल्म गली बाॅय की सफीना से निकलकर रूप के लुक में आने के लिए आपको कितनी तकलीफ हुई?

सफीना से निकल कर रूप अपनाने में मुझे काफी तकलीफ हुई। लेकिन जब आप सेट पर शूटिंग करते है तो फिल्म के ही हिसाब से आपको खट -खट शूटिंग करनी होती है। आपका किरदार फिल्म की कहानी से ऊपर नहीं होता है। फिल्म के अन्य किरदारों के साथ आपको कहानी को रंग देना होता  है। सो फिल्म महत्वपूर्ण। आपको अपने किरदार में अपना बेस्ट देना होता है। और निर्देशक का जो विजन दृष्टिकोण, महत्पवूर्ण होता है। और मुझे खुशी है लोगों को मेरा लुक पसंद आ रहा है सो आधी मेहनत मानो सफल हुई।

आपने पहली बारी भारतीय क्लासिकल डांस किया है फिल्म,‘ कलंक‘‘ में क्या कहना चाहेंगी आप?

जी हाँ ! मैंने कभी इंडियन क्लासिकल डांस नहीं किया है। निर्देशक अभिषेक ने मुझे पहले ही सतर्क कर दिया था कि-तुम्हे इंडियन क्लासिकल डांस के लिए तैयारी करनी होगी।सो मैंने बिना गाने के बेसिक कत्थक एक टीचर के साथ सीखना शुरू कर दिया । दो महीने पहले से ही मैंने कोरियोग्राफर रेमो से बनवा के ले लिया था। आज वह नृत्य मेरे शरीर में मानो जैसे घुस चूका है।

Latest Stories