मिस इंडिया फर्स्ट रनर अप, राजस्थान की बेटी रूबल शेखावत ने भी देश का नाम रौशन करते हुए रूढ़िवादी सोच पर लगाम लगाने की मंशा जाहिर की

| 11-07-2022 11:36 PM 25

सुलेना मजुमदार अरोराराजस्थान की रहने वाली रूबल शेखावत मिस इंडिया 2022 की फर्स्ट रनर अप है जो राजस्थान की स्टेट विनर होने के साथ साथ वहां की अतुलनीय हेरिटेज और रिच कल्चर की प्रतीक भी है। मिस इंडिया 2022 की फर्स्ट रनर अप होने को लेकर जब उनसे उनकी मनो दशा के बारे में पूछा गया तो वे बोली, 'यह एक मैजिकल ड्रीम पूरे होने जैसा है। मैंने अपने यहां तक की जर्नी में बहुत सारी चुनौतियों का सामना किया है और अपने ड्रीम्स को पाने के प्रति मैं बहुत महत्वाकांक्षी रही हूँ।' इस बारे में विस्तार से बोलते हुए रूबल ने कहा, 'मैं जिस खूबसूरत जगह से आई हूँ वहां आज भी रुढ़िवादी सोच के चलते लड़कियों के लिए आगे बढ़ने का रास्ता मुश्किल है। वहां बाकी सब अच्छा है, लेकिन आज भी मॉडलिंग, ग्लैमर जगत और स्त्रियों के आगे बढ़ने को लेकर पुराने सोच है, ऐसे में मुझे जब ये मौका मिला है मिस इंडिया फर्स्ट रनरअप बनकर एक प्लैटफॉर्म पाने का, तो मैं चाहती हूं कि मैं मेरे स्टेट, मेरे गाँव और देश के अन्य कई प्रांतों की लड़कियों की प्रेरणा बनूँ, और इन जगहों में सदियों से चलते रूढ़िवादी सोच को दूर कर सकूँ।'रूबल से पूछा गया कि मिस इंडिया 2022 में शामिल होने की उनकी इच्छा क्यों और कैसे हुई तो वे बोली,' बचपन से ही मुझे बहुत कुछ करने की उमंग रही है, एक क्रिएटिव माइंड की लड़की होने के कारण मुझे नित नई हुनर सीखने का हौसला था, मैंने डांस सीखी, स्कूल में ड्रामा में भाग लिया, मैंने बैटमिनटन सीखी, योग सीखा, फिर मेरी इच्छा हुई कि मैं और बड़े पैमाने पर अपने को एक्सप्लोर करूँ, मैं अपने देश, अपने स्टेट का नाम रौशन करना चाहती थी। मैं उस महत्वपूर्ण जगह में पहुँचना चाहती थी जहां से मेरी आवाज़ सुनी जाए और उसपर गौर किया जाय। मैं चाहती थी कि इतनी शोहरत हासिल करूँ कि मैं अपने देश और देशवासियों के कल्याण के लिए कुछ करने की ताकत रख सकूं।' रूबल से जब पूछा गया कि सर पर ताज को लेकर वे क्या कहती है तो वह बोली,' मैं तो यह चाहती हूं कि यह ताज हमेशा मेरे पास रहे। मैंने यहां तक पहुंचने में बहुत मेहनत की, देखा जाए तो मिस इंडिया 2022 में शामिल तीस के तीस कंटेस्टेंट ने यहां तक पहुंचने में बहुत मेहनत की, देश के कोने कोने से हम सब यहां आए। ऐसे में जब मुझे फर्स्ट रनर अप का ताज मिला तो जो खुशी हुई वो शब्दों से नहीं कह सकती। मुझे इस बात की खुशी थी कि मैंने अपने राजस्थान को, अपनी कम्युनिटी, अपने देश और अपने माता पिता को प्राउड किया। यह सारा अनुभव मेरे लिए अद्भुत और अतुलनीय रहा। ' क्या एक पल के लिए भी वे नर्वस हुई? इस प्रश्न पर वे बोली,'देखिए, जब हम सब तीस के तीस कंटेस्टेंट अपने अपने बेस्ट पर होते हैं तो अक्सर कभी कभार मन में एक डाऊट आता है कि मैं जीत पाऊँगी? लेकिन ये सभी के साथ होता है, लेकिन एक पल के लिए भी मेरे अन्दर डर या हताशा की भावना नहीं आई और ना क्विट करने का विचार आया।मैं आर्मी बैकग्राउंड से हूँ, मेरे पिता आर्मी में है, और बचपन से ही हमे डिसिप्लिन , हिम्मत, झुझारू होने की सीख मिली है, हम किसी भी परिस्थिति से नहीं डरते। बचपन में मेरे पिता मुझे सुबह जल्दी उठकर व्यायाम करवाते थे, उस वक्त अच्छा नहीं लगता था लेकिन आज मेरी वही फिटनेस मुझे हर चुनौतियों का सामना करने की हिम्मत दे रही है।' जब रूबल से पूछा गया कि क्या वे बॉलीवुड में प्रवेश करेंगी ? तो वो बोली,' अगर बॉलीवुड में प्रवेश करने से मैं अपने देश, अपने स्टेट की भलाई के लिए शक्ति पा सकूँ तो जरूर फ़िल्मों में काम करूंगी क्योंकि वो एक ऐसा प्लैटफॉर्म है जहां से हम अपनी बात जन जन तक पंहुचा सकते हैं, लोग आपको सुनते हैं, फॉलो करते हैं, ऐसे में हम सबको अच्छे कामों के लिए मोटिवेट कर सकते है। लेकिन फ़िलहाल मुझे अपने सर पर धारण किए इस ताज की जिम्मेदारी पूरी करनी है, हमने अपने आप से जनहित में काम करने के जो वादे किए हैं वो पूरा करना है, अपने स्टेट और अपने देश के लिए बहुत कुछ करना है।' नए मिस इंडिया पार्टिसिपेंट को संबोधित करते हुए वे बोली,' मैं इस क्षेत्र में कदम रखने वालों को सलाह दूंगी कि खूब मेहनत करें, कभी हताश ना हो, फिटनेस पर जोर दें, जीवन में डिसिप्लिन जरूर रखें, सदा सच की रह पर चले, जो बोले, उसमें बनावट न हो, आपकी सच्चाई आपकी जीत बन सकती है। मेरे पिता ने मुझे यही सीख दी थी।'