IFFI Awards 2023 में अभिनेता नवाजुद्दीन सिद्दीकी ने कहा, आध्यात्मिक गुरु ओशो की भूमिका निभाना चाहूंगा

author-image
By Mayapuri Desk
New Update
IFFI Awards 2023 में अभिनेता नवाजुद्दीन सिद्दीकी ने कहा, आध्यात्मिक गुरु ओशो की भूमिका निभाना चाहूंगा

आनंद सुरपुर द्वारा निर्देशित हिंदी फिल्म “रौतू की बेली” का आज गोवा में 54वें भारतीय अंतरराष्ट्रीय फिल्म महोत्सव में भव्य प्रीमियर हुआ. यह फिल्म उत्तर भारत के पहाड़ी इलाके में स्थित रौतू की बेली नाम के एक रमणीय शहर पर आधारित है, जो दर्शकों को उस शहर के एक स्कूल के वार्डन के मृत पाए जाने के बाद इंस्पेक्टर नेगी के साथ एक खोजी यात्रा पर ले जाती है.

54वें भारतीय अंतर्राष्ट्रीय फिल्म महोत्सव (IFFI) में हुआ नागा चैतन्य की तेलुगु ओरिजिनल सीरीज 'धूथा' का जोरदार प्रदर्शन

पीआईबी द्वारा आयोजित प्रेस कॉन्फ्रेंस में मीडिया से बातचीत करते हुए ‘रौतू की बेली’ के मुख्य अभिनेता नवाजुद्दीन सिद्दीकी ने कहा कि देश भर के स्थानीय पुटवाली प्रामाणिक कहानियों को दर्शाने वाली फिल्मों को विश्व स्तर पर पहचान मिलेगी. जितना अधिक स्थानीय पुट, उतना अधिक वैश्विक.

किसी फिल्म में अपनी भूमिका चुनने से संबंधित प्रश्न का उत्तर देते हुए, नवाजुद्दीन सिद्दीकी ने कहा कि मैं खुद को सिर्फ एक खास तरह की भूमिकाओं तक ही सीमित नहीं रखना चाहता और मैं भूमिकाओं की विविधता को प्राथमिकता दूंगा.उन्होंने आगे कहा कि वह किसी भी भूमिका को निभाते समय उस पात्र की जिंदगी को इस हद तक जीने की कोशिश करते हैं कि उस पात्र की जिंदगी और उनकी खुद की जिंदगी एक में मिल जाए.

जब अभिनेता सिद्दीकी से उस भूमिका के बारे में पूछा गया जिसे वह भविष्य में निभाने के लिए उत्सुक होंगे, तो उन्होंने कहा, “यदि अवसर मिला तो मैं आध्यात्मिक गुरु ओशो की भूमिका निभाना चाहूंगा.”फिल्म निर्माण के लिए मिलने वाली प्रेरणा से संबंधित एक प्रश्न का उत्तर देते हुए, निर्देशक, आनंद सुरपुर ने कहा कि कहानी कहने का जुनून और अनूठे विचार मेरी प्रेरणा के मुख्य स्रोत हैं.

जी स्टूडियोज के सीईओ और फिल्म ‘रौतू की बेली’ के पटकथा लेखक शारिक पटेल ने कहा कि यह फिल्म अपने पात्रों के निरूपण की दृष्टि से शैली से परे जाने वाली एक फिल्म है और इसमें रहस्यात्मक हत्या की एक अनूठी कहानी है.इस फिल्म की रिलीज के बारे में बात करते हुए, उन्होंने कहा कि यह फिल्म 2024 की शुरुआत में जी 5 पर उपलब्ध होगी.

 छायाकार : रमाकांत मुंडे मुंबई

Latest Stories