नीति आयोग और महाराष्ट् के मुख्य मंत्री ने अभिनेत्री शिखा मल्होत्रा के नर्स के तौर पर निस्वार्थ सेवा को बताया प्रेरणादायक

author-image
By Shanti Swaroop Tripathi
New Update
नीति आयोग और महाराष्ट् के मुख्य मंत्री ने अभिनेत्री शिखा मल्होत्रा के नर्स के तौर पर निस्वार्थ सेवा को बताया प्रेरणादायक

अभिनेत्री शिखा मल्होत्रा पिछले एक माह से अभिनय से कुछ वक्त के दूरी बनाकर वोलेंटरी नर्स बन मुम्बई के जोगेष्वरी स्थि ‘बाला साहेब ठाकरे ट्रॉमा केअर अस्पताल’’में  कोरोना मरीजों की निःशुल्क सेवा कर रही हैं.उनकी इस देश सेवा के लिए किए जा रहे कार्य की नीति आयोग ने ट्वीट कर भूरि भूरि प्रसंषा की है.

‘नीति आयोग’’ने अपने ट्वीटर एकाउंट और इंस्टाग्राम एकाउंट से अभिनेत्री से नर्स बनकर कार्यरत शिखा मल्होत्रा की तस्वीर शेअर करते हुए लिखा कि -‘‘एक स्वयं सेवक के रूप में शिखा मल्होत्रा  की निःस्वार्थ सेवा कोरोना महामारी में एक नई आषा,आत्मषक्ति और नेकी का संदेष दे रही हैं....’’

नीति आयोग और महाराष्ट् के मुख्य मंत्री ने अभिनेत्री शिखा मल्होत्रा के नर्स के तौर पर निस्वार्थ सेवा को बताया प्रेरणादायक

शिखा मल्होत्रा के लिए किसी सरकारी संस्था की तरफ से आया यह दूसरा प्रसंषा वाला संदेष है.इससे पहले तीस मार्च को महाराष् ट् के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे भी अपने ट्वीटर हैंडल से शिखा मल्होत्रा के कार्य की तारीफ करते हुए उनका हौसला आफजाई कर चुके हैं.
‘‘रनिंग शादी’’और ‘फैन’’ जैसी फिल्मों की अदाकारा तथा सात फरवरी को पूरे देश में प्रदर्षित फिल्म‘‘काॅंचली’’की हीरोईन शिखा मल्होत्रा 27 मार्च से मुंबई के जोेगेश्वरी इलाके के ‘बाला साहेब ठाकरे ट्रॉमा अस्पताल’से जुड़कर बतौर नर्स कोरोना पीड़ितों की सेवा में जुटी हुई हैवह ‘‘बाला साहेब ठाकरे ट्रॉमा केअर अस्पताल’’में नर्स के तौर पर अपनी सेवाएं मुफ्त में दे रही हैं.

वास्तव में मषहूर कहानीकार विजयदान देथा की कहानी पर आधारित हिंदी फिल्म‘‘काँचली‘‘ की हीरोईन शिखा मल्होत्रा एक प्रषिक्षित नर्स भी हैं.अभिनय के क्षेत्र में कदम रखने से पहले उन्होनेे बाकायदा दिल्ली में चार साल का नर्सिंग का कोर्स करने के अलावा कुछ समय तक बतौर नर्स अस्पताल में नौकरी भी की थी.उसके बाद वह फिल्म‘‘रनिंग षादी’’से अभिनय के क्षेत्र में आ गयी थीं.

जब फोन पर शिखा मल्होत्रा से बात हुई,तो उन्होने बताया - ‘‘महाराष्ट् के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के ट्वीट के बाद नीति आयोेग के ट्वीट से मुझे बल मिला है.और अब में ज्यादा मेहनत व तत्परता के साथ कोरोना को  हराने में अपना योगदान देने में जुटी रहूंगी.हमारे अस्पताल के सभी डाक्टरों और नर्सो की मेहनत के परिणाम स्वरूप हमारे अस्पताल से अब तक तीस कोरोना मरीज स्वस्थ होकर अपने अपने घर वापस जा चुके हैं.’’
शान्तिस्वरुप त्रिपाठी

Latest Stories