युवा भारतीय लेखकों ने पॉकेट एफएम के साथ अपनी सफलता का मनाया जश्न

author-image
By Mayapuri Desk
New Update
युवा भारतीय लेखकों ने पॉकेट एफएम के साथ अपनी सफलता का मनाया जश्न

ऑडियो सीरीज प्लेटफार्म में अग्रणी ग्लोबल मंच पॉकेट एफएम ने अपने लेखकों के लिए एक मीट-अप सत्र का आयोजन किया, जहां वे अपने प्रतिभाशाली लेखकों के साथ उनकी अनूठी यात्रा साझा करने के लिए एक साथ नज़र आए. इस मीट-अप में पॉकेट एफएम की प्रसिद्ध लेखिका मोनी सिंह, जान्हवी सोनी और काव्या शर्मा की उपस्थिति देखी गई, जिन्होंने अपने अनुभव, प्रेरणाओं और इस रचनात्मक समुदाय का हिस्सा होने की खुशी जताई. ख़ास बात यह है कि इस मीट-अप के दौरान उन्होंने महत्वाकांक्षी लेखकों को भविष्य की ओर एक कदम आगे बढ़ाने की सलाह दी जो न सिर्फ उनके जीवन मन बदलाव लाएगी बल्कि उनके आसपास के लोगों का भी अनुभव बदल सकती है.

पॉकेट एफएम न सिर्फ लेखकों को उनकी प्रतिभा प्रदर्शित करने का मंच प्रदान कर रहा है बल्कि उन्हें वित्तीय स्वतंत्रता, लाखों श्रोता, मजबूत प्रशंसक और सबसे महत्वपूर्ण उन्हें मान्यता और गर्व प्राप्त करने की दिशा में विकसित कर रहा है.

पॉकेट एफएम के साथ अपनी लेखन यात्रा पर बात करते हुए लेखिका मोनी सिंह ने कहा, "मेरी यात्रा विकास और गौरव से भरी रही है. मैं अपने परिवार में पहली लेखिका हूं, जो मेरे लिए किसी उपलब्धि से कम नहीं है. मेरी रचना अब दुनिया भर में लाखों लोगों तक पहुंच रही है, इसने मुझे पहचान दी है और मेरे सामाजिक जीवन को गर्व से ऊंचा उठाया है. मेरे दोस्त और सभी परिवारजन अक्सर मेरी कहानियों को एक दूसरे से साझा करके मेरी सफलता को सराहते हैं, जो कभी-कभी मुझे एक सेलिब्रिटी की तरह महसूस कराते हैं."

उत्साहित जान्हवी सोनी ने एक भावनात्मक किस्सा साझा करते हुए कहा, “हाल ही में, मेरी माँ एक रिश्तेदार को दिखाने के लिए इंटरनेट पर मेरा नाम खोज रही थी और जब एक लेखक के रूप में मेरा नाम सामने आया तो यह उनके लिए गर्व और उपलब्धि का क्षण था. यह एक ऐसा क्षण था जब मुझे लगा कि मैंने अपने माता-पिता को अपनी पेशेवर उपलब्धि पर गर्व महसूस कराया है. मैं पॉकेट एफएम की आभारी हूं जिसकी मदद से न केवल मुझे वित्तीय स्वतंत्रता मिली बल्कि मेरे परिवार में खुशी लाने वाले गर्व की भावना पैदा करने का भी श्रेय इस मंच को जाता है, जिन्होंने मुझे यह मौका प्रदान किया."

काव्या शर्मा ने कहा, “कई लोगों की तरह, महामारी ने मुझे भी नहीं बख्शा था. 6 महीने तक मेरा भी स्वास्थ्य बिगड़ा रहा, लेकिन पॉकेट एफएम मेरे लिए अंधेरे में उम्मीद बनकर उभरा. इसने मुझे एक लेखक के रूप में आगे बढ़ने के लिए प्रेरित किया और मुझे आर्थिक रूप से सशक्त बनाया. आज मैं पॉकेट एफएम की आभारी हूं कि इस मंच मुझे न केवल अपनी पहचान दी बल्कि मेरे जीवन में वित्तीय स्थिरता भी लाई.''

मोनी, जान्हवी और काव्या इस बात का जीता-जागता सबूत हैं कि समर्पण और सही मंच के साथ, उभरते लेखक अपने सपनों को हकीकत में बदल सकते हैं. उनकी सफलता की कहानियाँ देश के हर महत्वाकांक्षी लेखक को प्रेरित करने के लिए बाध्य हैं जो एक लेखक के रूप में अपनी पहचान और जगह बनाना चाहते हैं.

पॉकेट एफएम ने अपने इस मंच के ज़रिए नए उभरते युवा लेखकों के सपनों को हकीकत में बदलने और उनकी मदद करने के लिए, देश के कोने-कोने से प्रतिभाओं को खोजने और उनका पोषण करने का अपना मिशन जारी रखा है. यह मंच एक खुला मंच है और लेखक यहां क्लिक करके या https://writer.pocketnovel.com पर जाकर जुड़ सकते हैं.

Latest Stories