उर्वशी रौतेला ने किया नारी शक्ति को सलाम, बनी स्त्री शक्ति पुरस्कार जीतने वाली सबसे कम उम्र की अभिनेत्री

| 02-07-2021 5:30 AM 2

बॉलीवुड की ब्यूटी क्वीन  उर्वशी रौतेला को हाल ही में राजभवन में महाराष्ट्र और गोवा के माननीय राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी के हाथों 'हिंदी सिल्वर स्क्रीन' के क्षेत्र में उनकी उपलब्धि के लिए 'स्त्री शक्ति राष्ट्रीय पुरस्कार' से सम्मानित किया गया। राजभवन में भी जिन्हें पुरस्कार प्रदान किया गया उनके लिए राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी ने केक कटिंग  सेशन रखा था जहां उन्होंने खुद उर्वशी रौतेला को केक खिलाया।उर्वशी रौतेला कृतज्ञता से भरी हैं और पहले से कहीं अधिक प्रेरित महसूस करती हैं, वह कहती हैं, 'चूंकि मैं फिल्म  उद्योग से स्त्री शक्ति राष्ट्रीय पुरस्कार का यह सम्मान प्राप्त करने वाली सबसे कम उम्र की अभिनेत्री  हूं, इसलिए मैं गर्व  महसूस करती हूं।' इसके अलावा, वह विस्तार से बताती है की , 'मेरा मानना है कि शक्ति देवी माँ की दिव्य स्त्री शक्ति का आशीर्वाद है  । नारीत्व के माध्यम से शक्ति सबसे अधिक सक्रिय है,  इन्हे परमात्मा के रूप में पूजा जाता है।' महिला सशक्तिकरण में विश्वास रखने वाली उर्वशी रौतेला कहती हैं, 'इस पुरस्कार से जो मान्यता मिलती है, वह दूसरों को भी उनके द्वारा चुने गए क्षेत्र में महानता के लिए प्रयास करने के लिए प्रेरित करती है। स्त्री शक्ति राष्ट्रीय पुरस्कार जैसा पुरस्कार महिलाओं के सशक्तिकरण के अगले चरण का प्रतिनिधित्व करता है। महिलाओं को सशक्त बनाने और उन्हें आत्मनिर्भर बनाने के लिए, अवधारणा आवश्यक है। अभिनेत्री को इस पुरस्कार से अपने करियर और निजी जीवन में और भी बेहतर करने के लिए प्रेरित किया गया है।तो वही अगर उनकी आगामी प्रोजेक्ट  के बात करे तो, उर्वशी रौतेला एक बड़े बजट की तमिल फिल्म के साथ अपना तमिल डेब्यू करेंगी, जिसमें वह एक माइक्रोबायोलॉजिस्ट और एक आईआईटीयन की भूमिका निभाएंगी, और बाद में वह एक द्विभाषी थ्रिलर में दिखाई देने वाली हैं। 'ब्लैक रोज़' के साथ-साथ 'थिरुतु पायले २' के हिंदी रीमेक के साथ। अभिनेत्री को हाल ही में गुरु रंधावा के साथ उनके गीत 'दूब गए' और मोहम्मद रमजान के साथ 'वर्साचे बेबी' के लिए एक ब्लॉकबस्टर प्रतिक्रिया मिली। उर्वशी जियो स्टूडियो की वेब सीरीज 'इंस्पेक्टर अविनाश' में रणदीप हुड्डा के साथ मुख्य भूमिका में हैं, जो सुपर कॉप अविनाश मिश्रा और पूनम मिश्रा की सच्ची कहानी पर आधारित एक बायोपिक है।