Navratri पर, &TV के कलाकारों ने 'नारी के नौ रूप' के बारे में की बात

| 26-09-2022 3:01 PM 9
On Navratri, &TV's female artists talk about Naari Ke Nau Roop

Navratri नवरात्रि का त्योहार नौ दिनों तक मनाया जाता है और यह बुराई पर अच्छाई की जीत तथा अधर्म पर धर्म की फिर से स्थापना करने का प्रतीक है. यह पावन पर्व नकारात्मकता को दूर कर सकारात्मकता एवं पवित्रता लेकर आता है. नारी शक्ति को समर्पित इस पवित्र उत्सव का जश्न मनाते हुये &TV की अभिनेत्रियों ने नवरात्रि Navratri के नौ दिनों की अहमियत बताई और नारी के नौ रूपों, जिनकी पूजा की जाती है, पर बात की. इन अदाकाराओं में शामिल हैं, 'दूसरी माँ' Doosri Maa की नेहा जोशी (यशोदा), निधि उत्तम (माला), अनीता प्रधान (मालती देवी), 'हप्पू की उलटन पलटन' Happu Ki Ultan Paltan की कामना पाठक (राजेश सिंह), हिमानी शिवपुरी (कटोरी अम्मा), सपना सिकरवार (बिमलेश) और 'भाबीजी घर पर हैं' Bhabiji Ghar Par Hai की शुभांगी अत्रे (अंगूरी भाबी), विदिशा श्रीवास्तव (अनीता भाबी) और सोमा राठौड़ (अम्माजी). 

एण्डटीवी के 'दूसरी माँ' में यशोदा का किरदार निभा रहीं नेहा जोशी Neha Joshi ने कहा, “नवरात्रि के पहले दिन देवी शैलपुत्री, जिन्हें देवी पार्वती के नाम से भी जाना जाता है, की पूजा की जाती है. देवी पार्वती को हिमालय की पुत्री माना जाता है और ऐसी मान्यता है कि उनकी पूजा करने से जीवन में अत्यधिक चेतना, उत्साह, कामयाबी एवं खुशी आती है. वह प्रकृति मां का सम्पूर्ण रूप हैं. इस दिन देवी को प्रसन्न करने एवं खुशी तथा प्रसन्नता जाहिर करने के लिये लोग पीले रंग के परिधान पहनते हैं. मेरे होमटाऊन में हम देवी के चरणों में शुद्ध घी अर्पित करते हैं. ऐसा माना जाता है कि देवी  को शुद्ध घी अर्पित करने से माता प्रसन्न होती हैं और अपने भक्तों को रोगों एवं बीमारियों से मुक्त जीवन का आशीर्वाद देती हैं." 

एण्डटीवी के 'हप्पू की उलटन पलटन' की राजेश सिंह ऊर्फ कामना पाठक Kamna Pathak ने कहा, “नवरात्रि के दूसरे दिन देवी ब्रह्मचारिणी की पूजा-अर्चना की जाती है. ऐसी मान्यता है कि इस दिन हमें अपनी आंतरिक दिव्यता का पता लगाने का प्रयास करना चाहिये और मेडिटेशन अथवा ध्यान के माध्यम से आध्यात्मिक जागृति को जगाना चाहिये. देवी का यह स्वरूप समर्पण, प्रेम एवं निष्ठा को व्यक्त करता है. इसलिये उस ऊर्जा को प्रसारित करने के लिये हर दिन हरे रंग के वस्त्र पहने जाते हैं." 

एण्डटीवी के 'भाबीजी घर पर हैं' में अंगूरी भाबी की भूमिका अदा कर रहीं, शुभांगी अत्रे Shubhangi Atre ने कहा, “देवी दुर्गा का तीसरा स्वरूप मां चंद्रघंटा के नाम से प्रसिद्ध है. वह ग्रे रंग के परिधान पहनती हैं और मस्तक पर अर्द्धचंद्र धारण करती हैं. वह अपने भक्तों को मुसीबत में डालने वालों से संघर्ष करने और उनका संहार करने के लिये तैयार रहती हैं. वह शेर की सवारी करती हैं और ऐसी माना जाता है कि अपने इस रूप में माता रानी सभी दुष्टों और दुराचारियों का नाश करती हैं. इस क्रोधायुक्त देवी को प्रसन्न करने के लिये उन्हें दूध, मिठाई या खीर का भोग लगाया जाता है." 

एण्डटीवी के 'दूसरी माँ' में माला बनीं निधि उत्तम Nidhi Utam ने कहा, “नवरात्रि के चैथे दिन देवी कूष्माण्डा की उपासना की जाती है. कूष्मांडा का अर्थ होता है कुम्हड (कद्दू). यह एक सब्जी का नाम है और ऐसा माना जाता है कि इस सब्जी में जीवन को अवशोषित एवं उत्सर्जित करने की शक्ति होती है. देवी की चमक और उनके पास मौजूद दिव्यता सूर्य को प्रकाशित करती है. उन्हें 'प्रसन्नचित्त देवी' भी कहा जाता है, जोकि जुनून, क्रोध एवं शुभता का प्रतीक हैं. इसलिये इस देवी को प्रसन्न करने के लिये भक्तजन नारंगी रंग के वस्त्र पहनते हैं." 

हिमानी शिवपुरी Himani Shivpuri, जोकि एण्डटीवी के 'हप्पू की उलटन पलटन' में कटोरी अम्मा का किरदार निभा रही हैं, ने कहा, “नवरात्रि के पांचवें दिन देवी स्कंदमाता की उपासना की जाती है और यह एक मां की शक्ति का प्रतीक हैं. देवी पार्वती का यह रूप भगवान कार्तिकेय की माता के रूप में है. अपनी गोद में शिशु को विराजित कर वह मातृत्व को प्रदर्शित करती हैं. देवी के इस स्वरूप की उपासना करने से भक्तों को ज्ञान, धन, शक्ति, समृद्धि और मुक्ति मिलती है. मेरा मानना है कि इस ब्रह्मांड की वह हर महिला, जोकि एक माँ है, देवी के इस रूप का प्रतीक हैं." 

एण्डटीवी के 'भाबीजी घर पर हैं' की अनीता भाबी यानी कि विदिशा श्रीवास्तव Vidisha Srivastava ने कहा, “देवताओं की शक्ति से उत्पन्न हुईं कात्यायनी देवी ने महिषासुर का संहार किया था. वह दैवीय शक्ति का प्रतीक हैं, जो प्रकृति के संतुलन को पुनस्र्थापित करती हैं. नवरात्रि के छठे दिन देवी कात्यायनी की पूजा की जाती है, जो आध्यात्मिक विकास की राह में बाधा बनने वाले हमारे आंतरिक शत्रुओं से छुटकारा दिलाने में हमारी मदद करती हैं. देवी कात्यायनी को पूजा के दौरान शहद चढ़ाया जाता है, क्योंकि ऐसा माना है कि उन्हें शहद पसंद है. कई श्रद्धालु माता को लाल पुष्प चढ़ाते हैं और इस दिन लाल वस्त्र पहनते हैं." 

एण्डटीवी के 'दूसरी माँ' में मालती देवी का किरदार अदा कर रहीं अनीता प्रधान Anita Pradhan ने कहा, “नवरात्रि के सातवें दिन यानी सप्तमी को देवी कालरात्रि की उपासना की जाती है. प्राचीन कथा के अनुसार, दानवों का संहार करने के लिये देवी ने अपनी त्वचा के रंग का बलिदान कर दिया और काला रूप धारण किया था. देवी कालरात्रि की चार भुजायें हैं और उन्होंने अपनी भुजाओं में तलवार, त्रिशूल और फंदा धारण कर रखा है. उनकी ललाट पर तीसरी आंख हैं और ऐसा कहा जाता है कि अपने इस नेत्र में उन्होंने पूरे ब्रह्मांड को समाया हुआ है. देवी दुर्गा का सबसे खतरनाक रूप, कालरात्रि उस अंधेरी रात का प्रतिनिधित्व करती हैं, जो दुष्टों के संहार को प्रदर्शित करती है. नीला रंग देवी का पसंदीदा रंग है, जो देवी की शक्तिशाली ऊर्जा का प्रतीक है."

एण्डटीवी के 'हप्पू की उलटन पलटन' में बिमलेश का किरदार अदा कर रहीं, सपना सिकरवार Sapna Sikarwar ने कहा, “नवदुर्गा के आठवें स्वरूप को देवी महागौरी के नाम से जाना जाता है. देवी का यह स्वरूप अत्यंत सौम्य और खूबसूरत है एवं प्रकृति के शांत पहलू को प्रदर्शित करता है. महागौरी देवी पवित्रता, स्वच्छता, धीरज और शांति का प्रतिनिधित्व करती हैं. उनकी उपासना करने से अपनी गलतियों को कम करने और उनका नाश करने में मदद मिलती है. इस दिन बैगनी रंग के परिधान पहनना शुभ माना जाता है.

एण्डटीवी के 'भाबीजी घर पर हैं' में अम्माजी का किरदार निभा रहीं, सोमा राठौड़ Soma Rathod ने कहा, “देवी का नवां रूप सिद्धिदात्री के नाम से विख्यात है. वह सिद्धि यानी कि परफेक्शन का प्रतीक हैं. देवी सिद्धिदात्री की उपासना से मस्तिष्क की जटिलताओं को दूर करने में मदद मिलती है. ऐसा कहा जाता है कि उनमें अलौकिक उपचार की शक्ति होती है और वह भक्तों को असंभव को संभव बनाने में मदद करती हैं. पीकाॅक ग्रीन (मोर जैसा हरा रंग) इस दिन का शुभ रंग है. ऐसी मान्यता है कि अर्द्धनारीशवर शिव का आधा अंग देवी सिद्धिरात्री का ही है." 

देखिये 'Doosri Maa' रात 8:00 बजे, 'Happu Ki Ultan Paltan' रात 10:00 बजे और 'Bhabiji Ghar Par Hai' रात 10:30 बजे, हर सोमवार से शुक्रवार, सिर्फ &TV पर!