मैं एक लालची अभिनेत्री हूं – रकुल प्रीत सिंह

0 24

Advertisement

बॉलीवुड की बबली अभिनेत्री रकुल प्रीत सिंह अपनी लास्ट फिल्म ‘दे दे प्यार दे’ के अपार सफलता के बाद अपनी आने वाली फिल्म ‘मरजावां’ में एक वैश्या का किरदार निभा रही हैं और इसके लिए रकुल काफी  एक्साइटेड  हैं। रकुल कहती हैं ,’आरजू का किरदार ‘मुकद्दर का सिकंदर’ में रेखा जी के किरदार से काफी हद तक इंस्पायर्ड  है। निर्देशक मिलाप मिलान झवेरी ने मुझसे कहा था कि मेरा किरदार ‘मुकद्दर का सिकंदर’ की रेखा जी ‘जीत’ की तब्बु और ‘देवदास’ की माधुरी दीक्षित से मिलता जुलता है। आरजू बहुत ही मजबूत, निर्भीक, फ्रैंक और प्यार की गहराइयों को समझने वाली औरत है।

रकुल प्रीत सिंह

अपने किरदार के बारे में रकुल कहती हैं कि यह पहली बार है जब वह किसी कॉल गर्ल का किरदार निभा रही है। रकुल तमिल तेलुगु और हिंदी मिलाकर 30 फिल्मों में काम कर चुकी हैं और ऐसा किरदार उन्होंने अभी तक नहीं किया था। इस किरदार को निभाने के लिए रकुल ने प्रिपरेशंस भी किए हैं, जिसके बारे में वो कहती हैं कि, ‘मैं बहुत से बार में गई जहां मैंने लड़कियों की नजाकत, अदा, शायरी कहने का अंदाज यह सब नोटिस किया। निर्देशक के साथ बैठकर मैंने घंटों इस बात पर भी चर्चा की कि फिल्म में मेरे बोलने का लहजा कैसा होगा। जब मुझे फिल्म के निर्देशक ने कहानी सुनाई थी तो उन्होंने मुझसे कहा कि यह एक गेस्ट अपीरियंस होगा जैसे रेखा जी मुकद्दर के सिकंदर में ज्यादा नहीं देखी थी पर उनका किरदार बहुत आईकॉनिक है उसी प्रकार का यह किरदार है  तो मैंने भी सोचा कि किरदार भले ही छोटा है पर किसी भी अभिनेत्री के लिए इस तरह का किरदार निभाना बहुत मुश्किल होता है। मुझे पता है कि मेरी जैसी न्यू कमर के लिए ऐसा किरदार रिस्की है पर मैंने रिस्क लेने का निर्णय ले लिया। वेश्याओं के बारे में रकुल कहती है कि, ‘मैं निजी जीवन में भी जजमेंटल नहीं हूं। मैं लड़कियों को उनके प्रोफेशन के हिसाब से जज नहीं करती। सबके जीवन में अलग-अलग परेशानियां होती हैं। बहुत सी लड़कियों को अच्छी शिक्षा मिलने का सौभाग्य प्राप्त नहीं होता और वह किसी न किसी कारण इस  दिशा में चली जाती हैं।

रकुल प्रीत सिंह

‘दे दे प्यार दे’ की सफलता पर रकुल कहती हैं कि, ‘मैंने नहीं सोचा था कि यह फिल्म इतनी ज्यादा हिट होगी। जब हम कोई फिल्म बनाते हैं तो यह बिल्कुल दिमाग में नहीं रहता कि यह बॉक्स ऑफिस पर नहीं चलेगी। और जब फिल्म चली तो मुझे बहुत खुशी हुई। लोगों ने समय निकालकर मुझे कॉल करके मेरी तारीफ की।  आयशा का किरदार लोगों को फिल्म में बहुत पसंद आया और मेरे प्रति लोगों का इतना प्यार देखकर मुझे बहुत अच्छा लगा। मुझे लगता है कि इस फिल्म में जो मेरे फेवर में रहा वो यह था कि मैंने दो सीनियर एक्टर अजय जी और तब्बू जी के साथ काम करते हुए भी अपने किरदार को ग्राउंडेड रखा।’ रकुल कहती हैं कि आप किसी भी प्रोफेशन में क्यों ना हो आप जो भी निर्णय लेते हैं, वो निर्णय लेने से पहले आपको उसके अच्छे और बुरे दोनों नतीजे के बारे में सोच लेना चाहिए ।
मेरी पहली फिल्म यारियां ज्यादा सक्सेसफुल नहीं हुई पर मैं फिर भी दिव्या कुमार को धन्यवाद देना चाहूंगी जिन्होंने मुझे इस फिल्म में एक अभिनेत्री के तौर पर ब्रेक दिया। यारियां’ ने रकुल प्रीत सिंह को इस इंडस्ट्री में इंट्रोड्यूस कराया है। ‘दे दे प्यार दे’ फिल्म चली पर ‘अय्यारी’ बॉक्स ऑफिस पर नहीं चली।

रकुल प्रीत सिंह

अभी ‘मरजावां’ के रिलीज के बाद रकुल कहती हैं कि, ‘मैंने चार फिल्में साइन कर रखी हैं पर मैं अभी  उनके बारे में नहीं बता सकती हूं। अभी मैं सिर्फ एक तेलुगू फिल्म जो मैं नितिन के साथ कर रही हूं जिसमें मेरा एक क्रिमिनल लॉयर का किरदार है और दूसरा इंडियन2 में कमल हसन के साथ काम कर रही हूं उसके बारे में बता सकती हूं. कमल हसन सर के साथ काम करके मुझे बहुत अच्छा लग रहा है क्योंकि मैं उन्हें बचपन से देख रही हूं। मेरी बचपन में पसंदीदा फिल्म थी ‘चाची 420′ ।कमल हासन इनसाइक्लोपीडिया है और मैं हमेशा उन अभिनेताओं के साथ काम करना चाहती हूं  जिनको मेरे से ज्यादा पता हो और मैं उनसे कुछ सीख पाऊं। सिद्धार्थ मल्होत्रा भी मुझे बहुत कंफर्टेबल फील कराते हैं। मैं उनसे भी बहुत कुछ सीखती हूं।
अगर मैं पहले साउथ में ज्यादा फिल्में करती थी तो अब मैं बॉलीवुड में ज्यादा कंसंट्रेट कर रही हूं। मेरी सारी फिल्में अगले साल रिलीज होगी इंडियन 2 भी। मैं यह कभी नहीं भूल सकती कि साउथ इंडस्ट्री ने मुझे पहचान और पैसा दिया है तो मैं साउथ इंडस्ट्री में काम करना कभी नहीं छोडूंगी।’

रकुल प्रीत सिंह
ओटीटी प्लेटफॉर्म के बारे में पूछने पर रकुल कहती हैं कि, ‘डिजिटल इंडस्ट्री ने हमारे इंडस्ट्री को और बेहतर कंटेंट पर फिल्में बनाने के लिए प्रोत्साहित किया है। और मुझे ओटीटी प्लेटफॉर्म पर काम करने में कोई दिक्कत नहीं अगर मेरे पास कोई ऐसा किरदार आये जो मैंने कभी नहीं किया हो,जैसे कॉन्टिको में प्रियंका चोपड़ा का किरदार था। मेरी बायोपिक भी करने की इच्छा है जैसे परिणीति चोपड़ा कर रही है।  मैं सानिया मिर्जा की बायोपिक में काम करना जाती हूं। मैं धार्मिक फिल्मों में भी काम करना चाहती हूं क्योंकि मेरा फेस थोड़ा इंडियन फेस है।
बहुत कम लोगों को पता होगा कि रकुल प्रीत के भाई अमनप्रीत सिंह ना सिर्फ तेलुगु बल्कि हिंदी फिल्म ‘राम राज्य’ में भी दिखने वाले हैं। इसके बारे में रकुल प्रीत सिंह कहती है कि, ‘मेरे भाई ने मुझे कहा था कि उसे भी अभिनय करना है और मैंने उससे कहा कि तुम्हें अपना रास्ता खुद बनाना होगा। इसमें मैं तुम्हारी कोई मदद नहीं कर सकती।और मुझे बहुत खुशी है कि मेरे भाई ने खुद अपनी पहचान बनाई है। मुझे बहुत बुरा भी लगता है कि वह कौन सी तेलुगु फिल्में कर रहा हैं मुझे उनका नाम तक नहीं पता। मैंने पिछले 10 सालों में जो कुछ भी किया है वो अपने बलबूते किया है। मेरे भाई को भी अपना रास्ता खुद ही ढूंढना होगा। मैं  उसको लोगों का कांटेक्ट नंबर दे सकती हूं पर मैं लोगों से यह नहीं कह सकती कि वह मेरे भाई को काम दें।

रकुल प्रीत सिंहजाते-जाते रकुल कहती है,  ‘मैं किसी भी शुक्रवार को अपने ऊपर हावी नहीं होने देती। अगर फिल्म चलती है तो भी मैं खुश होती हूं क्योंकि मुझे नये अवसर मिलते हैं और ऐसा लगता है कि मुझे अब 100 गुना ज्यादा अच्छा काम करना है। मैं सफलता को भी अपने सर पर नहीं चढ़ने देती हूं और ना ही असफलता को खुद को रोकने देती हूं। मैं खुश हूं कि मैं जो कुछ भी कर रही हूं उसमें सक्षम हूं। क्योंकि बहुत से लोगों को यह भी नहीं पता होता कि उनका पैशन क्या है और बस ऐसे ही जी रहे होते हैं। मैं अपने पैशन के साथ जी रही हूं।

➡ मायापुरी की लेटेस्ट ख़बरों को इंग्लिश में पढ़ने के लिए www.bollyy.com पर क्लिक करें.
➡ अगर आप विडियो देखना ज्यादा पसंद करते हैं तो आप हमारे यूट्यूब चैनल Mayapuri Cut पर जा सकते हैं.
➡ आप हमसे जुड़ने के लिए हमारे पेज FacebookTwitter और Instagram पर जा सकते हैं.

Advertisement

Advertisement

Leave a Reply