जिंदा रहा तो रणबीर के बच्चों संग जरूर काम करूंगा- प्रेम चोपड़ा

1 min


अगर आपको लगता है की जिंदगी सच में छोटी होती है तो एक बार आप हिंदी सिनेमा के जिंदादिल लीजेंड सर प्रेम चोपड़ा जी से बात करिए आपको जिंदगी बड़ी लगने लग जाएंगी जी हां इंडियन सिनेमा के एकलौते एक्टर जिन्होंने कपूर खानदान के लगभग हर एक्टर संग काम किया और 82 साल की उम्र में वो दावा करते है कि मैं रणबीर के बच्चों संग भी काम करूंगा। उनकी ये बातें सुनकर और उनसे बात करके भई मुझे अपनी छोटी जिंदगी जरूर बड़ी लगने लगी है। हाल ही में एक फिल्म के सिलसिले में हुई उनसे हुई टेलिफॉनिक बातचीत के अंश कुछ इस प्रकार है।

भोजपुरी फिल्म ‘हल्फा मचाके गईल’ में काम करके आपको कैसा लगा, आपके अलावा भी इसमें कई दिग्गज एक्टर्स एकसाथ नजर आ रहे हैं ?

– वो क्या है कि रमेश नय्यर जो मेरा बहुत पुराना दोस्त है तो उसका लड़का कर रहा है ना राघव बतौर हीरो डेब्यू तो उसने कहा आप फिल्म कर रहे हैं तो मैंने फिर हां कर दी फिर रंजीत भी आ गया रजा मुराद भी आ गया तो हम लोगों ने फिर गाने में एकसाथ डांस किया है बस इतना ही था हमारा काम।

सर क्या ये आपकी पहली भोजपुरी फिल्म है ?

जी हां ये पहली भोजपुरी फिल्म लेकिन मेरा इसमें एक छोटा सा अपीयरेंस ही है 

इस फिल्म से राघव नय्यर पहली बार डेब्यू कर रहे हैं, उनके बारे में आप क्या कहेंगे ?

राघव बड़ा मेहनती लड़का है और अच्छा एक्टर भी हैं मैंने देखा थोड़ा बहुत ट्रेलर बड़ा अच्छा काम किया है वो बहुत जल्दी हिंदी फिल्मों जगह बना लेगा।

आपके लगभग 60 साल के करियर में आपकी कोई ऐसी फिल्म जो यादगार रही हो ?

देखिए हमारी हर फिल्म यादगार होती है हम पूरी ईमानदारी से काम करते हैं कोई फिल्म होती है हमें बहुत पसंद आती है हम ये सोचते हैं कि यह फिल्म धमाका कर देगी लेकिन वही पिक्चर नही चलती जो पिक्चरे चलती है वो ऑडियंस के वजह से चलती है तो इसलिए हमारी च्वॉइस नही होती है च्वॉइस होती है ऑडियंस की।

सर आपने कभी राजनीति में जाने के बारे में नहीं सोचा आपके कई साथी कलाकार पॉलिटिक्स में किस्मत अजमा चुके है कुछ अभी सक्रिय है ?

मुझे ऑफर हुए थे मुझे ऑफर हुए है लेकिन मैं नहीं जाना जाता मैं एक दो दफा गया था प्रचार करने के लिए और जहां-जहां प्रचार किया वहां से वो कैंडिडेट जीते और बाद में फिर ऑफर भी मिले उन्होंने कहा आ जाइए फिल्मों में काफी काम कर लिया लेकिन मैंने ये कहकर मना कर दिया मैं इस उम्र में आकर राजनीति नहीं करना चाहता मैं आराम से अपनी जिंदगी बसर करना चाहता हूं। 

कोई अपकमिंग फिल्म्स ?

भई आनेवाली फिल्म है एक तो पहलाज निहलानी की फिल्म है ‘रंगीला राजा’ इस फिल्म में गोविंदा के गुरू का रोल कर रहा हूं बहुत अच्छी पिक्चर है ये। दूसरी एक अमेरिकन फिल्म है ‘द फील्ड’ उसमें अमेरिकन एक्टर्स भी है इंडियन एक्टर्स भी है इस फिल्म में गॉडफादर का रोल कर रहा हूं बतौर इंडियन एक्टर्स और चार-पांच पिक्चरें और है अब देखो कौन-सी मुक्कमल होती है और कौन-सी कामयाब।

आप किस तरह के रोल करना पसंद करते हैं ?

मैं हर किस्म के रोल करना पसंद करता हूं आजकल मैं जो भी रोल कर रहा हूं वो पॉजिटिव कैरेक्टर जैसे सेंटर कैरेक्टर है भी है। और आगे कोई अच्छा रोल मिलता है तो मैं आपको जरूर बताऊंगा।

क्या आपको लगता है अब लोग डिफरेंट स्टोरी देखना पसंद करते हैं ?

जी बिल्कुल अब ट्रेंड चेंज हुआ है जैसे हाल ही रिलीज हुई है ना 102 नॉट आउट कामयाब हुई है अब कंटेट चेंज हो रहा अब कंटेट ही देखना पसंद करते हैं लोग और ये बहुत जरूरी भी था। 

पहले के कलाकारों और आज कलाकारों में क्या फर्क, क्या आज के कलाकारों को पहले के कलाकारों से ज्यादा हार्डवर्क करना पड़ता है ?

देखिए उन दिनों में तो हम बहुत जुट कर काम किया करते थे क्योंकि हमें मालूम था आपका काम ही आपको आगे काम दिलाएगा आजकल इतना कॉम्पिटिशन है पहले हाथों में स्क्रिप्ट नहीं होती थी नक्शा होता था आजकल लोग स्क्रिप्ट लेकर जाते हैं और ये अच्छी है पॉजिटिव है जहां तक आज के आर्टिस्टों का सवाल है तो टेक्निकली क्वालिफाइड है और वैसे भी कोई भी आर्टिस्ट परफॉर्म करता है तो चलता है कोई यहां एहसान नहीं करता यहां बाप बेटे को चांस देता लेकिन बेटा नही चलता है तो हेल्पलेस हो जाता है फिर दूसरा सेटअप बनाना पड़ता है।

सर आपने कपूर खानदान के हर एक्टर के साथ काम किया और आपने ‘रॉकेट सिंह सेल्स मेन ऑफ द इयर’ करते वक्त रणबीर कपूर से कहा था की देखना मैं तुम्हारे बच्चों के साथ भी फिल्म करूंगा इस बारे में आप क्या कहना चाहेंगे ?

भई बहुत बढ़िया है पृथ्वीराज कपूर टू रणबीर कपूर, पृथ्वीराज कपूर फिर शम्मी कपूर, राजकपूर, शशि कपूर फिर नीचे आ जाइए ये डब्बू कपूर (रणधीर कपूर) चिंटू (ऋषि कपूर) वो आपने करिश्मा-करीना के साथ काम किया करीना के साथ एजेंट विनोद की उसके बावजूद नीतू सिंह और बबीता के साथ भी कई पिक्चरे की उनकी फैमिली से छोड़ा नहीं मैंने कोई अभी देखिए रणबीर कपूर बचा वो भी हो गया अभी देखो जब तक जिंदा है कुछ ना कुछ होगा ही। 

आपको के.आसिफ सर हीरो बनाना चाहते थे लेकिन उनकी तबीयत दुरुस्त नहीं रहती थी इसलिए आपने निगेटिव किरदार निभाने शुरू कर दिए ?

हां आसिफ से मेरी बात हुई थी उन्होंने कहा था में तुम्हें ब्रेक दूंगा अब नया-नया शिमला से आया था यहां नौकरी वौकरी की तलाश में नौकरी मुझे मिल गई थी तो वो बोले शाम को तुम आ जाया करो यहां पर तो मैं शाम चला जाया करता था लेकिन मैंने देखा उनकी तबीयत ज्यादा खराब हो रही है तो मुझे लगा पता नहीं पिक्चर बना पाएंगे या नही वो तो मुझे अपनी नौकरी का डर था और उस दौरान मुझे फिल्म ऑफर हो रही थी तो मुझे जो रोल ऑफर हुए मैंने वो कर लिए। अब एक पिक्चर थी उसका नाम था वो कौन थी इस फिल्म में मेरा रोल तो बहुत छोटा था बहुत सस्पेंस पिक्चर थी महमूद साहब गेस्ट थे इत्तेफाक से उनके यहां ही में शूटिंग कर रहा एक पंजाबी पिक्चर की तो वो सेट पर खासतौर पर मुझसे मिलने आए और बोले मैंने तुम्हें कहा था काम नहीं करना कर दी न गड़बड़ अब तुम विलेन बन गए हो विलेन का ही रोल ही किया करोगे मैंने कहा मेरा मजबूरी है फिर उन्होंने कहा चलो देखेंगे आगे।

➡ मायापुरी की लेटेस्ट ख़बरों को इंग्लिश में पढ़ने के लिए  www.bollyy.com पर क्लिक करें.
➡ अगर आप विडियो देखना ज्यादा पसंद करते हैं तो आप हमारे यूट्यूब चैनल Mayapuri Cut पर जा सकते हैं.
➡ आप हमसे जुड़ने के लिए हमारे पेज Facebook, Twitter और Instagram पर जा सकते हैं.

 


Like it? Share with your friends!

Pankaj Namdev

अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिये