पहले जूही चावला को ऑफर हुआ था महाभारत की द्रौपदी का किरदार….फिर रूपा गांगुली का हुआ चयन

1 min


Draupadi

रामायण की सीता के बाद अब महाभारत की द्रौपदी को भी जानें करीब से…

90 के दशक के दो बड़े ही पॉपुलर शो रामायण और महाभारत। दोनों में से कौन ज्यादा लोगों के बीच लोकप्रिय था इसका अंदाज़ा भी लगाना मुश्किल हैं। लॉकडाऊन के दौरान दोनों ही शो की वापसी हो चुकी है और दोनों ने ही दूरदर्शन को जीवनदान दिया है। रामायण की सीता, राम लक्ष्मण और बाकी किरदारों के बारे में तो आपने बहुत कुछ जान लिया। अब बारी है महाभारत की जिसका केंद्र एक ही किरदार में समाया है वो है द्रौपदी।

द्रौपदी ना होती तो ना होती महाभारत….

Draupadi

Source – Pinterest

अकसर आपने बड़े बूढों को ये कहते हुए सुना होगा कि अगर द्रौपदी ना होती तो शायद महाभारत भी ना होती। और काफी हद तक ये बात सही भी है। अगर वाकई द्रौपदी ना होती तो महाभारत होती ही नहीं। द्रौपदी ही तो केंद्र बिंदु थीं महाभारत की। 

बी आर चोपड़ा की महाभारत में रूपा गांगुली बनीं द्रौपदी…

बी आर चोपड़ा की महाभारत में किरदार बहुत ही चुन चुन कर लिए जा रहे थे। हर किरदार का चयन बड़े ही सोच समझ कर किया जा रहा है। ऐसे में द्रौपदी के लिए ऐसे चेहरे की ज़रूरत थी जिसके मुख पर तेज तो हो ही साथ ही विषम परिस्थितियों के दौरान चेहरे पर किसी तरह की घबराहट ना दिखे बल्कि एक हिम्मत नजर आए लिहाज़ा चुनाव हुआ कोलकाता में पैदा हुई रूपा गांगुली का। और रूपा गांगुली ने अपने अभिनय से किसी को भी निराश नहीं किया। उन्होने जो द्रौपदी का रोल निभाया वो वाकई अमर हो गया। इसके बाद भी रूपा गांगुली ने कई फिल्मों में काम किया लेकिन उन्हे ऐसी लोकप्रियता हासिल नहीं हो पाई।

जूही चावला को ऑफर हुआ था ये किरदार

Draupadi

Source – Biz Asia

रूपा गांगुली इस रोल के लिए एकदम सही चुनाव था लेकिन ये बात शायद बहुत ही कम लोग जानते होंगे कि बी आर चोपड़ा की महाभारत में द्रौपदी का किरदार पहले जूही चावला को ऑफर किया गया था। जी हां…पहले उन्हे ही इस रोल के लिए चुना गया था लेकिन उस वक्त उन्हे कयामत से कयामत तक फिल्म पूरी करनी थी। लिहाज़ा वो ये रोल नहीं कर पाई। और ये किरदार रूपा गांगुली के हाथों में चला गया। 

गुफी पेंटल ने किया महाभारत के किरदारों का चयन

खास बात ये है कि 1988 में आई बी आर चोपड़ा की महाभारत के लिए किरदारों का चयन गुफी पेंटल ने किया था। अब आप सोच रहे होंगे गुफी पेंटल कौन थे। दरअसल, महाभारत में शकुनि का बनने वाले ही गुफी पेंटल थे। जो उस समय के जाने माने असिस्टेंट डायरेक्टर और कास्टिंग डायरेक्टर थे। लिहाज़ा किरदारों के चयन का काम इन्हे ही सौंपा गया। इन्होने ही सभी एक्टर्स के ऑडिशन लिए। जब द्रौपदी के चयन की बारी आई तो पहला नाम जूही चावला का आया लेकिन उन्होने इस रोल के लिए मना कर दिया। और फिर चुना गया द्रौपदी को। जिन्होने इससे पहले भी कई धारावाहिकों में काम किया था।

और पढ़ेंः असल ज़िंदगी में भी पति – पत्नी थे रामानंद सागर की रामायण के दशरथ और कौशल्या…