मूवी रिव्यू: हैवानियत की पराकाष्ठा ‘मर्दानी 2’

1 min


'मर्दानी 2'

रेटिंग****

हर रोज अखबारों और टीवी चैनलों पर रेप की न्यूज पढ़ और सुनकर ऐसा लगता है जैसे हमारी महिलाओं और बच्चियों को नोचने के लिये चारों तरफ वहशी दरिंदे घूम रहे हों। हाल ही में हैदराबाद में एक वैटनरी डॅाक्टर का रेप और फिर उसे जलाकर मारने के अपराधियों को पुलिस ने एनकाउंटर कर मार गिराया। इसके लिये हैदराबाद पुलिस की पूरे देश ने प्रशंसा की। इसके अलावा उन्नाव में हुये कांड ने भी पूरे देश को हिला कर रख दिया। ऐसे वक्त में गोपी पुथरान द्धारा निर्देशित फिल्म ‘मर्दानी 2’ ऐसे ही एक वहशी दरिंदे की हैवानियत की पराकाष्ठा और एक जांबाज मर्दानी पुलिस ऑफिसर के बीच रस्साकसी की कहानी पेश करती है ।

कहानी

राजस्थान के कोटा शहर में आईपीएस शिवानी (रानी मुखर्जी) ट्रांसफर होकर आती है। आते ही उसका सामना एक बेहद र्दुदांत रेपिस्ट (विशाल जेठवा) से होता है। शिवानी के पास एक ऐसी लड़की का केस आता है, जिसे बुरी तरह रेप करने के बाद प्रताड़ित कर मार दिया गया। दरअसल कोटा शहर में देश के विभिन्न राज्यों से विद्यार्थी पढ़ने के लिये आते हैं। इस रेपिस्ट और हत्यारे को शिवानी पकड़ने का एलान करती है। इस चेलेंज को रेपिस्ट विशाल जेठवा अपना अपमान समझता हैं लिहाजा वो शिवानी को चेलेंज करते हुये लगातार हत्या और रेप करता चला जाता है । आखिर एक दिन शिवानी इस र्दुदांत मानसिक विकृति वाले अपराधी को पकड़ने में कामयाब होकर दिखाती है।

अवलोकन

रेप और हत्याओं पर आधारित इससे पहले कई फिल्में आ चुकी हैं लेकिन गोपी पुथरान ने फिल्म में कहानी को रोंगटे खड़े कर देने वाले इस अंदाज में पेश किया है । कि एक वक्त हैवानियत की पराकाष्ठा देखने को मिलती है। एक मानसिक विकृति वाला अपराधी इस कदर शातिर अंदाज में पुलिस से दो कदम आगे चलते हुये अपराध करता रहता है। एक समय तो उसे परदे पर देखते हुये डर लगने लगता है। फिल्म बहुत ही असरदार ढंग से बताती है कि आज महिलायें समाज में इस कदर असुरक्षित हैं कि अपराधी उन्हें बेखौफ अपनी हवस का शिकार बना रहे हैं। यही नहीं औरत और पुरुष की समानता की बात भी फिल्म प्रभावी ढंग से करती है। कहानी बहुत कम वक्त लेते हुये इस कदर तेज है कि पहला भाग तो अपराधी के अपराध करने के तरीके को देखते हुये सांस रोकने पर मजबूर कर देता है । दूसरा भाग उससे कहीं ज्यादा दिलचस्प बन पड़ा है फिल्म का क्लाईमेंक्स इतना दिलचस्प और हैरान कर देने वाला है कि दर्शक अपने आप तालियां बजाने लगता है ।

अभिनय

शिवानी की भूमिका में रानी मुखर्जी ने लाजवाब अभिनय किया है। उसकी बॉडी लैंग्वेज, संवाद अदायगी और एक्शन सभी कुछ जबरदस्त है लेकिन फिल्म का सरप्राइज पैकेज है खूंखार विलन के तौर पर विशाल जेठवा। उसके र्दुदांत कारनामे देख दर्शक सिहर उठते हैं। अपनी जबरदस्त अदायगी से वो पूरी फिल्म में रानी से कहीं भी बीस साबित नहीं होता, वो भी जब कि ये उसकी पहली फिल्म है। इनके अलावा सहयोगी कलकारों का काम भी सराहनीय रहा।

क्यों देखें

थ्रिलर क्राइम फिल्मों के शौकीन दर्शकों के लिये फिल्म में काफी कुछ है।

➡ मायापुरी की लेटेस्ट ख़बरों को इंग्लिश में पढ़ने के लिए www.bollyy.com पर क्लिक करें.
➡ अगर आप विडियो देखना ज्यादा पसंद करते हैं तो आप हमारे यूट्यूब चैनल Mayapuri Cut पर जा सकते हैं.
➡ आप हमसे जुड़ने के लिए हमारे पेज FacebookTwitter और Instagram पर जा सकते हैं.

SHARE

Mayapuri