‘अनुपमॉं’ के समर ने कहा, ‘मेरे कैरेक्टर ने एक नई पहचान दी है’

1 min


पारस कलनावत काफी कम समय में राजन शाही की शो “अनुपमा” में समर शाह के कैरेक्टर में दर्शक उन्हें खूब पसंद कर रहे हैं. इस शो में उन्होंने  ‘एक अच्छा लड़का’ और ‘एक अच्छे बेटे’ की भूमिका निभाई है.

जो बेटा अपनी माँ की आँखों में आँसू नहीं देख सकता है. वह हमेशा  खुश रहने वाला लड़का है. और उसे अपनी माँ के उदास चेहरे के अलावा दुनिया की कोई भी चीज उसे परेशान नहीं कर सकती.

समर

उन्होंने इस शो को लेकर कहा है कि इसी ऑन-स्क्रीन कैरेक्टर के कारण वो इस शो के लिए तैयार हुए.  उन्होंने आगे ये भी कहा है कि उनकी आॉन-स्क्रीन कैरेक्टर ने उन्हें एक नई पहचान दी है.

“जब मैंने ये कहानी सुनी तो मैंने सोच लिया, मुझे यह शो करना ही है, भले ही मुख्य किरदार मेरी मां का होगा. उस समय मैं एक वेब सीरीज कर रहा था और वहां से टीवी पर वापस आना मेरे लिए सही फैसला था क्योंकि मैंने शो किया है.

अनुपमा

लोगों से मुझे काफी प्यार मिल रहा है, क्योंकि मैं ‘प्यारा बच्चे’ का कैरेक्टर निभा रहा हूं. भले ही मैं एक मुखौटा पहने हुए हूं लेकिन लोग मुझे पहचानते हैं और मुझसे कहते भी हैं कि वे चाहते हैं कि उनका बेटा मेरे जैसा हो.

“मुझे ये सुनकर बहुत अच्छा लगता है कि लोग मुझे समर के रूप में पहचानते हैं, इसने मुझे एक नई पहचान दी है.

पारस कलनावत ने इस शो के नए एपिसोड के ट्विस्ट के बारे में खुलासा भी किया और उन्होंने बताया कि  आनेवाले एपिसोड में एक के बाद एक खुलासे और टकराव होंगे क्योंकि परिवार को वनराज और काव्या के संबंध के बारे में पता चलेगा.

उन्होंने अपने कैरेक्टर के बारे में कहा, “समर के किरदार में दर्शकों को भारी बदलाव देखने को मिलेंगे. जब समर को काव्या के साथ अपने पिता के अफेयर के बारे में पता चलेगा, और ये भी पता चलेगा कि नंदिनी ने उससे छिपाया  था. ,

लोगों को समर का एक नया पक्ष देखने को मिलेगा. वे देखेंगे कि उनके जैसा खुशमिजाज किस्म का लड़का अपनी मां के लिए बोल भी सकता है और उसके लिए क्या सही है.

अभिनेता ने यह भी शेयर किया कि दर्शक, जो वनराज और काव्या के मामले में अनुपमा की प्रतिक्रिया को देखने के लिए इंतजार कर रहे थे, उनको सभी जवाब मिलेंगे.

उन्होंने कहा कि शो का ट्रैक काफी अच्छा चल रहा है और यह पूरी कहानी को बदल देगा. यह एक अद्भुत ट्रैक होने जा रहा है और मुझे यकीन है कि लोग इसे जरूर पसंद करेंगे.

उन्होंने अपनी ऑन-स्क्रीन मां रूपाली गांगुली के साथ अपने बॉन्ड के बारे में भी बात की. उन्होंने बताया कि वे रूपाली गांगुली को को ऑफ-कैमरा भी मम्मी  ही कहते हैं.

उन्होंने कहा, “शुरुआत में, मैं उन्हें मैम कहता था. वह ‘साराभाई’ के बाद से मेरी आदर्श हैं. अब ‘अनुपमा’ में उनके बेटे का किरदार निभाना मेरे लिए बहुत अच्छा मौका है. लेकिन अब मेरा बॉन्ड उनके साथ इतना मजबूत हो गया कि मुझे हमेशा उनको मम्मी कहने का मन करता है.

और यहां तक ​​कि उन्होंने मुझसे कहा कि मुझे मैम मत कहो.  मुझे मम्मी बुलाओ.’ “वह मुझे अपने बेटे की तरह ही मानती है, जो कुछ भी वह अपने बेटे रुद्रांश के लिए खरीदती है, वो उसे मेरे लिए भी खरीदती है. मैं उनके बहुत करीब हूं और जब मेरी छुट्टी होती है तो मैं हमेशा उन्हें फोन करता हूं और उनसे पूछता हूं कि आपको कुछ चाहिए… क्योंकि उन्हें समय नहीं मिलता है. इसलिए हम आपस में पूछ लेते हैं.

अनु- सलोनी उपाध्याय


Like it? Share with your friends!

Mayapuri

अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिये