क्या नई फिल्मों में पुराने गानों का रीमेक है सफलता का शॉर्टकट

एंटरटेनमेंट :आज के समय के कई युवाओं ने शायद ऑडियो कैसेट नहीं देखा होगा, चाहे वह पहले से रिकॉर्ड किया हुआ हो या खाली किस्म का, 1980 के दशक में, जब हर संगीत प्रेमी की शेल्फ पर ऑडियो कैसेट की मौजूदगी जरूर देखी जाती  थी

New Update
ओल्ड नई सांग
Listen to this article
0.75x 1x 1.5x
00:00 / 00:00

एंटरटेनमेंट :आज के समय के कई युवाओं ने शायद ऑडियो कैसेट नहीं देखा होगा, चाहे वह पहले से रिकॉर्ड किया हुआ हो या खाली किस्म का, 1980 के दशक में, जब हर संगीत प्रेमी की शेल्फ पर ऑडियो कैसेट की मौजूदगी जरूर देखी जाती  थी, भारत में पुरानी फिल्मों के लोकप्रिय गानों के रीमेक का प्रचलन काफी समय से देखा जा रहा है हाल ही में रिलीज़ हुई क्रू में 1993 की फ़िल्म खलनायक के मशहूर गाने 'चोली के पीछे' का रीमेक है मूल गीत लक्ष्मीकांत-प्यारेलाल ने बनाया था, जबकि नए वर्जन  के पीछे अक्षय-आईपी की जोड़ी है, गोविंदा के प्रशंसकों को हीरो नंबर 1 (1997) का 'सोना कितना सोना है' याद होगा जिसे आनंद-मिलिंद ने कंपोज किया था क्रू में इसका रीमेक भी अक्षय-आईपी ने बनाया है इसके अलावा, फिल्म में इला अरुण के राजस्थानी लोकगीत 'दिल्ली शहर में मारो घाघरो जो घुम्यो' का रीमेक है जिसे भार्ग-रोहित ने 'घाघरा' नाम दिया है. हालाँकि क्रू एक लोकप्रिय मनोरंजनकर्ता है, लेकिन जिस हद तक फिल्म पुराने गानों पर निर्भर है, वह आश्चर्यजनक है

ग़दर के गाने का बना था रीमेक 

इसके अलावा गायक सोनू निगम ने हाल ही में रिलीज़ हुए इश्क विश्क रिबाउंड के लिए इश्क विश्क (2003) के टाइटल ट्रैक को बनाया था जिसे बेहद पसंद भी किया जा रहा है बता दें पुराने गाने को अनु मालिक ने बनाया था

वहीँ सनी देओल की हाल ही में रिलीज़ हुई फिल्म ग़दर से पहले रिलीज़ हुई फिल्म ग़दर में मै  निकला गड्डी  लेके निकला उदित नारायण ने गाय था वहीँ फिल्म के दुसरे पार्ट में वही गाना उनके बेटे आदित्य नारायण ने गाया  था जिसे बेहद किया गया था 

आरडी बर्मन के गाने हुए थे रिक्रिएट 

संगीतकार प्रीतम रेडी (2011) के ‘कैरेक्टर ढीला है’ और शहजादा (2023) के ‘कैरेक्टर ढीला 2.0’ में एक समान भूमिका में हैं, जिसे अभिजीत वघानी और प्रीतम ने फिर से बनाया है

तनिष्क बागची ने पड़ोसन (1961) के क्लासिक ‘एक चतुर नार करके सिंगार’ को फिर से बनाने की हद तक कोशिश की ‘चतुर नार’ का नया वर्जन मशीन (2017) में दिखाया गया आरडी बर्मन द्वारा रचित पड़ोसन सांग इन्ही में से एक उदाहरण है.

 

फिल्म मशीन के पास इसी तरह का एक और गाना था: ‘चीज़ बड़ी’, जो मोहरा (1994) के ‘तू चीज़ बड़ी हूँ मस्त मस्त’ का रीमेक है जब किसी पुराने गाने को नए रूप में आइटम नंबर के लिए इस्तेमाल किया जाता है, तो वह जादू कर सकता है टोटल धमाल (2019) में, गौरव-रोशिन द्वारा रीक्रिएट किए गए 'मुंगड़ा' के साथ सोनाक्षी सिन्हा के डांस मूव्स बहुत हिट हुए

सनी लियोनी ने बिखेरा था जलवा 

राजेश रोशन द्वारा रचित 'इनकार' (1977) के सांग में बॉलीवुड की ओरिजनल डांसिंग क्वीन हेलेन थीं, और जिसकी सफलता में गाने का बेहद महत्व था,कल्याणजी-आनंदजी द्वारा रचित कुर्बानी (1980) का 'लैला हो लैला' जिसमें जीनत अमान ने स्क्रीन पर जलवा बिखेरा था, रईस (2019) में 'लैला मैं लैला' के रूप में फिर से जन्म लिया जिसमें सनी लियोन के डांस स्टेप्स पूरी तरह से फिट बैठे रीमेक में राम संपत का योगदान कम था, जो असल ट्रैक की लोकप्रियता को देखते हुए एक अच्छी बात थी

सोनम कपूर का गाना भी हुआ था फेमस 

कई बॉलीवुड फिल्मों ने अपने शीर्षक हिट गानों से लिए हैं ,फ़िल्म एक लड़की को देखा तो ऐसा लगासांग फिल्म ए लव स्टोरी  में इसी नाम का एक लोकप्रिय गीत है, जिसे आर.डी. बर्मन ने बनाया था नई फिल्म का शीर्षक गीत 'एक लड़की को देखा तो ऐसा लगा' रोचक कोहली द्वारा उसी आर.डी. बर्मन के गीत का रीक्रिएटेड वर्जन है दिलचस्प बात यह है कि जहां सोनम कपूर ने फिल्म एक लड़को को देखा तो ऐसा लगा में अभिनय किया, वहीं उनके पिता अनिल कपूर ने पुरानी फ़िल्म में मुख्य भूमिका निभायी 

Read More

शर्मिला टैगोर के पहली बार बिकनी पहने पर पति मंसूर का रहा था ये रिएक्शन

बिग बॉस ओटीटी 3 से नीरज गोयत के एलिमिनेशन के बाद, ये सदस्य हुए नॉमिनेट

परिवार के नाम रामायण बेस्ड बताते हुए सोनाक्षी ने खुद को कहा शूर्पणखा

कॉफ़ी विद करण सीज़न 9, 2025 में आएगा वापस

Latest Stories