समाज में अपने योगदान के लिए रामायण की सीता दीपिका चिखलिया ने मोदी सरकार से की पद्म सम्मान की मांग

1 min


Actress Dipika Chikhlia, Ramayan, Ramayan Ki Sita

मोदी सरकार से रामायण की सीता मांग रही हैं सरकारी सम्मान

रामानंद सागर की रामायण में सीता का किरदार निभाने वाली एक्ट्रेस दीपिका चिखलिया मोदी सरकार से पद्म सम्मान देने की मांग कर रही है। इसके लिए उन्होने समाज में अपने योगदान का हवाला दिया है। उनका कहना है कि अगर वाकई रामानंद सागर की रामायण ने देश की संस्कृति में कुछ योगदान दिया है तो सरकार इसके कलाकारों को सम्मान देने के बारे में सोचें।

दूरदर्शन पर प्रसारित हो रहा है रामायण

आपको बता दें कि जब लॉकडाऊन हुआ तो दूरदर्शन पर रामानंद सागर की रामायण दिखाने का फैसला लिया गया था। जिसके बाद लोगों में इसे लेकर काफी उत्साह देखने को मिला। उस दौर की पीढ़ी से लेकर इस दौर की जनरेशन तक को ये धार्मिक सीरियल काफी पसंद आया और इसकी टीआरपी ने भी हर रिकॉर्ड को तोड़ दिया। जिस दूरदर्शन को लोग देखना तक नहीं चाहते थे वो दूरदर्शन पिछले डेढ़ महीने से टीआरपी में नंबर वन पर है। इस रामायण में अरुण गोविल ने राम का किरदार निभाया तो वहीं सीता के किरदार में दीपिका चिखलिया नज़र आई थीं। रामायण के बाद उत्तर रामायण का भी प्रसारण हुआ था जो अब संपन्न हो चुका है।

1987 में आई रामायण उस वक्त भी हुई थी ज़बरदस्त हिट

रामानंद सागर की रामायण सबसे पहले 1987 में आई थी। उस वक्त भी रामायण को लेकर कुछ ऐसा ही क्रेज़ था जैसा आज देखा जा रहा है। उस दौर में जब ये सीरियल टेलीकास्ट होता था तो सड़कों पर लॉकडाऊन जैसा ही माहौल नज़र आता था क्योंकि लोग इसे देखने के लिए अपने टीवी स्क्रीन से हटते ही नहीं थे। इस सीरियल में काम करने वाले कलाकारों को लोग पूजने लगे थे। खासतौर से राम, सीता और लक्ष्मण को लेकर आलम ये था कि जहां भी लोग दीपिका चिखलिया, अरुण गोविल या सुनील लहरी को देखते तो उन्हे झुककर प्रणाम करते थे।

किसी भी सरकार ने नहीं किया सम्मानित

Actress Dipika Chikhlia, Ramayan, Ramayan Ki Sita

Source – Pinkvilla

हालांकि रामायण की सीता दीपिका चिखलिया इस बात से काफी दुखी हैं कि इतना बेहतरीन काम करने के बाद भी किसी भी सरकार ने आज तक इसके कलाकारों को सम्मानित नहीं किया है। उन्हे ना तो कोई नेशनल अवॉर्ड मिला, ना स्टेट अवॉर्ड और ना ही कोई दूसरा सरकारी सम्मान। उनकी मानें तो इस सीरियल में काम करने की फीस जो उन्हे मिलती थी वो इतनी कम थी कि उसे बताने में उन्हे शर्म भी आती है। यहां तक कि उन्होने आज तक अपने पति को भी रामायण में मिले अपने मेहनताने के बारे में नहीं बताया है।

पद्म सम्मान से सम्मानित करने के बारे में सोचें मोदी सरकार – दीपिका

एक्ट्रेस दीपिका चिखलिया ने कहा है कि अब मोदी सरकार ने रामायण सीरियल को एक बार फिर से दुनिया के सामने लाने का काम किया है और उसके बाद दुनिया ने उन्हे बेहद प्यार भी दिया है। अब अगर मोदी जी को लगता है कि रामायण की टीम ने संस्कृति के क्षेत्र में कुछ खास किया है तो वह हमें पद्म सम्मानों से सम्मानित करने के बारे में सोचें।

और पढ़ेंः कभी किसी ने सोचा भी नहीं होगा कि चपरासी और साबुन बेचने वाले रामानंद सागर एक दिन रामायण बना सकते हैं

 

SHARE