सोनी सब अपने नये कैम्पेन ‘सपनों का कोई जेंडर नहीं होता’ के साथ जेंडर संबंधी रूढ़ियों को चुनौती देने के लिये तैयार है

1 min


सोनी सब सफलतापूर्वक मूल्य-आधारित, सकारात्मक और प्रगतिशील कंटेन्ट को आगे लाता रहा है, जो न सिर्फ दर्शकों का मनोरंजन करते हैं बल्कि उन्हें प्रेरित भी करते हैं। इस विचारधारा को आगे बढ़ाते हुए सोनी सब ने अपने आगामी शो ‘काटेलाल एंड संस’के लिये ‘सपनों का कोई जेंडर नहीं होता’ विचार पर एक नया कैम्पेन प्रस्तुत किया है। इस कैम्पेन में एक वीडियो भी है, जो ‘खोल दिमाग का शटर’ संदेश के साथ गहरी जड़ों वाली जेंडर संबंधी रूढ़ियों को चुनौती देता है। इसके म्‍यूजिक वीडियो में शो की नायिकाओं जिया शंकर और मेघा चक्रवर्ती को दिखाया गया है। मयूर जुमानी द्वारा कम्पोज किया गया यह एक फूट-टैपिंग नंबर है और वे खुद भी इसमें दिखाई देते हैं। मयूर जुमानी एक लोकप्रिय म्‍यूजिक प्रोड्यूसर हैं, जिन्होंने कई प्रोजेक्ट्स के लिये कम्पोजिंग, मिक्सिंग और प्रोडक्शन किया है और वे ऐसे आदमी हैं, जो कई वाइरल मैशअप्स बना चुके हैं। गीत के बोल ‘‘खोल दिमाग का शटर’’ कॅरियर्स और जॉब रोल्स में जेंडर संबंधी पक्षपात पर सवाल उठाने की गुस्ताखी करता है।

एक असली कहानी से प्रेरित ‘काटेलाल एंड संस’ में सपनों को जेंडर से इतर करने की दिल को छू लेने वाली कहानी है। यह दो बहनों गरिमा (मेघा चक्रवर्ती) और सुशीला (जिया शंकर) की कहानी है, जो विपरीत समय आने पर रोहतक में एक लोकल मेन्स हेयर सैलून के अपने पिता के बिजनेस को संभालती हैं। उनके पिता धरमपाल (अशोक लोखंडे) का मानना है कि उनकी खानदानी दुकान ‘काटेलाल एंड संस’ लड़कियों को नहीं दी जा सकती, क्योंकि लड़कियाँ ऐसे पेशे के लिये नहीं होती हैं, जबकि लड़कियाँ उस दुकान को चलाने की जिद पर अड़ी हैं और बिजनेस को नई ऊँचाई पर ले जाना चाहती हैं।

इस कैम्पेन को चौतरफा इंटीग्रेटेड मार्केटिंग द्वारा प्रसारित किया जाएगा, जिसमें प्रिंट, डिजिटल, आउटडोर के अलावा पेटीएम और बिग बाजार के साथ एक रणनीतिक प्रमोशनल प्लान शामिल है। इस शो को प्रमोट करने के लिये एक मजबूत डिजिटल प्लान है और अभिनव म्‍यूजिक वीडियो ‘खोल दिमाग का शटर’ को प्रकाश में लाने के लिये प्रभावशाली लोगों की पहुँच का सहारा लिया जाएगा।


Like it? Share with your friends!

Mayapuri

अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिये