शादी के संबंध में किशोर कुमार मेरे पसंदीदा हीरो नहीं रहे हैं! – योगिता बाली

1 min


053-7 Yogeeta Bali

 

मायापुरी अंक 53,1975

आज अपने बारे में नित नई अफवाहें फैलाना फिल्म स्टारों की एक हॉबी बन कर रह गयी है इसीलिए जब भी कोई खबर मिलती है तो ऐसा प्रतीत होता है कि कहीं यह कोई ‘स्कैंडल’ तो नहीं है। और जब खबर किशोर कुमार से संबंधित हो तो लोग वैसे भी बड़ी मुश्किल से विश्वास करते हैं। उसका कारण यह है कि वह भी आई. एस.जौहर की तरह कुछ न कुछ हंगामा किये ही रहते हैं। इसीलिए वह इंडस्ट्री में ‘केक’ के नाम से मशहूर हैं। लेकिन इस बार उस ‘केक स्टार’ के साथ एक भोली-भाली लड़की योगिता बाली का नाम जुड़ा हुआ था। योगिता बाली इससे पूर्व भी कई बार धोखा खा चुकी हैं खबर फैलते ही हमें योगिता बाली पर तरस आने लगा। हमने जितनी बार यथार्थ जानने की कोशिश की, मामला उतना ही उलझता गया। रहस्य रहस्य ही बना रहा।

जुलाई के शुरू में हमे किशोर योगिता बाली की शादी की खबर मिली। हमने फोन किया तो पता चला कि यह कोरी अफवाह है। इसमें तथ्य कुछ नहीं है।

उसके कोई दस दिन बाद किशोर कुमार मिल ही गया। वह रिकॉर्डिंग सैंटर में रिकॉर्डिंग कर रहे थे। शादी के संबंध में पूछा तो बोले, पिंकी चाहे कुछ बोले लेकिन यह सत्य है कि हम शादी करने वाले हैं। अभी शादी नहीं हुई है और कब होगी यह भी नहीं बताया जा सकता? लेकिन इतना तय है कि होगी जरूर और शीघ्र ही होगी। क्योंकि शादी का ‘प्रपोजल’ योगिता बाली ने 1970 में भी रखा था और पिछले दिनों बैंगलौर में फिर शादी की बात की है।

अभी किशोर कुमार के बयान की स्याही भी नहीं सूखी थी कि योगिता बाली का एक लिखित पत्र प्राप्त हुआ जिसमें उसने शादी का खंडन किया था और लिखा था कि वह केवल किशोर कुमार की फिल्म की हीरोइन हैं इससे अधिक कुछ नहीं है।

योगिता बाली के ये खंडन पत्र पत्रिकाओं में छप ही रहे थे कि हमने 15 अगस्त को सुबह उठकर स्क्रीन देखा तो दंग रह गये। उसमें मुख्य पृष्ठ पर योगिता बाली किशोर कुमार की शादी की खबर छपी हुई थी। मुंबई में होने का लाभ उठाते हुए हमने योगिता बाली के पी.आर.ओ दीप सागर से संपर्क स्थापित किया। और वह योगिता बाली जो किसी पत्रकार से न मिलने की कसम खाये बैठी थी हमसे मिलने के लिए राजी हो गईं। हम ‘मायापुरी’ के प्रतिनिधि जैड.ए जौहर और पन्नालाल व्यास और कैमरा मैन सुरेश जेठवा को लेकर दीप सागर के साथ योगिता बाली के निवास स्थान (कोज़ी होम) पहुंच गए।

हम लोगों को देखकर पहले तो वह घबराई और उठकर चली गईं। दीप सागर भी साथ गए। वापस आकर दीप सागर ने कहा, शादी के बारे में प्रश्न न करना।

मैक्सी पहने, बिना मैकअप किये उदास, परेशान, मगर हसीन चेहरा लिये वह फिर हमारे सामने आकर चुपचाप बैठ गई।

‘आज के स्क्रीन’ में आपकी शादी की खबर पढ़ी लेकिन हमारे यहां आपका हस्ताक्षर युक्त खंडन पत्र छपा है। हम किसे सही मानें? जैड.ए.जौहर ने बातचीत शुरू करते हुए कहा।

जिसे आप चाहें सच मान ले. योगिता ने संक्षिप्त सा उत्तर दिया। और अभी आई कहकर वह उठ गईं।

योगिता के पीछे ही उसका भाई योगेश और दीप सागर भी चले गए शायद वे तीनों फिर सलाह मशवरा करने गए थे।

स्क्रीन की खबर सच है। योगिता बाली ने कमरे में आकर संभलते हुए कहा।

हमें पता चल चुका था कि 31 अगस्त को स्वागत समारोह के कार्ड छपने जा चुके हैं। शायद इसीलिए योगिता बाली ने अपने पी.आर.ओ और भाई की सलाह पर खबर की पुष्टी कर दी।

हमने कहा, इजाज़त हो तो आपसे कुछ प्रश्न कर लू?

पूछिये! योगिता बाली ने अब अपनी उदारता बिखेरते हुए कहा।

आपने फिल्म इंडस्ट्री में आने के बाद कहा था कि आप अपनी आंटी गीता बाली का रिक्त स्थान भरने की इच्छुक हैं? आप बतायेंगी कि अभी तक क्या आपको ऐसी कुछ फिल्में मिली है?

जैड.ए.जौहर ने प्रश्न किया।

गीता आन्टी जैसा रोल?

योगिता ने सोच में डूबते हुए कहा।

याद करना पड़ेगा। मैं इंटरव्यू के लिए तैयार नहीं थी। इंटरव्यू ही करना है तो कल कर लीजिए। योगिता ने कल पर टालने का प्रयास करते हुए कहा। गीता आंटी की जगह अभी तक खाली है। उनकी जगह कोई आ भी नहीं सकता।

आज कल जो आप रोल कर रही हैं वे किस प्रकार के हैं और क्या उन पात्रों से संतुष्ट हैं? हमने पूछा।

इतनी फिल्मों हैं कि इतनी जल्दी बताना कठिन है। और कुछ पूछिए ना! योगिता ने हथियार डालते हुए कहा।

शादी के संबंध में अगर कुछ पूछें तो कोई आपत्ति तो नहीं होगी आपको? हमने पूछा।

नहीं नहीं! आप पूछ सकते हैं। योगिता बाली ने ग्रीन सिग्नल देते हुए कहा।

किशोर कुमार ने अपने एक इंटरव्यू में कहा है कि जब आप लाइन में आयी थी, तभी आपने उनसे शादी प्रपोज़ की थी। क्या वाकई आपका यह रोमांटिक सिलसिला तभी से चला आ रहा है? हमने पूछा।

नहीं, शादी मैंने प्रपोज़ नहीं की थी। 1970 में मैंने अशीम कुमार की एक फिल्म उनके (किशोर कुमार) साथ साइन की थी लेकिन वह फिल्म नही बन सकी। इसी तरह शादी की बात भी वही खत्म हो गई थी। मैं नई-नई आयी थी। इसीलिए मम्मी ने मेरे करियर की खातिर शादी से इंकार कर दिया था। उसके बाद हम दोनों का मिलना तक नहीं हुआ।

पुन: आपकी किशोर कुमार से कब भेंट हुई? हमने पूछा।

4-5 साल बाद वे अपनी फिल्म ‘शाबाश डैडी’ में मुझे लेने के लिए आए कहानी मुझे अच्छी लगी, इसलिए मैंने फिल्म साइन कर ली। उसमें मेरा एक फिशर गर्ल (मच्छी पकड़ने वाली लड़की) का रोल है। योगिता ने बताया।

क्या इस बार आपने शादी की बात छेड़ी थी? हमने पूछा।

जी नही। बैंगलोर में हम लोग ‘शाबाश डैडी’ की शूटिंग कर रहे थे। तभी किशोर जी ने पुन: शादी का ‘प्रपोजल’ रखा। और मैंने तुरंत जवाब न देकर सोचने के लिए समय मांगा। और उसके बाद जो कुछ तय हुआ, वह आपके सामने हैं। योगिता बाली ने कहा।

लेकिन अखबारों में आपकी शादी के चर्चे तो काफी दिनों से हैं ऐसा क्यों? शंका का निवारण करते हुए पूछा।

हम लोग साथ घूमते फिरते थे। लेकिन उस वक्त तक शादी नहीं हुई थी। वे घर पर ही आते थे। यह देखकर अखबार वालों को लिखने का अवसर मिल गया। और उन्होंने अपने तौर पर शादी करवा दी, योगिता बाली ने बताया।

क्या किशोर कुमार आपके पसंदीदा हीरो थे? हमने पूछा।

नहीं, ऐसी कोई बात न थी मैंने उनकी ‘पड़ोसन’ के अलावा कोई फिल्म नहीं देखी। योगिता बाली ने कहा।

अभी तक जो फिल्में आपने की है, क्या आप उनसे संतुष्ट हैं? हमने पूछा।

“हूं भी और नहीं भी” योगिता बाली ने फिर ‘कन्फ्यूज’ उत्तर दिया बस, अब मैं जाऊं? कहने का अंदाज कुछ ऐसा था जैसे किसी नन्हे बच्चे को नींद आ रही हो।

एक आखिरी प्रश्न है। हमने उसे रोकते हुए कहा। भविष्य के बारे में क्या सोचा है? आप फिल्मों में काम जारी रखेंगी या फिल्म लाइन छोड़ देंगी?

अभी इस बारे में कुछ फैसला नहीं किया है। लेकिन इतना जरूर है कि जो फिल्में हाथ में है उन्हें जरूर पूरा करवाऊंगी। योगिता बाली ने उठते हुए कहा।

हमने धन्यवाद किया और उठ खड़े हुए। कोज़ी होम की लिफ्ट से उतरते हुए सोच रहे थे कि यह कैसी हीरोइन है? इतनी सीधी! इतनी भोली! अगर ऐसी न होती तो शायद बंगाल का बूढ़ा जादू कभी सिर चढ़कर न बोलता।


Like it? Share with your friends!

Mayapuri

अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिये