200 मिलियन मुस्लिम बाहर चले गए तो आपके बच्चे सुरक्षित नही रहेंगे

1 min


cab

बीते बुधवार को नागरिकता संशोधन कानून (CAA) 2019 राज्यसभा में पास हो गया है। CAB के पास होने के बाद से ही देश में जगह-जगह विरोध प्रदर्शन चल रहे हैं। लेकिन सबसे ज्यादा जामिया मिलिया इस्लामिया यूनिवर्सिटी के छात्रों द्वारा CAB  का  विरोध चर्चा का विषय बना है लेकिन उससे भी ज्यादा चर्चा और विरोध इस बात की हो रही है की पुलिस द्वारा छात्रों कि पिटाई की गई। जी हां देश में यह बात हर तबके के लोगों की जुबान पर हैं और इस विषय पर अपनी राय रखने पर बॉलीवुड कैसे पीछे रह सकता हैं। बॉलीवुड का हर सेलेब इस विषय पर अपनी राय दे रहा है कोई पुलिस द्वारा छात्रों की पिटाई करने पर सहमति जता रहा है तो कोई इसकी कड़ी निंदा कर रहा हैं। लेकिन लेखक चेतन भगत ने देश की GDP घट जाएगी और देश में बच्चे असुरक्षित हो जाएंगे यहां तक का हिसाब दे दिया। जीं हा चेतन भगत ने दो ट्वीट किए जिस बारे में आपको नीचे बताएंगे

चेतन भगत का पहला ट्वीट

‘’नोटबंदी, जीएसटी, आर्टिकल 370, CAB हर मुद्दे पर ऐलान के बाद मसले हुए हैं. इससे लगता है कि सरकार में हां बोलने वालों की एक सेना है, जो हर चीज पर अपनी सहमति दे देती है, वास्तविक संदेह नहीं उठाती. शायद फैसला लेने की प्रक्रिया के बारे में विचार किया जाना चाहिए.’’

चेतन भगत के इस ट्वीट से इस बात का अंदाजा लगा सकते हैं की उनको ना ही तो नोटबंदी का होना पसंद आया था, ना ही आर्टिकल 370 और ना ही अब CAB। इससे एक बात मालूम होती है की वो या तो बीजेपी विरोधी है या फिर फालतू की लाइमलाईट बटोर रहे हैं।

चेतन भगत के दूसरे ट्वीट को बताने से पहले नागरिकता संशोधन कानून है क्या यह बताना चाहूंगा।

इस कानून के पास होने से बांग्लादेश, पाकिस्तान और अफगानिस्तान से आए हिंदुओं के साथ ही सिख, बौद्ध, जैन, पारसी और ईसाइयों के लिए अवैध दस्तावेजों के बाद भी भारतीय नागरिकता हासिल करने का रास्ता साफ हो जाएगा. बस इतना ही।

चेतन भगत का दूसरा ट्वीट

तो चलिए अब हम आपको चेतन भगत के दूसरे ट्वीट को समझाने का प्रयास करते हैं। चेतन भगत ने अपने दूसरे ट्वीट में कहा है की आप 200 मिलियन मुस्लिमों को बाहर नही भेज सकते, अगर ऐसा किया तो इस कानून के पारित होने से GDP क्रैश हो जाएगी क्योंकि 200 मिलियन मुस्लिम बाहर चले जाएंगे और हमारे बच्चे असुरक्षित और बेरोजगार हो जाएंगे भईया हमें एक बात समझाओ यहां मुस्लिमों को बाहर करने की बात कौन से कानून में की गई और बच्चों की असुरक्षा का सवाल कहां से उठता है जबकि बीजेपी राजनेता अमित शाह ने साफ कहा की भारत के मुस्लिमो को चिंता करने की कोई जरुरत नही हैं।

 


Like it? Share with your friends!

Pankaj Namdev

अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिये