आदित्य ठाकरे, आशीष शेलार, ईशा गुप्ता, गुरमीत चौधरी और आसिफ भामला मुंबई के कार्टर रोड पर समुद्र तट की सफाई करते नजर आए

1 min


गुरमीत चौधरी

आदित्य ठाकरे, आशीष शेलार, इशा गुप्ता, गुरमीत चौधरी और आसिफ भामला बांद्रा के कार्टर रोड पर आज 28 दिसम्बर को समुद्र तट की सफाई करते हुए देखे गए, जो भामला फाउंडेशन की एक पहल है। आपको बता दें कि जब भी मौका मिलता है ईशा गुप्ता गुरमीत चौधरी और आदित्य ठाकरे सामाजिक कार्य करते हुए देखे जाते हैं। यहां मीडिया से बात करते हुए, ईशा गुप्ता ने कहा कि हमारे युवाओं को स्वच्छता का ध्यान रखना चाहिए, ताकि हम अपने शहर को साफ रख सके।

उल्लेखनीय है कि भामला फाउंडेशन की ओर से आसिफ भामला, सेहर भामला और राज लक्ष्मी पाटिल ने मुंबई के बांद्रा में कार्टर रोड बीच क्लीन अप ड्राइव का आयोजन किया, यह वॉक फॉर मंग्रोव्स का 30 वां एडिशन था। जहां आदित्य ठाकरे, एक्ट्रेस इशा गुप्ता, एक्टर गुरमीत चौधरी, आशीष शेलार और आसिफ भामला सहित सैकड़ों लोगों ने शिरकत की।

वॉक फॉर मैंग्रोव्स ‘भामला फाउंडेशन, और एसबीआई की संयुक्त पहल थी, जिसका उद्देश्य शनिवार 28 दिसम्बर को कार्टर रोड पर समुद्र तट की सफाई के बाद मैंग्रोव के महत्व के बारे में जागरूकता बढ़ाना था।

इस आयोजन को आदित्य ठाकरे ने हरी झंडी दिखाई, साथ ही वह समुन्द्र तट की सफाई करते हुए भी नजर आए। यहां छात्रों, मशहूर हस्तियों और पर्यावरण के लिए काम करने वालों सहित सभी क्षेत्रों के लोग मौजूद थे।

इस अवसर पर आसिफ भामला ने कहा कि हम पर्यावरण के सन्दर्भ में एक बेहतर कल के लिए काम कर रहे हैं। उन्होंने आदित्य ठाकरे, गुरमीत चौधरी और ईशा गुप्ता का शुक्रिया अदा किया। समुन्द्र तट की सफाई के बारे में बोलते हुए ईशा गुप्ता ने कहा कि सेलिब्रिटीज को इस तरह के आयोजनों के लिए नियमित रूप से आम जनता के बीच अधिक जागरूकता पैदा करनी चाहिए। युवा आसिफ भामला से प्रेरणा ले सकते हैं क्योंकि उन्होंने लंबे समय से समुद्र तट की सफाई की मुहिम छेड़ रखी है और हमारे समुद्र तटों को साफ रखने में बहुत महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। हम सेलिब्रिटीज के फैशन और स्टाइल को जिस तरह लोग फॉलो करते हैं, मुझे यकीन है कि हम लोग अगर पर्यावरण सुरक्षा को लेकर आवाज़ उठा रहे हैं तो लोग भी इससे जुड़ते चले जाएंगे। ईशा गुप्ता ने यहां आदित्य ठाकरे के काम की भी प्रशंसा की। उन्होंने आसिफ और सेहर भामला का शुक्रिया अदा किया और कहा कि जो पैशन उनका है वही हमारा है।

सेहर भामला ने यहां कहा कि मैंग्रोव इको सिस्टम का एक अनिवार्य हिस्सा हैं और इस बात को ध्यान में रखते हुए कि मुंबई में उनका अस्तित्व बिगड़ रहा है, हमें उन्हें बचाने की पूरी कोशिश करनी चाहिए। मैंग्रोव मुंबई में बाढ़ को रोकने में मदद करते हैं क्योंकि उनकी घनी जड़ें मिट्टी को बांधने में मदद करती हैं जो पानी को बड़ी मात्रा में सोखने में मदद करती हैं। इस तरह की पहल और उनमें भाग लेने के लिए लोगों की इच्छा हमें निरंतर प्रयास करते रहने के लिए हौसला देती है।

आदित्य ठाकरे ने यहां कहा है कि सेहर और राजलक्ष्मी जिस पैशन के साथ यह काम कर रही हैं उसके लिए वे मुबारकबाद के हकदार हैं, भामला फाउंडेशन ग्रेट जॉब कर रहा है। आदित्य ठाकरे ने यह भी कहा कि मुंबई में अर्बन फॉरेस्ट पहल के तहत चार लाख पेड़ लगाए जाएंगे।

और पढ़े: क्या अथिया शेट्टी के लिए सुनील शेट्टी को पसंद है केएल राहुल ?


Like it? Share with your friends!

Mayapuri

अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिये