आमिर खान ने तुर्की के राष्ट्रपति की पत्नी से की मुलाकात, अब हो रहे ट्रोल

1 min


आमिर खान तुर्की

आमिर खान तुर्की की प्रथम महिला एमिने एर्दोगन से मुलाकात के बाद ट्रोल हो रहे

बॉलीवुड एक्टर आमिर खान अपनी फिल्म लाल सिंह चड्ढा की शूटिंग के दौरान तुर्की की प्रथम महिला एमिने एर्दोगन से मुलाकात के बाद अब सोशल मीडिया पर ट्रोल हो रहे हैं। आमिर खान को लोग सोशल मीडिया पर देशद्रोही बता रह हैं। तुर्की की प्रथम महिला द्वारा सोशल मीडिया पर पोस्ट की गई दोनों की फोटोज सामने के बाद आमिर खान पर देशद्रोह का आरोप लग रहा है। गौरतलब है कि तुर्की उन गिने चुने देशों में से है जिसने अनुच्छेद 370 के मुद्दे पर भारत विरोधी रुख अपनाते हुए पाकिस्तान का साथ दिया था। इसके साथ ही तुर्की ने लगातार भारत के इस फैसले का विरोध किया था।a

लोगों के निशाने पर आमिर खान

बता दें कि आमिर खान ने साल 2015 में असहिष्णुता की बात करते हुए कहा था कि उनकी पत्नी किरण को देश में रहने में डर लगता है। वहीं, अब जब आमिर खान की तुर्की प्रथम महिला से मुलाकात की फोटो वायरल हुई है, तो आमिर एक बार फिर एक वर्ग के निशाने पर आ गए हैं। एक ट्वीट में कहा गया, पहले तो उन्होंने अपनी फिल्मों में हिंदू विरोधी बातों का प्रचार किया और अब वो भारत के दुश्मनों से मिल रहे हैं। आमिर खान को जरा भी शर्म नहीं आती है।

तुर्की की फर्स्ट लेडी एमिने एर्दोगन ने आमिर के साथ तस्वीरें ट्वीट करते हुए लिखा, ‘विश्वप्रसिद्ध अभिनेता, फिल्म निर्माता और निर्देशक आमिर खान से इस्तांबुल में मिलकर बहुत खुशी हुई। मैं ये जानकर बहुत खुश हूं कि आमिर ने अपनी ताजा फिल्म लाल सिंह चड्ढा की शूटिंग तुर्की के अलग-अलग हिस्सों में खत्म करने का फैसला किया है। मेरी इस पर नजर रहेगी।’

खान गैंग के तीन में से एक मसकीटियर हैं -स्वामी

आमिर पर निशाना साधते हुए बीजेपी सांसद सुब्रमण्यम स्वामी ने ट्वीट किया, मैनें पहले ही कहा था आमिर, खान गैंग के तीन में से एक मसकीटियर हैं।’ वहीं, वीएचपी प्रवक्ता विनोद बंसल ने ट्वीट किया, आजकल कुछ लोगों व अभिनेताओं को भारत विरोधियों से प्यार ज्यादा बढ़ने लगा है। दर्शक सब समझते हैं, जिन लोगों को भारतीय दर्शकों ने सिर-आंखों पर बिठा कर अभिनेता बनाया वे आज भारत विरोधी तुर्की जैसे देशों से मिलकर गौरवान्वित महसूस करते हैं तो देश के दर्शकों का आहत होना स्वाभाविक है ही! सोचना तो पड़ेगा।

तुर्की को लेकर किए गए ट्वीट को आमिर खान से जोड़े जाने पर कांग्रेस प्रवक्ता अभिषेक मनु सिंघवी ने सफाई देते हुए कहा, मुझे आमिर खान के विषय में कोई जानकारी नहीं थी। मैंने सिर्फ तुर्की पर एक लेख पढ़ने के बाद ट्वीट किया। सिंघवी ने कहा, आमिर खान स्वतंत्र नागरिक हैं, वो जिससे चाहें मिलें। आमिर खान न हमारे दूत हैं, न हमारे सांसद हैं, न सरकारी अधिकारी हैं। इसमें क्या दिक्कत हो सकती है। अब आमिर खान अगर दाउद इब्राहिम या किसी अपराधी से मिलते हैं जो भारत विरोधी काम में लिप्त हैं तो गलत होगा। आमिर खान का स्वतंत्र अधिकार है, लेकिन मैं तुर्की का विरोध करता हूं।

ये भी पढ़ें- ‘तानाजी’ के डायरेक्टर के साथ काम करेंगे प्रभास, फिल्म आदिपुरुष का पोस्टर रिलीज


Like it? Share with your friends!

Sangya Singh

अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिये