कैसे चंडीगढ़ के मिडिल क्लास लड़के से बॉलीवुड के ‘बजट सुपरस्टार’ बने आयुष्मान खुराना ?

1 min


आयुष्मान खुराना

आयुष्मान खुराना

बॉलीवुड को बैक टू बैक हिट फिल्में देने वाले एक्टर आयुष्मान खुराना आज फिल्म इंडस्ट्री में टॉप एक्टर्स की लिस्ट में शुमार किए जाते हैं। बेहद कम समय में फिल्मों में अपनी खास पहचान बना चुके आयुष्मान खुराना को कम बजट वाली फिल्में करने वाले एक्टर के तौर पर भी जाना जाता है। भले ही आयुष्मान की फिल्में कम बजट वाली होती हैं, लेकिन बिजनेस और कलेक्शन के मामले में उनकी फिल्में हमेशा सफल रहती हैं। चंडीगढ़ के छोटे से मिडिल क्लास परिवार में पैदा हुए आयुष्मान खुराना ने कुछ साल पहले तक शायद कभी नहीं ये सोचा होगा कि एक दिन वो बॉलीवुड के टॉप एक्टर्स के तौर पर पहचाने जांगे। कोई फिल्मी बैकग्राउंड न होने के बावजूद भी आयुष्मान आज एक सफल और टॉप के एक्टर हैं। उनके पिता पी खुराना एक जाने माने ज्योतिष हैं। उनकी मां पूनम खुराना एक हाउसवाइफ हैं। मतलब एक साधारण सा परिवार, जिसका दूर-दूर तक फिल्मों से कोई नाता नहीं थी, लेकिन परिवार से आने वाले आयुष्मान आज खुद तो एक टॉप स्टार हैं ही, साथ ही उनके भाई अपारशक्ति खुराना भी एक जाने माने एक्टर हैं।

दादी से मिली एक्टर बनने की प्रेरणा

14 सिंतबर 1984 को हिंदी दिवस के दिन पैदा हुए आयुष्मान जब स्कूल में थे, तब वो स्कूल में होने वाले स्टेज शो में हिस्सा लिया करते थे। एक्टर बनने का शौक उन्हें बचपन से ही था। उन्हें इसकी प्रेरणा उनकी दादी से मिली, जोकि राज कपूर और दिलीप कुमार की मिमिक्री किया करती थी। जब आयुष्मान 5 साल के थे, तब वे अपने माता – पिता के साथ पहली बार थिएटर गए, जहाँ उन्होंने माधुरी दीक्षित की फिल्म ‘तेज़ाब’ देखी थी। तभी आयुष्मान ने सोचा की अब वो एक्टर ही बनेंगे। इसके बाद आयुष्मान अपने अभिनय कौशल को बढ़ाने के लिए पंजाब यूनिवर्सिटी के थिएटर में शामिल हो गए। फिर वे डीएवी कॉलेज के ‘आगाज़’ एवं ‘मंचतंत्र’ के संस्थापक सदस्य में से एक बन गये, जोकि चंडीगढ़ में सक्रीय थिएटर समूह है. आयुष्मान ने कई नुक्कड़ नाटकों में हिस्सा लिया और अभिनय किया है.

कहां की पहली नौकरी

आयुष्मान की पढ़ाई चंडीगढ़ के सेंट जॉन हाई स्कूल और डीएवी कालेज से हुई। उन्होंने 5 साल तक थियेटर भी किया। वहीं के मशहूर थियेटर ग्रुप आगाज और मंचतंत्र के वह फाउंडर मेंबर भी रहे। उन्हें धरमवीर भारती के अंधा युग में अश्वत्थामा की भूमिका निभाने के लिए बेस्ट एक्टर का पुरस्कार भी मिल चुका है। अपनी पढ़ाई पूरी करने के बाद उन्होंने पहली नौकरी दिल्ली में रेडियो एफएम चैनल ‘बिग एफएम’ में रेडियो जॉकी के तौर पर की। यहां पर उनका कार्यक्रम ‘मान न मान मैं तेरा आयुष्मान’ काफी पाप्युलर हुआ। वह टीवी पर पहली बार एमटीवी रोडीज के सीजन-2 में नजर आये। उसके बाद वह एमटीवी पर ही पेप्सी एमटीवी वाजअप, द वाइस आफ यंगिस्तान जैसे युवाओं के लिए कार्यक्रम में वीडियो जॉकी के रूप में नजर आये। उन्होंने एमटीवी के ‘एमटीवी फुल्ली फालतू मूवीज’ में भी काम किया।

टीवी से की शुरुआत

सबसे पहले कलर्स टीवी चैनल पर वो टीवी पर एंकर के रूप में रियलिटी शो ‘इंडिया गॉट टेलेन्ट’ में नजर आये। इस शो को उन्होंने निखिल चिनप्पा के साथ होस्ट किया। उसके बाद वह स्टार प्लस पर ‘म्यूजिक का महा मुकाबला’ को होस्ट करते नजर आये। इतना ही नहीं, उन्होंने आईपीएल सीजन-3 के दौरान सेट मैक्स चैनल पर एंकरिंग भी की। इसके अलावा उन्होंने स्टार प्लस पर एक अन्य शो ‘जस्ट डांस’ के दौरान भी एंकरिंग की। उन्हें बेस्ट एंकर का कोस्मोपोलिटन फन एण्ड फियरलेस अवार्ड तथा स्टार परिवार अवार्ड भी मिल चुका है। आयुष्मान अप्सरा अवार्ड तथा स्टार परिवार अवार्ड जैसे कई अवार्ड शोज को भी होस्ट कर चुके हैं।

पहली ही फिल्म से बनाई खास जगह

आयुष्मान ने साल 2012 में आई शूजित सिरकार की फिल्म विक्की डोनर से अपना बॉलीवुड डेब्यू किया, जिसमें उन्होंने लीड रोल प्ले किया। इस फिल्म में उनके अपोजिट यामी गौतम थी। फिल्म में आयुष्मान ने विक्की अरोरा की भूमिका निभाई, जो एक स्पर्म डोनर होता है। यह एक बहुत कम बजट की फिल्म थी, लेकिन फिर भी इस फिल्म ने काफी अच्छा बिजनेस किया और फिल्म को दर्शकों और क्रिटिक्स से तारीफ भी मिली। कुल मिलाकर आयुष्मान की पहली फिल्म सक्सेसफुल रही। इस फिल्म में उन्होंने एक गाना भी गाया था ‘पानी दा रंग’, इसे भी लोगों ने बहुत पसंद किया था। अपनी पहली ही फिल्म से आयुष्मान ने लोगों का दिल जीत लिया। फिल्म के लिए आयुष्मान को कई अवार्ड्स भी मिले थे।

अब तक कर चुके हैं ये फिल्में

अपनी डेब्यू फिल्म में सफल होने के बाद आयुष्मान रुके नहीं और बॉलीवुड में एक बाद एक फ़िल्में करनी शुरू कर दी। आयुष्मान ने साल 2013 में रोहन सिप्पी द्वारा निर्देशित फिल्म ‘नौटंकी साला’ की। इस फिल्म में उनके साथ पूजा साल्वी, कुनाल रॉय कपूर और इवेलिन शर्मा ने काम किया था। फिल्म को पॉजिटिव रिस्पॉन्स मिला और कलेक्शन भी अच्छा रहा।

साल 2014 में आयुष्मान ने यश राज फिल्म्स की फिल्म ‘बेवकूफियां’ में काम किया। इस फिल्म में आयुष्मान के साथ सोनम कपूर एवं ऋषि कपूर भी थे। फिल्म में आयुष्मान ने प्लेबैक सिंगर के रूप में नीति मोहन के साथ मिलकर ‘खामखाँ’ गाना गाया था। यह फिल्म बॉक्स ऑफिस पर ज्यादा धमाल नहीं मचा सकी थी।

2014 में ही आयुष्मान ने फिल्म ‘हवाईज़ादा’ में काम किया, जोकि वैज्ञानिक शिवकुमार बापूजी तलपडे की बायोपिक फिल्म थी। लेकिन यह फिल्म भी सक्सेसफुल नहीं हो पाई।

इसके बाद साल 2015 में आयुष्मान खुराना ने फिल्म ‘दम लगाके हैशा’ में काम किया। शरत कटारिया के निर्देशन में बनी इस फिल्म को क्रिटिक्स से बहुत तारीफ ली और दर्शकों ने भी इस फिल्म को पसंद किया। फिल्म में उनकी कोस्टार भूमि पेडनेकर थी।

इसके बाद आयुष्मान ने 2 साल तक कोई फ़िल्म नहीं की। साल 2017 में फिल्म ‘मेरी प्यारी बिंदु’ से बड़े पर्दे पर दोबारा नज़र आए। इस फिल्म में आयुष्मान के अपोजिट परिणीति चोपड़ा थीं। अक्षय रॉय के निर्देशन में बनी यह फिल्म भी ज्यादा नहीं चली थी।

आयुष्मान ने साल 2017 में ही फिल्म ‘बरेली की बर्फी’ और फिल्म ‘शुभ मंगल सावधान’ में भी मुख्य किरदार निभाया था। इन दोनों ही फिल्मों ने बॉक्सऑफिस पर अच्छा बिजनेस किया और सफल रही। इसे लोगों द्वारा काफी पसंद किया गया था।

इसके बाद 2018 में भी आयुष्मान की 2 फ़िल्में आई ‘अंधाधुंध’ एवं ‘बधाई हो’। ये दोनों ही फिल्मों ने लोगों का ध्यान अपनी ओर खींचा था। ‘अंधाधुंध’ में आयुष्मान का किरदार अंधे व्यक्ति का था, जोकि वास्तव में अंधा नहीं रहता है। यह फिल्म आयुष्मान की अब तक की सबसे अच्छी फिल्म रही । वहीं, ‘बधाई हो’ फिल्म एक कॉमेडी ड्रामा फिल्म थी, यह फिल्म भी 2018 की हिट फिल्मों की लिस्ट में शामिल है।

आयुष्मान खुराना की साल 2019 में भी दो फिल्में आईं। पहली फिल्म राज शाणडिल्य द्वारा निर्देशित फिल्म ‘ड्रीम गर्ल’ । इस फिल्म में आयुष्मान एक ऐसे लड़के का रोल में थे जो कॉल सेंटर में काम करता है और लड़की की आवाज में बात करता है। फिल्म ने अच्छा कलेक्शन किया।

इसके अलावा दूसरी फिल्म ‘बाला’ है, फिल्म को दिनेश विजन निर्देशित करने वाले हैं। फिल्म में आयुष्मान एक गंजे लड़के के किरदार में नज़र आए, जिसमें दिखाया गया कि एक गंजे लड़के को अपनी लाइफ में किन मुसीबतों का सामन करना पड़ता है। फिल्म को लोगों की तारीफ मिली।

फिल्मों के अलावा ये भी करते हैं आयुष्मान

एक्टिंग के साथ-साथ आयुष्मान ने सिंगिंग को हमेशा पकड़े रखा। डेब्यू फिल्म ‘विकी डोनर’ में ‘पाणी दा रंग‘ गाया था जो आज भी पॉप्युलर है। उसके बाद ‘नौटंकी साला‘, ‘बेवकूफियां‘, ‘हवाईज़ादा‘, ‘बरेली की बर्फी‘, ‘शुभ मंगल सावधान‘, ‘अंधाधुन‘, ‘बधाई हो‘, ‘आर्टिकल 15‘ सब में उन्होंने ज़रूर गाने गाए। वो अपने सिंगल्स भी लाते रहते हैं पुराने दोस्त रोचक कोहली के साथ। जैसे तीन साल पहले ‘इक वारी’ आया था। ‘आयुष्मान भवः’ नाम से उनका एक बैंड भी है।

साल 2015 में आयुष्मान ने अपनी बॉलीवुड करियर के बारे में एक किताब लिखी थी, जिसका नाम था ‘क्रेकिंग द कोड – माय जर्नी टू बॉलीवुड’। यह आयुष्मान द्वारा लिखी गई आत्मकथा थी, जोकि उनके संघर्ष से सफलता तक के रास्ते के बारे में पूरी कहानी बताती है।

आयुष्मान की ख्वाहिश है कि वो कविता की एक पुस्तक लिखें और वो एक स्क्रिप्ट लिखना चाहते हैं, जिसे वो निर्देशित भी करें और उसका निर्माण भी खुद करें। आपको ये जानकर हैरानी होगी की विक्की डोनर से पहले आयुष्मान 6 फिल्मों को रिजेक्ट कर चुके थे।

हमेशा क्या अपने साथ रखते हैं आयुष्मान

आयुष्मान अंधविश्वासी तो नहीं हैं लेकिन वो हमेशा अपने साथ भगवत गीता रखते हैं। यहां तक कि ये उनके बिस्तर के बगल में भी रखी रहती है। आयुष्मान जब स्टेज या सेट पर जाते हैं तो उसे रिस्पेक्ट देते हुए छूते हैं।

आयुष्मान जब पैदा हुए थे, तब उनका नाम निशांत खुराना था, लेकिन बाद में आयुष्मान खुराना कर दिया गया था।  फिर अभिनेता बनने के बाद आयुष्मान ने अपने पापा के कहने पर अपने नाम की स्पेलिंग में कुछ बदलाव किया था, क्योंकि उनका मानना था कि नाम की स्पेलिंग में बदलाव करने से उनकी किस्मत बदल सकती है।

आयुष्मान अब तक 13 फिल्में कर चुके हैं, जिसमें से उनकी 9 फिल्में बॉक्सॉफिस पर सक्सेसफुल और हिट साबित हुईं। जिसकी वजह से अब आयुष्मान को बजट सुरस्टार के तौर पर पहचाना जाने लगा है। 2019 में तीन रिलीज में से, ड्रीम गर्ल और बाला ने, 100 करोड़ का आंकड़ा पार किया, जबकि अनुच्छेद 15 ने 93 करोड़ के आसपास कलेक्शन किया।

आने वाली हैं ये फिल्में

साल 2020 में आयुष्मान, अमिताभ बच्चन के साथ शूजित सिरकार की फिल्म गुलाबो सीताबो में नज़र आएंगे। फिल्म की शूटिंग पूरी हो चुकी है। ये फिल्म एक कॉमेडी फिल्म है। फिल्म 28 फरवरी 2020 को रिलीज होगी। इसके अलावा आयुष्मान हितेश केवल्य की कॉमेडी ड्रामा फिल्म शुभ मंगल ज्यादा सावधान में भी नज़र आएंगे। ये फिल्म 21 फरवरी को रिलीज होगी।

और पढ़ें- 2019 में बॉलीवुड की इन फिल्मों ने दर्शकों को किया निराश, जिसमें पानीपत भी है शामिल


Like it? Share with your friends!

Sangya Singh

अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिये