क्यों चीन में भारत से भी ज्यादा पॉप्युलर होती हैं बॉलीवुड फिल्में ?

1 min


बॉलीवुड फिल्म

पिछले कुछ सालों से भारतीय फिल्में चीन के बाजार में अच्छा बिजनेस कर रही हैं। वहीं, देश की कई बॉलीवुड फिल्मों को चीन में काफी पसंद भी किया गया है। लेकिन आपको हम यहां ये भी बताएंगे कि आखिर क्यों भारत की ज्यादातर फिल्में चीन में भी रिलीज की जाती हैं। वहीं, कुछ फिल्में तो ऐसी भी हैं जो भारत से ज्यादा चीन के मार्केट में अच्छा बिजनेस करती हैं। तो आपको बता दें कि जैसे हॉलीवुड की फिल्मों के लिए भारत एक बड़ा बाजार बनता जा रहा है, बिलकुल वैसे ही भारतीय फिल्मों के लिए भी चीन भी एक बड़ा बाजार बनता जा रहा है।

चीन के बाजार में बॉलीवुड फिल्में इसलिए रिलीज की जाती हैं, क्योंकि वो भारत से ज्यादा वहां अच्छा बिजनेस कर लेती हैं। चीन में भारत के तुलना में बॉलीवुड फिल्मों को रिलीज होने पर ज्यादा स्क्रीन्स मिलती हैं। भारत में जहां ज्यादा से ज्यादा किसी एक फिल्म को रिलीज होने के लिए 8 हजार स्क्रीन्स मिल पाती हैं, वहीं चीन में काफी अलग है। चीन की बात करें तो वहां एक फिल्म को भारत के मुकाबले कहीं ज्यादा यानी लगभग 45 हजार स्क्रीन्स पर रिलीज किया जाता है। यहीं, वजह है कि बॉलीवुड फिल्में चीन में मोटी कमाई करने में साबित हो पाती हैं।

तो लीजिए आप भी जान लीजिए कि वो कौन सी फिल्में हैं जिन्होंने भारत में तो अच्छा कलेक्शन किया है, चीन में भी ये फिल्में सुपरहिट साबित हुईं। वहीं, इन फिल्मों में से एक फिल्म ने तो चीन में दुनियाभर की विदेशी भाषा की फिल्म की सबसे ज्यादा कमाई का रिकॉर्ड भी बना डाला है….

पीके

सबसे पहले हैं मिस्टर परफेक्शनिस्ट यानी आमिर खान, जिनकी ज्यादातर सभी फिल्में चीन में जरूर रिलीज होती हैं और उन्हें वहां के लोग काफी पसंद भी करते हैं। आमिर खान की फिल्म पीके ने जिस तरह से भारतीय बॉक्स ऑफिस पर ताबड़तोड़ कलेक्शन का रिकॉर्ड बनाया, उसी तरह इस फिल्म ने दुनिया भर में भी भारतीय सिनेमा का नाम रोशन किया। ब्लॉकबस्टर फिल्म दंगल से पहले आई यह फिल्म एक एलियन की कहानी है जो धरती पर भटक जाता है। ये पहली हिंदी फिल्म थी, जिसने चीन में सौ करोड़ रुपये के कलेक्शन का आंकड़ा पार किया और इसी फिल्म ने भारतीय सिनेमा के लिए चीन में बिजनेस का रास्ता खोला। फिल्म का भारतीय बॉक्स ऑफिस कलेक्शन- 489 करोड़ रुपये था और चीन में बॉक्स ऑफिस कलेक्शन-130 करोड़ रुपये रहा।

हिचकी

उसके बाद है 12 करोड़ रुपये के बजट में बनी रानी मुखर्जी की फिल्म हिचकी। फिल्म का कंटेंट थोड़ा अलग था। फिल्म की कहानी में एक ऐसी महिला को दिखाया गया, जिसे टूरेट सिंड्रोम नाम की बिमारी होती है, जिसकी वजह से उस बोलने में दिककत होती है, लेकिन इसके बावजूद वह एक टीचर बनना चाहती है और फिल्म की कहानी के खत्म होने तक वो टीचर बन भी जाती है। टूरेट सिंड्रोम नाम की इस बीमारी में किसी भी इन्सान को हर समय हिचकियां आती रहती हैं। फिल्म में रानी की एक्टिंग के साथ साथ फिल्म ने भी खूब तारीफें बंटोरी। भारत में तकरीबन 60 करोड़ रुपये का कलेक्शन करने वाली इस फिल्म ने चीन में भारत से भी ज्यादा 153.13 करोड़ रुपये का कलेक्शन किया।

हिंदी मीडियम

बॉलीवुड एक्टर इरफान खान की फिल्म हिंदी मीडियम भी इसी कतार में हैं। 23 करोड़ रुपये के बजट में बनी इस फिल्म ने भारत में तो 100 करोड़ का आंकड़ा पार नहीं किया, लेकिन चीन में कमाई कर फिल्म का कुल कलेक्शन 340 करोड़ रुपये के आसपास पहुंच गया था। इरफान खान के साथ इस फिल्म में पाकिस्तानी एक्ट्रेस सबा कमर भी थीं फिल्म में दिल्ली के एक कपल की कहानी दिखाई गई है, जिनके पास पैसा तो है, लेकिन वो ज्यादा पढ़े लिखे नहीं हैं। वो चाहते हैं कि उनकी बच्ची एक अच्छे स्कूल में पढ़े, लेकिन उनके ज्यादा पढ़े-लिखे न होने की वजह से उनकी बेटी को अच्छे स्कूल में स्कूल में दाखिला नहीं मिलता। इस फिल्म का सीक्वल भी जल्द ही आने वाला है।

बजरंगी भाईजान

सलमान खान की फिल्म बजरंगी भाईजान भारत में साल 2015 में रिलीज हुई थी। लेकिन कबीर खान द्वारा निर्देशित इस फिल्म ने चीन में तीन साल बाद रिलीज़ होने के बावजूद भी वहां 300 करोड़ रुपये के आंकड़े को पार कर लिया था। फिल्म की कहानी में एक गूंगी बच्ची होती है, जो गलती से भारत आ जाती है और वो वापस अपने घर पाकिस्तान जाना चाहती। सलमान खान यानी बजरंगी भाईजान उसे वापस पाकिस्तान छोड़कर आता है। इन दोनों किरदारों की इस कहानी को सभी ने खूब पसंद किया।

अंधाधुन

आयुष्मान खुराना की फिल्म अंधाधुन ने भारत में छह हफ्ते में जितना कलेक्शन किया उससे भी ज्यादा कलेक्शन सिर्फ 6 दिन में इस फिल्म ने चीन में किया। इस फिल्म में आयुष्मान खुराना, राधिका आप्टे और तब्बू की एक्टिंग की सबने बहित तारीफ की। फिल्म में आयुष्मान एक पियानो प्लेयर बने हैं जो अंधे होने का नाटक करता है। श्रीराम राघवन के निर्देशन में बनी इस फिल्म ने भारतीय बॉक्स ऑफिस पर करीब 95.63 करोड़ रुपये का कलेक्शन किया और फिल्म का चीन बॉक्स ऑफिस कलेक्शन 335.38 करोड़ रुपए रहा।

सीक्रेट सुपरस्टार

साल 2017 में रिलीज हुई अद्वैत चंदन की फिल्म सीक्रेट सुपरस्टार ने तो चीन में तहलका ही मचा दिया था। ये फिल्म सिर्फ 15 करोड़ रुपये के बजट में बनी थी। आमिर खान प्रोडक्शन की ये फिल्म दंगल के तुरंत बाद रिलीज़ हुई थी। इस फिल्म में एक महत्वाकांक्षी लड़की इंसिया की कहानी है, जो एक सिंगर बनना चाहती है। फिल्म ने चीन में जो कलेक्शन किया, उससे हिंदी सिनेमा में सभी को हैरान रह गए। फिल्म ने भारतीय बॉक्स ऑफिस कलेक्शन 90 करोड़ रुपए का कलेक्शन किया, तो वहीं चीन में 863 करोड़ रुपये का बिजनेस किया था।

दंगल

साल 2016 में सच्ची कहानी से प्रेरित आमिर खान की फिल्म दंगल चीन के दर्शकों को काफी पसंद आई। इस फिल्म में आमिर खान ने महावीर सिंह फोगाट का किरदार निभाया था। फिल्म में सच्ची घटना पर आधारित थी। जिसमें एक बाप के अधूरे सपने को उसकी बेटियों द्वारा पूरे किए जाने की कहानी दिखाई गई। दंगल ने चीन में किसी विदेशी फिल्म की सबसे ज्यादा कलेक्शन करने वाली फिल्म का रिकॉर्ड भी बनाया।

और पढ़ें- करीना कपूर ने बताया, करण जौहर की ‘तख्त’ में क्या होगा उनका किरदार


Like it? Share with your friends!

Sangya Singh

अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिये