मदर्स डे स्पेशल / ‘भगवान हर जगह नहीं होता, इसीलिए तो उसने मां बनाई है’ इस कथनी को हर मोड़ पर सही साबित करती हैं बॉलीवुड की ये मां

| 09-05-2020 3:30 AM No Views

मदर्स डे स्पेशल में मिलिए बॉलीवुड की इन मां से जिन्होंने ममता की सही परिभाषा दुनिया को बताई

श्री देवी की फिल्म Mom का एक डायलॉग है 'भगवान हर जगह नहीं होता, तभी तो उसने मां बनाई' मेरे हिसाब से मां पर इससे खूबसूरत आज तक कुछ लिखा ही नहीं गया। जब भगवान का दर्जा ही मां को दे दिया हो तो भला उससे ऊपर अब क्या होगा। और ये बात यकीनन सौ फीसदी सही भी है। मां के रूप में हम सबके पास अपना पर्सनल भगवान है। जो सिर्फ और सिर्फ हमारे लिए जीता है...हमारे लिए हंसता और हमारी हर ख्वाहिश उसकी ख्वाहिश है। बॉलीवुड में भी मां का ऐसा ही रूप सालों से दिखाया जाता रहा है। आज हम मदर्स डे स्पेशल में  बॉलीवुड की उन आइकॉनिक मां की बात करेंगे जो जब जब सिल्वर स्क्रीन पर आई तो केवल ममता, दया व त्याग की मूरत बनकर आईं।

मदर्स डे स्पेशल पर मिलिए बॉलीवुड की मदर्स से..

1. दुर्गा खोटे

मदर्स डे स्पेशल / ‘भगवान हर जगह नहीं होता, इसीलिए तो उसने मां बनाई है’ इस कथनी को हर मोड़ पर सही साबित करती हैं बॉलीवुड की ये मां

Source - Patrika

अपने ज़माने की मशहूर अदाकारा दुर्गा खोटे जिन्होंने कई फिल्मों में मां का रोल निभाया। और हर फिल्म को यादगार बना दिया। शुरूआत तो बतौर हीरोईन की थी और फिर मुगल ए आज़म से लेकर आखिरी फिल्म कर्ज़ में उन्होने मां का कभी ना भूलने वाला चेहरा पेश किया। तकरीबन 50 सालों तक हिंदी सिनेमा में अपना अतुलनीय योगदान देकर साल 1991 में वो हम सब को हमेशा के लिए अलविदा कह गईं।

2. निरूपा रॉय

मदर्स डे स्पेशल / ‘भगवान हर जगह नहीं होता, इसीलिए तो उसने मां बनाई है’ इस कथनी को हर मोड़ पर सही साबित करती हैं बॉलीवुड की ये मां

Source - Meri Saheli

70 व 80 के दशक की वो मां जिसे चाहकर भी नहीं भुलाया जा सकता। इन्होंने कई शानदार फिल्मों में मां का दमदार रोल निभाया। शायद निभाया कहेंगे तो गलत होगा..इन्होने तो स्क्रीन पर मां के किरदार को जीया है। एक दुखयारी, बेचारी व लाचार मां का किरदार जब जब लिखा गया निर्देशकों को केवल निरूपा रॉय ही याद आईं। नमक हलाल, अमर अकबर एंथनी, दीवार, मुकद्दर का सिकंदर, सुहाग, इंकलाब, मर्द व गंगा जमुना सरस्वती...लिस्ट काफी लंबी है। वहीं खास बात ये कि ये ज्यादातर फिल्मों में इन्होंने अमिताभ बच्चन की मां का रोल निभाया।

3. रीमा लागू

मदर्स डे स्पेशल / ‘भगवान हर जगह नहीं होता, इसीलिए तो उसने मां बनाई है’ इस कथनी को हर मोड़ पर सही साबित करती हैं बॉलीवुड की ये मां

Source - IMDB

अभिनेत्री रीमा लागू भले ही आज हमारे बीच नहीं हैं लेकिन अपने यादगार किरदारों के जरिए वो हमेशा ज़िंदा रहेंगी। खासतौर से जब जब फिल्म इंडस्ट्री में मां का ज़िक्र होगा तो वो याद आएंगी। हिंदी फिल्मों से लेकर मराठी फिल्मों तक में इन्होने अपनी अमिट छाप छोड़ी है। कयामत से लेकर कयामत तक में उन्होंने जूही चावला की मां का किरदार निभाया था उसके बाद वो कई फिल्मों में सलमान खान व शाहरूख खान की मां का रोल करती नज़र आईं।

4. फरीदा जलाल

मदर्स डे स्पेशल / ‘भगवान हर जगह नहीं होता, इसीलिए तो उसने मां बनाई है’ इस कथनी को हर मोड़ पर सही साबित करती हैं बॉलीवुड की ये मां

Source - Cinestaan

कभी बेहद ही इमोशनल तो कभी हंसमुख, मज़ाकिया मां बनकर इन्होने सिल्वर स्क्रीन पर अपना जादू बिखेरा है। लाडला, दिलवाले दुल्हनिया ले जाएंगे, राजा हिंदुस्तानी, कुछ कुछ होता है, दिल तो पागल है, कभी खुशी कभी गम...ऐसी ना जाने कितनी फिल्में हैं जिनमें फरीदा जलाल ने मां के किरदार को आत्मसात किया है।

5. किरण खेर

मदर्स डे स्पेशल / ‘भगवान हर जगह नहीं होता, इसीलिए तो उसने मां बनाई है’ इस कथनी को हर मोड़ पर सही साबित करती हैं बॉलीवुड की ये मां

Source - News 18

बॉलीवुड में इन्हें आज के दौर की मां कहें तो कुछ गलत ना होगा। ये बॉलीवुड की कूलेस्ट मां हैं..देवदास, वीर ज़ारा, ओम शांति ओम, रंग दे बसंती, फना, मैं हूं ना, दोस्ताना में इन्होंने मां का एक नया रूप पेश किया।

किसी ने सच ही कहा है 'चलती फिरती आंखों से अज़ा देखी है..मैंने जन्नत तो नहीं देखी लेकिन मां देखी है' आज मदर्स डे स्पेशल पर हमारी तरफ से हर मां को सलाम।

और पढ़ेंः Unmarried Actresses…. आधी उम्र बीतने के बाद भी परफेक्ट पति की तलाश में हैं ये अभिनेत्रियां