तिरिछ फिल्म का पोस्टर हुआ रिलीज

नई दिल्ली. OTT प्लेटफार्म्स पर अपनी धमक दिखा चुके पंचायत वेब सीरीज के विकास यानी चंदन रॉय जल्द ही एक फीचर फिल्म में नजर आने वाले हैं. इस फिल्म का पोस्टर दिल्ली के पीवीआर प्लाजा में एक प्रेस कांफ्रेस में रिवील किया गया...

New Update
ty
Listen to this article
0.75x 1x 1.5x
00:00 / 00:00

नई दिल्ली. OTT प्लेटफार्म्स पर अपनी धमक दिखा चुके पंचायत वेब सीरीज के विकास यानी चंदन रॉय जल्द ही एक फीचर फिल्म में नजर आने वाले हैं. इस फिल्म का पोस्टर दिल्ली के पीवीआर प्लाजा में एक प्रेस कांफ्रेस में रिवील किया गया. चंदन रॉय इस फिल्म में मुख्य किरदार में नजर आएँगे. ये फिल्म मशहूर उपन्यासकार उदय प्रकाश की लिखी कहानी “तिरिछ” पर आधारित है और इस फिल्म को निर्देशित करेंगे युवा फिल्मकार संजीव के झा. पोस्टर लॉंच के अवसर पर ये तीनों लोग मौजूद थे. पोस्टर लॉंच के वक्त चंदन रॉय ने कहा कि मैने ये कहानी स्कूल के दिनों में पढ़ी थी लेकिन मैं ये सोच नहीं पा रहा था कि इस कहानी पर फिल्म कैसे बनेगी लेकिन जब निर्देशक और स्क्रीनप्ले राइटर संजीव के झा ने मुझे इस कहानी के एक दर्जन शेड्स समझाए तो मुझे लगा कि इस मौके को हाथ से नहीं जाने देना चाहिए. फिर कहानी जो सामने आई उसने मुझे और उत्साहित किया.

T

Tirich movie

फिल्म के निर्देशक संजीव के झा ने कहा कि ये फिल्म एक तरफ पिता-पुत्र के अनकहे रिश्ते की कहानी भी बयान करती है तो दूसरी तरफ समाज को एक नए नजरिए से देखती जो एक तरह से एक जान गंवा रहे वैसे इंसान की कहानी है जिसे पता नहीं चल रहा कि उसके साथ क्या हो रहा है. संजीव ने इससे पहले सिद्धार्थ मल्होत्रा और परिणिती चोपड़ा स्टारर “जबरिया जोड़ी” और अमित साध अभिनीत “बैरोट हाउस” जैसी फिल्में लिखी हैं. संजीव की लिखी मराठी फिल्म सूमी ने पिछले साल दो नेशनल अवार्ड हासिल किए थे. अपनी कहानी और संजीव के बारे में बात करते हुए उपन्यासकार उदय प्रकाश ने कहा कि मुझे अपनी कहानी तिरिछ बहुत पसंद है लेकिन मुझे लगता था कि इस कहानी पर फिल्म बनाना काफी चैलेंज हो सकता है लेकिन संजीव के झा की लगन और सोचने के तरीके से लगा कि इसे संजीव जैसा निर्देशक बेहतर तरीके से पर्दे पर उतार सकता है.

ज्ञ

दरअसल तिरिछ छिपकिली की तरह का एक प्राणी है जो सांप की तरह या उससे ज्यादा जहरीला होता है, और ये होता भी है या नहीं इसपर हमेशा से विवाद रहा है. ये कहानी सच और मिथक के बीच पिसते इंसान और उसके तिल तिल मरने की कहानी है. चालीस साल पहले लिखी गई ये कहानी गांव और शहर के बीच के द्वंद्व को भी दर्शाती है. ऐसी कहानी को पर्दे पर देखना निश्चित ही दिलचस्प होगा.   

Read More:

Shah Rukh Khan ने Virat Kohli को कहा 'बॉलीवुड का दामाद'

भंसाली ने सोनाक्षी सिन्हा को ऑफर की थी हीरामंडी में 'विलेन' की भूमिका

Jolly LLB 3 की शूटिंग से पहले अजमेर की दरगाह पहुंचे Arshad Warsi

द ग्रेट इंडियन कपिल शो में इस हफ्ते देओल ब्रदर्स मचाएंगे धमाल

Latest Stories