शूटिंग गाइडलाइन्स से परेशानी / नए नियम बने प्रोड्यूसर्स के गले की फांस, कई सीरियल मेकर्स ने नहीं की शूटिंग शुरु

1 min


Trouble with Shooting guidelines

शूटिंग गाइडलाइन्स से परेशानी को लेकर कई मेकर्स ने शूट नहीं किया है शुरु

लॉकडाऊन के बाद से ही फिल्मों, टेलीविज़न सीरियल्स, वेब सीरीज़ और ऐड की भी शूटिंग रोक दी गई थी। लेकिन अब कुछ नियमों के तहत शूट की इजाज़त दे दी गई है। लेकिन शूटिंग गाइडलाइन्स से परेशानी हो रही है मेकर्स को जिनके लिए ये नए नियम गले की फांस बनते जा रहे हैं।

नतीजा कई सीरियल्स की शूटिंग अभी तक शुरु भी नहीं की गई है। ऐसा ही एक कॉमेडी शो है भाभी जी घर पर है जिसकी मेकर बिनाफर कोहली इन नए नियमों से परेशान हैं।

क्या है नई गाइडलाइन

असल में परेशानी है क्या ये जानने के लिए आपको नियमों से वाकिफ होना होगा। शूटिंग के लिए जो नए नियम महाराष्ट्र सरकार ने जारी किए हैं उसके मुताबिक

  • मेकर्स को 8 घंटे से ज्यादा शूटिंग करने की इजाजत नहीं है
  • सेट पर मौजूद हर स्टाफ का थर्मल चेकअप बेहद ज़रुरी होगा
  • सेट पर 33 प्रतिशत स्टाफ ही मौजूद रह सकता है
  • इसके साथ ही स्टाफ की सुरक्षा के लिए हर मेंबर का 50 लाख का इंश्योरेंस भी करवाना होगा

अब समझें क्या हो रही है दिक्कत..

यूं तो 16 पेज की गाइडलाइन्स हैं लेकिन जो मूल बातें हैं वो यही है और परेशानी भी इन्ही को लेकर है।

पहली परेशानीः 8 घंटे की शिफ्ट

प्रोड्यूसर की पहली परेशानी है 8 घंटे की शिफ्ट। भाभीजी घर पर है की प्रोड्यूसर बिनाफर कोहली के मुताबिक  सबसे पहले रोज़ाना 40 से 50 लोगों का थर्मल चेकअप, फिर डेली रिपोर्ट रेडी करना, बार-बार कैमरा एंगल बदलने के लिए लाइटमैन को बुलाना…एक्टर को बाहर भेजना…ये तमाम झंझट 8 घंटे में मुमकिन नहीं है। जिससे तमाम दिक्कतें आएंगी।

दूसरी परेशानीः एक एपिसोड तैयार करने में लगेगा ज्यादा वक्त

कहा जा रहा है जहां पहले एक एपिसोड डेढ़ दिन में तैयार होता जाता था तो वही अब इसमें ढ़ाई दिन लगेंगे। ऐसे में आउटपुट को लेकर काफी परेशानी है। क्योंकि एक बार ऑनएयर हो जाने के बाद कई एपिसोड की एडवांस जरुरत होती है।

तीसरी परेशानीः नहीं कर सकते पे-कट 

शूटिंग गाइडलाइन्स से परेशानी का एक कारण ये भी है कि मेकर्स कितनी भी दिक्कत में हो लेकिन ना तो आर्टिस्ट की सैलरी कट कर सकते हैं और ना ही उन्हें रिप्लेस कर सकते हैं। लेकिन जिन शोज़ को ऐड नहीं मिलेंगी उनका क्या। इसीलिए भी प्रोड्यूसर परेशान हैं। जो एक्टर ज्यादा फीस लेते हैं उनकी फीस देना प्रोड्यूसर्स के लिए भारी होने वाला है।

चौथी परेशानीः किसी की बिगड़ी तबीयत..तो भी परेशानी

वहीं इस बीच अगर सेट पर मौजूद किसी की तबीयत खराब हो जाती है तो उसकी रिपोर्ट आने तक सभी स्टाफ मेंबर्स को क्वारंटीन भी करने का नियम है। मान लीजिए किसी शख्स को बुखार हुआ तो शूटिंग 4 दिनों तक रुक जाएगी। यानि जब तक उस व्यक्ति की रिपोर्ट नहीं आ जाती। ऐसे में प्रोड्यूसर्स की परेशानी की वजह लाज़िमी है।

और पढ़ेंः घायल के 30 साल पूरे होने पर धर्मेंद्र ने अपने ट्विटर अकाउंट से शेयर की पुराने इंटरव्यू की क्लिप

 


Like it? Share with your friends!

अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिये