क्या ‘अनुपमा’ खुद को दे पायेगी एक ”नई पहचान’

1 min


अनुपमा

स्टार प्लस का मशहूर सीरियल अनुपमॉं में हाईवोल्टेज ड्रामा चल रहा है. इस शो में सोमवार के एपिसोड में दिखाया गया  कि जब अनुपमा बेड से उठती है तो उसे सांस लेने में परेशानी महसूस होती है और वह बड़ी मुश्किल से अपने कमरे से बाहर निकल पाती है.

कमरे से बाहर निकलने के बाद वह शादी की मंडप की ओर देखती है. उन पलों को याद करते हुए वह खुद से भागने लगती है. वह हवन के पास आती है तो उसे वनराज के साथ लिए गए फेरों की याद आती है.

अनुपमॉं

फिर वह वनराज और काव्या के क्लोजनेस को याद करते हुए हवन करती है. और अपना मंगलसूत्र हवन में डालने के लिए उतारती है. तभी देविका आकर उसका हाथ पकड़ लेती है.

अनुपमा

देविका उसे कहती है, कंट्रोल कर अनु… और उसे गले लगाती. देविका फिर उसे कार में बैठाकर घर से बाहर ले जाती है. तो उधर वनराज के पीठ में दर्द होता है और वह सोचता है कि क्या पता था कि उसकी एक गलती से पूरे परिवार को इतनी परेशानी होगी, इससे पहले कि अनुपमा परिवार को सबकुछ बता दे, मुझे कुछ करना होगा.

वनराज

देविका कहती है, अनुपमा, तुम अपनी भावनाओं को मुझसे शेयर कर सकती हो. अनुपमा रोती है और कहती है कि उसने सोचा था कि वह 25 साल से पूरे घर और परिवार को संभाल रही है, लेकिन उसे इस बात का एहसास नहीं था कि उसका घर और रिश्ते पहले ही बिखर चुके थे.

अनुपमा ने कहा,  वह अनपढ़ है. लेकिन उसने अपने बच्चों को अच्छी तरह से शिक्षित किया है, उसने अपने पति से  कभी अधिकार  नहीं मांगा, लेकिन इसका मतलब यह नहीं कि वह काव्या को उसका अधिकार दे देंगे.

अनुपमा

अनुपमा ये भी कहती है कि यहां तक की काव्या का पति अनिरूद्ध ने आकर सच्चाई बताई पर उसे अपने पति पर भरोसा था.  उसने अपने पति को इतना प्यार किया कि परमेश्वर मान लिया. उसके पति ने उसका इतना अपमान किया था लेकिन उसने आकर माफी मांग ली. उसने फिर से अपने पति पर भरोसा किया, लेकिन उसके सारे शब्द झूठ थे. इस शो के अपकमिंग एपिसोड में ये देखना दिलचस्प होगा कि अनुपमा अपना अस्तित्व बनाने के लिए क्या कदम उठाती है.


Like it? Share with your friends!

Mayapuri

अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिये